टैग: gariyabandh

अच्छी पहल: देवभोग थाना प्रभारी ने शहीद के परिजनों के साथ मनाई होली

अच्छी पहल: देवभोग थाना प्रभारी ने शहीद के परिजनों के साथ मनाई होली

chhattisgarh
गरियाबंद (एजेंसी) | होली के दिन देवभोग पुलिस की मानवता की अनूठी मिशाल देखने मिली। जहाँ एक और पूरा देश होली के रंगो से सराबोर था, वही दूसरी तरफ शहीद के परिजन के घर ख़ुशी के रंग गायब थे। इस बात की जानकारी लगते ही देवभोग  थाना प्रभारी सत्येंद्र श्याम होली के रंग गुलाल लेकर शहीद के घर पहुंचे ताकि शहीदों के परिवार इस त्यौहार की खुशी से महरुम ना रहे। और गरियाबंद जिले की देवभोग पुलिस ने शहीद के परिजनों के साथ होली मनाने का फैसला किया। थाना प्रभारी सत्येन्द्र श्याम ने छत्तीसगढ़ पुलिस में रहे शहीद भोजराज तांडिल के गांव करचिया पहुंचकर उनके परिजनों और ग्रामीणों के साथ होली का पर्व मनाया। शहीद को दी श्रद्धांजलि थाना प्रभारी ने ग्रामीणों को साथ में लेकर शहीद भोजराज तांडिल के छायाचित्र पर रंग गुलाल लगाकर उन्हें श्रध्दांजलि दी। थाना प्रभारी ने शहीद जवान के परिजनों को गुलाल लगाकर बेटे की कमी
लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव के बहिष्कार के लिए नक्सलियों ने लगाए बैनर, फेंके पोस्टर

लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव के बहिष्कार के लिए नक्सलियों ने लगाए बैनर, फेंके पोस्टर

chhattisgarh
गरियाबंद (एजेंसी) | चुनाव आते ही नक्सलियों ने एक बार फिर विरोध के स्वर तेज कर दिए हैं। नक्सलियों ने लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान करते हुए लोगों से वोट नहीं देने की अपील की है। इसको लेकर पीपर छेड़ी के रसेला गांव में बैनर और पोस्टर लगाए गए हैं। सूचना मिलने के बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और वहां से बैनर व पोस्टर जब्त कर लिए गए हैं। साथ ही एहतियात के तौर पर सर्चिंग की जा रही है। भाकपा माओवादी ओडिशा राज्य कमेटी की ओर से लगाए गए बैनर में लोकसभा चुनावों के बहिष्कार कर बात कही गई है। साथ ही लिखा गया है कि हिंदू फासीवादी ताकतों को खत्म करो। विकास के विरोध में नक्सली लगातार ऐसी हरकतें करते रहे हैं। पूर्व में विधानसभा चुनाव के दौरान भी नक्सलियों ने विरोध किया और वारदातों को अंजाम दिया था। जिसमें निर्माण कार्य में लगे वाहनों को आग लगा दी गई थी। इस बार भी नक्सलियों ने बाजार चौक में
’20 रुपए लीटर पानी की बोतलें और दूध 22 रुपए प्रति लीटर’ कहकर, नाले में बहा दिया सारा दूध

’20 रुपए लीटर पानी की बोतलें और दूध 22 रुपए प्रति लीटर’ कहकर, नाले में बहा दिया सारा दूध

chhattisgarh
गरियाबंद (एजेंसी) | घटना गरियाबंद जिले की है, जहा दुग्ध उत्पादक किसानो ने वाजिब दाम नहीं मिलने और दूध की बिक्री नहीं होने से भड़क गए। और उसके बाद गुस्साए किसानों ने बुधवार को सारा दूध नाले में बहा दिया। किसानों ने दूध खरीदने वाले ठेकेदार पर आरोप लगते हुए कहा कि वह अपनी मनमर्जी करता है। वह उन्हें दूध के उचित दाम नहीं दे रहा हैं और कई बार सही दूध को भी गुणवत्ताहीन बताकर एक दिन बाद वापस लौटा दिया जाता है। किसान अर्द्धशासकीय कंपनी देवभाेग को बेचते हैं दूध गरियाबंद जिले के दुग्ध उत्पादक किसान दूध स्थानीय अर्द्धशासकीय कंपनी देवभोग को बेचते हैं। कंपनी के लिए किसानो से दूध खरीदने का काम एक ठेकेदार करता है। किसानों का आरोप है कि ठेकेदार ने मुनाफा कमाने के लिए अपने अलग नियम और शर्तें बना रखी हैं और उसी आधार पर दूध की खरीदी की जाती है। किसानों का कहना है कि सही दूध को भी गुणवत्ताहीन बताकर एक