दिनांक : 05-Feb-2023 07:09 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

रायपुर में फ्रॉड चिटफंड कंपनी की 10 करोड़ की प्रॅापटी होगी कुर्क

30/09/2022 posted by Priyanka (Media Desk) Chhattisgarh, Dantewada    

राजधानी में पहली बार किसी फ्रॉड चिटफंड कंपनी की 10 करोड़ से ज्यादा प्रॉपर्टी कुर्क की जा रही है। शहर के रायपुरा में प्राइम लोकेशन पर फ्रॉड कंपनी की पौने 2 एकड़ जमीन है। इसी जमीन को कुर्क कर इससे मिलने वाले पैसे कंपनी के पीड़ितों को बांटे जाएंगे। चिटफंड कंपनी का दफ्तर धमतरी में है। इसलिए वहां के कलेक्टर की अनुशंसा जरूरी थी। धमतरी कलेक्टर ने इसकी अनुमति दे दी है। धमतरी कलेक्टर पीएस एल्मा की चिट्‌ठी के बाद रायपुर तहसील कार्यालय में चिटफंड कंपनी विटामन बिल्डकॉन एंड डेवलपर्स की प्राॅपर्टी कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अगले महीने प्रॉपर्टी कुर्क कर दी जाएगी।

धमतरी कलेक्टोरेट से कुर्की की सहमति मिलने के बाद तहसील के अफसरों ने कंपनी की जमीन की कीमत का आंकलन भी कर लिया है।चार खसरा नंबरों की जमीन का ऑफसेट मूल्य 10 करोड़ 2 लाख 40 हजार रुपए तय किया गया है। नीलामी में बोली लगने के दौरान पैसे बढ़ेंगे। अफसरों का मानना है कि नीलामी के बाद दस करोड़ से ज्यादा पैसे मिलेंगे, क्योंकि नीलामी ऑफसेट प्राइज से ज्यादा में ही शुरू होगी।

प्राॅपर्टी का झांसा देकर ठगी : धमतरी की इस चिटफंड कंपनी ने प्रॉपर्टी खरीदने के नाम पर लोगों को झांसा देकर पैसे जमा करवाए। प्रॉपर्टी खरीदने पर ज्यादा फायदा देने का झांसा दिया गया। उनका ऑफर देखकर लोगों ने पैसे निवेश कर दिए। लोगों से रकम किस्तों में रकम ली गई। धमतरी की उस चिटफंड कंपनी ने रायपुर में भी लोगों के पैसों से कई जगह जमीन की खरीदी थी। लोगों को तयशुदा समय में पैसे लौटाना छोड़कर कंपनी के संचालक फरार हो गए थे।

कंपनी के खिलाफ रायपुर के अलावा धमतरी में एफआईआर दर्ज कराई गई है। कंपनी के संचालकों ने रायपुर में जमीन खरीदी थी, इसकी जानकारी धमतरी के अफसरों ने ही दी थी। धमतरी में ही पूरा मामला होने की वजह से संपत्ति की कुर्की और नीलामी के लिए धमतरी कलेक्टर की एनओसी की जरूरत थी। इसलिए धमतरी कलेक्टर ने रायपुर कलेक्टर को चिट्ठी लिखी।

नीलामी के लिए 10% रकम एडवांस जमा करनी होगी
धमतरी की चिटफंड कंपनी की नीलामी में शामिल होने के लिए आवेदकों को जमीन की ऑफसेट प्राइस की 10 फीसदी रकम यानी 1 करोड़ रुपए एडवांस में जमा करना होगा। नीलामी में शामिल होने वालों को यह रकम डीडी में देनी होगी। एक साथ जमीन नहीं बिकने पर बाद में इसे अलग-अलग भी बेचा जा सकता है। हालांकि रायपुर में हुई लगभग सभी नीलामी में जमीन की बिक्री हो गई है। केवल एक कंपनी की कुछ जमीन ही नीलामी के लिए बाकी है। धमतरी की चिटफंड कंपनी की जमीन को कुर्क करने की जिम्मेदारी नायब तहसीलदार ज्योति सिंह को दी गई है। नीलामी भी उन्हीं की मॉनिटरिंग में होगी।

साईं प्रकाश की संपत्ति कुर्क पर नीलामी अभी तक नहीं
रायपुर प्रशासन ने छह माह पहले साईं प्रकाश डेवलपमेंट की करीब 8 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क की थी। इस जब्त संपत्ति की बिक्री के लिए अभी तक कोर्ट से अनुमति नहीं मिली है। चिटफंड कंपनी की संपत्ति नीलाम होने पर कंपनी में निवेश करने वाले हजारों पीड़ितों को रकम वापस हो सकेगी। इस कंपनी ने पैसे दोगुने होने का लालच देकर केवल राजधानी में ही 50 करोड़ से ज्यादा का फर्जीवाड़ा किया है। कंपनी ने लोगों से ली गई रकम से पॉश और महंगे इलाकों में जमीन और दुकान की खरीदी की है।

जो संपत्ति कुर्क की जा रही है उसमें अविनाश बिल्डर्स के भागीदार मुकेश सिंघानिया से खरीदी गई प्रॉपर्टी भी शामिल है। साईं प्रकाश के डायरेक्टरों ने छत्तीसगढ़ आटो केयर के पास राजकुमार कॉलेज परिसर की नजूल जमीन, इसी एक हिस्से में बने दो मंजिला भवन के दूसरे फ्लोर पर स्थित एक हजार वर्गफुट की दुकान खरीदी है।

इसके साथ ही सुनील कुमार शर्मा की मोनिका रियल स्टेट के नाम टिकरापारा में 72,630 वर्गफुट जमीन खरीदी। लालपुर रोड पर स्थित कर्मशियल कांप्लेक्स प्रोग्रेसिव प्वाइंट के पांचवें फ्लोर पर 34 दुकानें खरीदी हैं। इन दुकानों का नंबर 545, 546, 547. 548, 549, 550, 551, 552, 553, 554, 555, 556, 557, 558, 559, 560, 561, 534, 522, 522, 522, 522, 534, 522, 522, 522, 522, 1008, 522, 522, 522, 522, 522, 534 है।

ये हैं कुर्क होने वाली प्राॅपर्टी
खसरा नंबर 288/52 0.250 हेक्टेयर
खसरा नंबर 288/54 0.113 हेक्टेयर
खसरा नंबर 288/56 0.250 हेक्टेयर
खसरा नंबर 313/4 0.109 हेक्टेयर
ऑफसेट मूल्य 10,02,40,000

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।