दिनांक : 20-May-2024 07:09 PM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

टैग: chhattisgarh

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के अमृत काल के नींव का बजट पेश करने पर वित्त मंत्री का मुंह मीठा कराया

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के अमृत काल के नींव का बजट पेश करने पर वित्त मंत्री का मुंह मीठा कराया

Chhattisgarh, Raipur
मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने आज विधानसभा परिसर स्थित अपने कक्ष में छत्तीसगढ़ के अमृत काल के नींव का बजट पेश करने पर वित्त मंत्री श्री ओपी चौधरी को मिठाई खिलाकर बधाई दी। वित्त मंत्री श्री चौधरी ने भी मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय को मुंह मीठा कराकर धन्यवाद दिया। गौरतलब है कि वित्त मंत्री श्री ओपी चौधरी ने आज छत्तीसगढ़ विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए 1 लाख 47 हजार 500 करोड़ रूपए के छत्तीसगढ़ के अमृत काल के नींव का बजट पेश किया। यह बजट ‘‘GYAN" अर्थात गरीब, युवा, अन्नदाता और नारी की समृद्धि और पूंजीगत व्यय बढ़ाकर अधोसंरचना विकास को प्रोत्साहित करने और राज्य के युवाओं को रोजगार एवं आजीविका बढ़ाने पर केन्द्रित है। यह बजट मोदी की गारंटी के तहत वादों को पूरा करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। छत्तीसगढ़ शासन ओ.पी.चौधरी वित्त मंत्री का बजट भाषण (2024-25) शुक्रवार, दिनांक 09 ...
मुख्यमंत्री बनते ही विष्णुदेव साय ने किया ऐलान : 25 दिसंबर को प्रदेश के सभी किसानों को 2 साल के बकाया बोनस का होगा भुगतान

मुख्यमंत्री बनते ही विष्णुदेव साय ने किया ऐलान : 25 दिसंबर को प्रदेश के सभी किसानों को 2 साल के बकाया बोनस का होगा भुगतान

Chhattisgarh, India
रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा विधायक दल की बैठक में नेता चुने जाने के बाद नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित केंद्रीय नेतृत्व, प्रदेश भाजपा प्रभारी ओम माथुर, चुनाव सह प्रभारी केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह,संगठन सह प्रभारी नितिन नबीन, प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव सहित सभी विधायकों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को जो जिम्मेदारी सौंपी है, उसमें भाजपा की सरकार जनता की कसौटी पर खरी उतरेगी। 25 दिसंबर को किसानों को दो साल के बकाया बोनस का भुगतान कर दिया जाएगा। मोदी जी की सभी गारंटी पूरी होंगी। भाजपा को छत्तीसगढ़ की जनता ने विकास और खुशहाली का भरोसा व्यक्त किया है। भाजपा की सरकार अपने संकल्प को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पूरे करेगी। ...
कंजेक्टिवाइटिस से बचने के उपायों और सावधानियों का किया जाए व्यापक प्रचार-प्रसार : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

कंजेक्टिवाइटिस से बचने के उपायों और सावधानियों का किया जाए व्यापक प्रचार-प्रसार : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Chhattisgarh, Raipur
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में एक उच्चस्तरीय बैठक में कंजेक्टिवाइटिस की रोकथाम के उपायों की गहन समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कंजेक्टिवाइटिस से बचने के उपायों और सावधानियों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए, ताकि इस बीमारी को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने विशेषज्ञों की सलाह का उल्लेख करते हुए कहा कि लोगों को यह बताया जाए हाथों को बिना साफ किए हाथ आंखों में ना लगाएं, जिससे संक्रमण ना हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों में कंजेक्टिवाइटिस के मरीजों का प्राथमिकता के साथ इलाज किया जाए। ताकि उन्हें अस्पतालों में ज्यादा समय न रुकना पड़े। स्कूलों में भी यदि किसी बच्चे को कंजेक्टिवाइटिस होता है तो संक्रमण से बचने के लिए उन्हें घर भेज जाए। मुख्यमंत्री ने अस्पतालों में कंजेक्टिवाइटिस के मरीजों की जांच और इलाज तथा दवाईयों की उपलब्धता की समीक्षा भी की। मुख्यमंत्री ने कहा ...
बागबाहरा: सरकार से नहीं मिली कोई मदद तो किसान ने की आत्महत्या

बागबाहरा: सरकार से नहीं मिली कोई मदद तो किसान ने की आत्महत्या

Chhattisgarh, Mahasamund
बागबाहरा ब्लॉक के छुईहा गांव निवासी कन्हैया लाल सिन्हा (65) पुत्र बिसाहू सिन्हा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पास एक सुसाइड नोट मिला है। मौके पर पहुंची तेंदूकोना थाना पुलिस ने शव का पोस्मार्टम कराने के बाद उसे परिजनों को सौंप दिया है। इधर, किसान की आत्महत्या करने की खबर के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया है। मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि 'मैं एक छोटा सा किसान हूं, खेती किसानी में पिछले 8-9 वर्षो से कभी पानी, कभी कीट प्रकोप से नुकसान हो रहा है। मुझे हर साल घाटा हो रहा है। इस वर्ष लो वोल्टेज के कारण चार एकड़ रबी फसल बर्बाद हो गई है। मुझे एक भी पैसा नहीं मिला और न ही शासन से कोई मदद मिली। पैसे की काफी तकलीफ हो रही है। मुझे न तो बीमा का लाभ मिला और न ही दो लाख की छूट मिली। अत: मेरे पास कोई चारा नहीं बचा और मेरे चारों ओर अंधकार हो गया है'। सुसाइड नोट को जब्त कर ...
NH-130 निर्माण मुआवजा मामला: मुआवजा से न मिलने से नाराज ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

NH-130 निर्माण मुआवजा मामला: मुआवजा से न मिलने से नाराज ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

Chhattisgarh
नेशनल हाइवे 130 निर्माण में मुआवजा की मांग को लेकर कटघोरा जुराली के लोग काफी समय से आंदोलन करते आ रहे हैं। लगभग 5 साल से प्रभावित ग्रामीण मुआवजे के लिए राजस्व विभाग व निर्माण कंपनी के पास जाकर दर-दर की ठोकर खा रहे हैं। शुक्रवार को नाराज ग्रामीणों ने बिलासपुर से कटघोरा नेशनल हाइवे 130 मोहनपुर सुतर्रा मार्ग के पास चक्काजाम कर दिया। लगभग 2 घंटे चले चक्काजाम की वजह से लंबी दूरी के वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस दौरान कटघोरा थाना प्रभारी अश्विन राठौर अपने दल बल के साथ मौके पर पहुंचे, जहां आपात स्थिति में वाहनों को जाने दिया। इसमें एंबुलेंस को विशेष तौर पर जाने दिया गया। एसडीएम व तहसीलदार की उपस्थिति में ग्रामीणों से चर्चा के दौरान यह सहमति बनी कि एक माह के भीतर सभी लंबित मुआवजा मामलों का निराकरण कर मुआवजा राशि उपलब्ध करा दी जाएगी। राजस्व विभाग द्वारा लिखित आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने चक्काजाम...
इस तारीख तक करा लें राशन कार्ड की ई-केवाईसी, नहीं तो बढ़ जाएगी परेशानी

इस तारीख तक करा लें राशन कार्ड की ई-केवाईसी, नहीं तो बढ़ जाएगी परेशानी

Chhattisgarh, India
भारत सरकार के निर्देश पर ‘‘राशवन नेशन, वन न कार्ड योजना’’ के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के हितग्राहियों का शत-प्रतिशत ई-केवाईसी की तिथि अब बढ़ाकर 31 अगस्त तक 2023 तक कर दिया गया है। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग इस आशय का पत्र प्रदेश के सभी कलेक्टर्स को जारी कर दिया है। राशनकार्ड में हितग्राहियों के आधार की जानकारी गलत दर्ज होने और आधार की जानकारी प्रमाणीकृत नहीं होने के कारण खाद्यान्न वितरण में समस्या बनी रहती है। विभागीय डेटाबेस में जिन हितग्राहियों का आधार दर्ज है, उनके आधार की जानकारी का प्रमाणीकरण के लिए ई-केवाईसी की कार्यवाही की जा रही है। ई-केवाईसी की कार्रवाई के लिए राशनकार्डधारी मुखिया एवं राशनकार्ड में दर्ज सभी सदस्य अपने-अपने आधार नंबर के साथ शासकीय उचित मूल्य दुकान पर पहुंचे। इसके बाद ही विक्रेता की ओर से ई-पॉस उपकरण में प्रत्येक सदस्य के आधार न...
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना: युवा बन रहे उद्यमी, स्थापित कर रहे हैं खुद का व्यवसाय

मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना: युवा बन रहे उद्यमी, स्थापित कर रहे हैं खुद का व्यवसाय

Chhattisgarh, Raipur
युवाओं के अपने सपने होते हैं। उसे पूरा करने का उनके पास जुनून भी होता है। पढ़-लिख कर एक सफल उद्यमी और व्यवसायी बनने की राह देख रहे युवाओं के लिए आर्थिक समस्या बाधा न बने इसके लिए मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से वित्तीय वर्ष 2022-23 में 553 युवाओं को बैंकों के माध्यम से ऋण प्रदान करते हुए 215.59 लाख रूपए का मार्जिन मनी अनुदान प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के तहत युवाओं को व्यवसाय के लिए अधिकतम 2 लाख रूपए, सेवा उद्यम के लिए अधिकतम 10 लाख रूपए तथा विनिर्माण उद्यम के लिए अधिकतम 25 लाख रूपए तक का ऋण बैंकोें के माध्यम से प्रदान किया जाता है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना का उद्देश्य राज्य के शिक्षित युवा वर्ग को स्वरोजगार के रूप में उद्योग, सेवा एवं व्यवसाय स्थापित करने में सहयोग प्रदान किया जाता है। इसके तहत राज्य के शिक...
स्थानीय वैद्यों की पहचान कर औषधीय जड़ी-बूटियों  को संरक्षित करने की दिशा में करें काम: डॉ नंद कुमार साय

स्थानीय वैद्यों की पहचान कर औषधीय जड़ी-बूटियों को संरक्षित करने की दिशा में करें काम: डॉ नंद कुमार साय

Chhattisgarh, Raipur
छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी) के अध्यक्ष डॉ. नंद कुमार साय ने बुधवार को गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही कलेक्टोरेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेकर काम-काज की समीक्षा की। बैठक में डॉ. साय ने कहा कि प्रदेश के स्थानीय वैद्यों की पहचान कर औषधीय जड़ी-बूटियों को संरक्षित करने के लिए कार्य योजना तैयार किया जाए। उन्होंने औद्योगिक विकास के तहत छत्तीसगढ़ औषधीय पादप बोर्ड से समन्वय कर वनौषधि पार्क बनाने पर भी जोर दिया। बैठक में मरवाही विधायक डॉ. के.के. ध्रुव, राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग की सदस्य श्रीमती अर्चना पोर्ते, कलेक्टर श्रीमती प्रियंका ऋषि महोबिया, वन मंडलाधिकारी श्री सत्यदेव शर्मा, एसडीएम पेंड्रारोड श्री पुष्पेंद्र शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। सीएसआईडीसी के अध्यक्ष डॉ. साय ने कहा कि गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला वन और आदिवासी बाहुल्य जिला है, यहां वनौषधि जड़ी-बूटियों की क...
तरक्की में अब नहीं आर्थिक बाधा, छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी भत्ता योजना बनी युवाओं के लिए वरदान

तरक्की में अब नहीं आर्थिक बाधा, छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी भत्ता योजना बनी युवाओं के लिए वरदान

Chhattisgarh, Raipur
छत्तीसगढ़ सरकार युवाओं के भविष्य के मद्देनजर नए-नए रास्ते खोल रही है, ताकि रोजगार मिले, उनका भविष्य उज्जवल हो, युवाओं के हाथों में काम हो। इन सबके लिए भूपेश सरकार बेरोजगारी भत्ता चालू की है, ताकि पढ़ाई कर रहे और नौकरी की तैयारी में लगे युवाओं को आर्थिक मदद मिल सके। प्रदेश के ऐसे युवा जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने की वजह से उन्हें प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी सहित अन्य खर्चे उठाने में काफी परेशानी उठानी पड़ती है, इस योजना के तहत मिली राशि से वे अपनी जरूरतें पूरी कर पा रहे हैं। यह योजना अनेक युवाओं के भविष्य को एक नया आयाम देने में सहायक बन गया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अब तक 1 लाख 16 हजार से ज्यादा युवाओं के खाते में लगभग राशि 80.64 करोड़ रुपए ट्रांसफर कर युवाओं के चहेरे पर मुस्कान बिखेरी है। इस योजना के तहत युवाओं को ट्रेनिंग देने की भी सुविधा है, जिससे उनको रोजगार मुहैया कराय...
चिंगारपगार झरने में अचानक आई बाढ़: प्रकृति के साथ खिलवाड़ या किसी बड़े हादसे का इंतजार?

चिंगारपगार झरने में अचानक आई बाढ़: प्रकृति के साथ खिलवाड़ या किसी बड़े हादसे का इंतजार?

Chhattisgarh, Gariabandh, Tourism, Various, Vishesh Lekh
वर्षा ऋतु में छत्तीसगढ़ की प्राकृतिक छटा अत्यंत मनोहारी होती है और यह सभी सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करती है। सावन का महीना आते ही हरियाली की चादर से जैसे पूरा छत्तीसगढ़ आच्छादित हो जाता है, कहना पड़ेगा इंद्र देव की छत्तीसगढ़ पर विशेष कृपा है।  साथ ही यहाँ अनगिनत झरने बहने लगते है। कुछ चित्रकूट जलप्रपात के जैसे विशाल तो कुछ गजपल्ला जैसे बरसाती झरने। जो भी हो झरने हमेशा पर्यटकों को आकर्षित करते है। केवल गरियाबंद जिले में ही 10 से अधिक झरने बहते है। जिसे देखने के लिए अच्छी खासी भीड़ उमड़ती है। विशेषकर सप्ताहांत में तो पर्यटकों की भीड़ से सड़को पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती है। यह सब देखने सुनने में अच्छा लगता है लेकिन ठहरिये हम छत्तीसगढ़ की बात कर रहे है। जहाँ पर पर्यटन क्षेत्र और पर्यटक तो है लेकिन मुलभूत सुविधाऐं कुछ नहीं है। अभी हाल ही में बीते रविवार को गरियाबंद के चिंगरापगार झरने में ...