दिनांक : 20-Jun-2024 02:07 PM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

राजस्थान : राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक खेल महाकुंभ का अंतिम पड़ाव 16 से 19 अक्टूबर तक, 4 हजार खिलाड़ी 6 खेलों में दिखाएगें अपनी प्रतिभा

14/10/2022 posted by Bishes Dudani Chhattisgarh    
जयपुर, 13 अक्टूबर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा की अनुपालन में राज्य खेलों की तर्ज पर पहली बार गांव-गांव, ढाणी-ढाणी में खेल एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए 6 खेलों में राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया जा रहा है। 29 अगस्त 2022 से शुरु हुए राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक खेलों में  प्रदेश के 30 लाख से अधिक खिलाड़ी और 2 लाख से अधिक टीमों ने भाग लिया। ग्रामीण ओलम्पिक में प्रदेश के 46 हजार 348 गाँवों ने हिस्सा लिया।
गांव-गांव ढाणी-ढाणी में आमजन को खेलों से जोडा – विधायक डॉ कृष्णा पूनिया
पदम श्री अर्जुना अवार्डी राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद अध्यक्ष डॉ कृष्णा पूनिया ने कहा कि वर्तमान दौर में बच्चों का रुझान खेल मैदानों की तरफ ना होकर मोबाइल की तरफ सीमित रह गया है, मानों जैसे खेल उनकी दिनचर्या का हिस्सा तक नहीं हो। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की परिकल्पना के अनुसार राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक खेलों के माध्यम से गांव-गांव ढाणी-ढाणी में आमजन को खेलों से जोड़कर उनमें सद्भावना एवं आपसी सामंजस्य जैसे सरीखे गुणों को विकसित किया जाना संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि इन ग्रामीण ओलम्पिक खेल की लोकप्रियता को देखकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शहरी ओलम्पिक किए जाने की घोषणा भी की है।
राज्य के विभिन्न जिलों के ब्लॉकों में जाकर ग्रामवासियों को राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक के प्रति प्रेरित करने के लिए राजीव गांधी मशाल यात्रा का आयोजन किया गया। सद्भाव सामंजस्य एवं भाईचारा पैदा करने जैसे मूलभाव को लेकर इस खेल का आयोजन किया जा रहा है। राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में खेलों को प्रोत्साहन मिल रहा है। इस प्रतियोगिता में प्रदेश सरकार के माध्यम से ग्राम पंचायत स्तर से लेकर राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में लगभग 40 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे है।
प्रदेशवासियों को अपनी प्रतिभाओं को ग्राम पंचायत स्तर से राज्य स्तर तक पहुँचाने का एक मंच प्रदान किया जा रहा है, ताकि ग्रामीण कौशल को और निखार कर राष्ट्रीय स्तर तक पहुँचाया जा सके। इस प्रतियोगिता के माध्यम से राज्य में खेलों का परिदृश्य बदल रहा है। राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक में खिलाड़ी ग्राम पंचायत, ब्लॉक, जिला, राज्य हर स्तर की प्रतियोगिताओं में अपना परचम लहरा रहे हैं।
राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक का पहला चरण
29 अगस्त  से शुरु हुए राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक के पहले चरण ग्राम पंचायत स्तर की चार दिवसीय प्रतियोगिताओं में 29 लाख 81 हजार 897 खिलाड़ियों ने अपना पंजीकरण करवाया, जिसमे से 9 लाख 41 हजार 671 महिलाओं ने राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक मे हिस्सा लिया तथा 20 लाख 37 हजार 553 पुरुष इस प्रतियोगिता में शामिल हुए। ग्राम पंचायत स्तर पर गठित 2 लाख 21 हजार 27 टीमों में से 66 हजार 897 महिलाओं की और पुरुषों की लगभग एक लाख 54 हजार 127 टीमें बनाई गई। इस प्रतियोगिता मे प्रदेशवासियों ने अपनी पारंपरिक वेशभूषा में ही हिस्सा लिया।
इन खेलों में खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा, टेनिसबॉल क्रिकेट में रहे सबसे ज्यादा प्रतिभागी
कबड्डी में 11 लाख 86 हजार 642 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। शूटिंग वॉलीबॉल में एक लाख 4 हजार 297 खिलाड़ी शामिल हुए एवं टेनिसबॉल क्रिकेट में 7 लाख 5 हजार 272 खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई। खो- खो में 5 लाख 48 हजार 789 प्रतिभागियों ने अपना हुनर दिखाया, साथ ही वॉलीबॉल में 3 लाख 5 हजार 215 खिलाड़ियों ने भाग लिया और हॉकी में एक लाख 31 हजार 668 खिलाड़ियों ने अपना जौहर दिखाया।
राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक का दूसरा चरण ब्लॉक स्तरीय प्रतियोगिताएं
ब्लॉक स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन 12 से 15 सितम्बर तक किया गया। ग्राम स्तर पर आयोजित प्रतियोगितओं की विजेता रही टीमों के 5 लाख 40 हजार 666 खिलाड़ियों ने इस प्रतियोगिता में बढ़ दृ चढ़कर हिस्सा लिया। ब्लॉक स्तर पर 47 हजार 145 टीमों का गठन किया गया।

Author Profile

Bishes Dudani
बिशेष दुदानी रायपुर में निवास करते है, इन्होने ने Btech IT की डिग्री की है, वेब डेवलपमेंट और पत्रकारिकता में रूचि है। दैनिक इस्पात टाइम्स रायपुर एवं रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार है और गोंडवाना एक्सप्रेस में सह-संपादक/प्रबंधक की भुमिका निभा रहे है।