dantewada - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: dantewada

दंतेवाड़ा : 28 नक्सलियों ने किया सरेंडर, सरेंडर कर चुके साथी की अपील से हुए प्रभावित

दंतेवाड़ा : 28 नक्सलियों ने किया सरेंडर, सरेंडर कर चुके साथी की अपील से हुए प्रभावित

politics, छत्तीसगढ़
दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा में एक दो नहीं बल्कि पूरे 28 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया। इनमें से कुछ नक्सलियों के ग्रामीणों के बीच रहकर मदद किया करते थे। कुछ काम पुलिस पर हमले की प्लानिंग करना था। सरेंडर करने वालों में 4 इनामी नक्सली भी शामिल हैं। इनकी पुलिस को लंबे अरसे से तलाश थी। इनमें दो लाख का इनामी मंगलू मड़कामी और एक-एक लाख इनाम वाले वामन कवासी, हांदा और  पोडियामी गंगी शामिल है। कटेकल्याण इलाके में ग्रामीणों को डराकर रखने वाले नक्सली  हड़मा मंडावी ने 4 दिन पहले सरेंडर किया था। सरेंडर के बाद वह ग्रामीणों के बीच गया। उसने बताया कि नक्सलियों को जीवन बेहद बद्तर है। वह किसी का भला नहीं करते। गांव में हड़मा ने गोंडी बोली में भाषण दिया , नक्सलवाद की सच्चाई व सरकार की नीतियां बताईं, आग्रह किया कि जो भी मुख्य धारा से भटकें हैं मेरी तरह लौट आएं। इसके बाद इस क्षेत्र म
नवरात्रि विशेष: जानिए दंतेवाड़ा की माँ दंतेश्वरी के बारे में, जहाँ गिरे थे माता सती के दाँत

नवरात्रि विशेष: जानिए दंतेवाड़ा की माँ दंतेश्वरी के बारे में, जहाँ गिरे थे माता सती के दाँत

tourism, video, छत्तीसगढ़
दन्तेश्वरी मंदिर जगदलपुर शहर से लगभग 84 किमी (52 मील) स्थित है। माता दंतेश्वरी का यह मंदिर बहुत ही प्रसिद्ध एवं पवित्र मंदिर है, यह माँ शक्ति का अवतार है। माना जाता है कि इस मंदिर में कई दिव्य शक्तियां हैं। दशहरा के दौरान हर साल देवी की आराधना करने के लिए आसपास के गांवों और जंगलों से हजारों आदिवासी आते हैं। यह मंदिर जगदलपुर के दक्षिण-पश्चिम में दंतेवाड़ा में स्थित है और यह पवित्र नदियां शंकिणी और डंकिनी के संगम पर स्थित है, यह छह सौ वर्ष पुराना मंदिर भारत की प्राचीन विरासत स्थलों में से एक है और यह मंदिर बस्तर क्षेत्र का सांस्कृतिक-धार्मिक-सामाजिक का प्रतिनिधित्व है। आज का विशाल मंदिर परिसर इतिहास और परंपरा की सदियों से वास्तव में खड़ा स्मारक है। इसके समृद्ध वास्तुशिल्प और मूर्तिकला और इसके जीवंत उत्सव परंपराओं का प्रमाण है। दंतेश्वरी माई मंदिर इस क्षेत्र के लोगों के लिए सबसे महत्वप
दंतेवाड़ा उपचुनाव परिणाम बीजेपी का सूपड़ा साफ़,प्रदेश में 14 सीटों पर सिमटी। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा विजयी घोषित

दंतेवाड़ा उपचुनाव परिणाम बीजेपी का सूपड़ा साफ़,प्रदेश में 14 सीटों पर सिमटी। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा विजयी घोषित

politics, छत्तीसगढ़
दन्तेवाड़ा। बहुप्रतिक्षित दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव रिजल्ट परत दर परत सामने आया। हालांकि इस सीट के लिए कुल 9 प्रत्याशी मैदान में आमने-सामने भीड़े, लेकिन मतगणना के पहले चरण से ही असली लड़ाई कांग्रेस की देवती कर्मा व बीजेपी के अजस्वी भीमा मंडावी के बीच चल रही थी, जो अंतिम चरण के गिनती तक बनी रही। इस तरह कांग्रेस की देवती कर्मा ने 20वें राउंड की समाप्ति के बाद 11 हजार 331 मतों से विजय हो गई है। पूरे मतगणना के दौरान जिस तरह से देवती कर्मा लगभग सभी राउंडों में अपना दबदबा बनाए रखी थी, उससे उनकी जीत तय माना जा रहा था, लेकिन देखना यह था कि देवती अपनी लीड दस हजार से अधिक रख पाती हैं या नहीं। अब परिणाम के साथ ही ये स्पष्ट हो गया है कि देवती ने एक बड़ी विजय प्राप्त किया है। कांग्रेस की इस जीत के बाद रायपुर के राजीव भवन में ढोल बजाकर जश्न मनाया गया। 12 सौ से अधिक कर्मचारियों व जवानों की छत्रछा
छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव भाजपा उम्मीदवार ओजस्वी मंडावी ने दाखिल किया नामांकन पत्र

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव भाजपा उम्मीदवार ओजस्वी मंडावी ने दाखिल किया नामांकन पत्र

politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | बस्तर के दंतेवाड़ा में होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी ने सोमवार को नामांकन दाखिल किया। ओजस्वी मंडावी दिवंगत विधायक भीमा मंडावी की पत्नी हैं। नामांकन फार्म जमा करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंची ओजस्वी के साथ चैतराम अटामी,कमला विनय नाग, मुन्ना मरकाम, नंदलाल मुड़ामी के साथ तमाम भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवारों के बीच सीधा मुकाबला पूर्व विधायक भीमा मंडावी की नक्सली हमले में हत्या के बाद दंतेवाड़ा सीट खाली हुई थी। ओजस्वी मंडावी के पर्चा भरने के साथ ही कांग्रेस उम्मीदवार देवती कर्मा, सीपीआई से भीमसेन मंडावी, बसपा से केशव नेताम के अलावा निर्दलीय उम्मीदवार कल्लू भवानी और सुंदरू कुंजाम ने भी फार्म खरीदे हैं। हालांकि इस सीट से सीधा मुकाबला कांग्रेस की देवती कर्मा और भाजपा की ओजस्वी मंडावी के बीच है। विधायक भीम मंडावी की नक्सली हमल
छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव में जनता कांग्रेस ने इंजीनियर सुजीत कर्मा को दिया टिकट, नौकरी छोड़ लड़ेंगे चुनाव

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा उपचुनाव में जनता कांग्रेस ने इंजीनियर सुजीत कर्मा को दिया टिकट, नौकरी छोड़ लड़ेंगे चुनाव

politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | आगामी 23 सितम्बर को छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा  में होने वाले उपचुनाव के लिए जनता कांग्रेस युवा चेहरे के साथ सामने आई है। पार्टी ने अपने प्रत्याशी की घोषणा रविवार को कर दी। इलाके के दुगेली गांव के रहने वाले सुजीत कर्मा को टिकट दिया गया। इंजीनियर सुजीत अपनी सरकारी नौकरी छोड़कर  अपना भगय आजमा रहे है। संगठन के प्रमुख और प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी ने कहा कि क्षेत्र को युवा नेता की जरूरत है लिहाजा पार्टी ने यह नाम तय किया। बीते लोकसभा चुनावों के दौरान नक्सलियों ने इस सीट से विधायक भीमा मंडावी की हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही यह सीट खाली है। मुझे अपने क्षेत्र के विकास के लिए काम करना है 25 साल के सुजीत राजनीति की पहली पारी शुरू कर रहे हैं। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद मिली सहायक प्राध्यापक की नौकरी छोड़कर चुनावी मैदान में उतरे हैं। सुजीत ने क
दंतेवाड़ा उपचुनाव: कांग्रेस की देवती कर्मा और भाजपा की ओजस्वी मंडावी के बीच होगा मुकाबला

दंतेवाड़ा उपचुनाव: कांग्रेस की देवती कर्मा और भाजपा की ओजस्वी मंडावी के बीच होगा मुकाबला

politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | दंतेवाड़ा उपचुनाव में भी कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला होगा। कांग्रेस से जहां पूर्व प्रत्याशी और बस्तर टाइगर दिवंगत महेन्द्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा और भाजपा से भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी का नाम लगभग तय माना जा रहा है। पिछले तीन चुनावों से कर्मा और मंडावी परिवार के बीच ही मुकाबला होता रहा है। भाजपा विधायक भीमा मंडावी की हत्या के बाद से रिक्त हुई इस सीट को भाजपा अपने कब्जे में रखना चाह रही है। स्थानीय नेता और कार्यकर्ता मंडावी की पत्नी को मैदान में उतारकर जनता की सहानुभूति बटोरना चाह रहे हैं। यही वजह है कि ओजस्वी में कुछ दिन पहले ही कांग्रेस सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए चुनाव लड़ने के संकेत भी दिए थे। ओजस्वी अपने क्षेत्र में सक्रिय हो गई हैं। वहीं पिछला चुनाव सिर्फ 2100 वोटों से हार चुकीं देवती को कांग्रेस फिर मौका देगी। क्योंकि देवती के
जवानों को निशाना बनाने के लिए दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पहली बार लगाए पुतला बम

जवानों को निशाना बनाने के लिए दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पहली बार लगाए पुतला बम

छत्तीसगढ़
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों को निशाना बनाने के लिए नक्सलियों ने अब पुतला बम का इस्तेमाल शुरू कर दिया। सीआरपीएफ कैंप से महज 600 मीटर की दूरी पर नक्सलियों ने शनिवार देर शाम दो पुतलों के नीचे आईईडी लगा दी। हालांकि इससे पहले कि जवानों को कोई नुकसान पहुंचता, उन्होंने उसे डिफ्यूज कर दिया। नक्सली मारे गए साथियों की तलाश में शहीदी दिवस मना रहे हैं। आईईडी विस्फोटकों को ऑटो कनेक्ट तरीके से जोड़ा गया था जानकारी के मुताबिक, अरनपुर जगरगुंडा मार्ग में जुड़वा नाला कैंप से 600 मीटर दूर नक्सलियों ने 2 पुतलों के नीचे 2 किलो और 3 किलो के 2 आईईडी विस्फोटक लगा दिए। नक्सलियों ने इसे बकायदा ऑटो कनेक्ट तरीके से जोड़कर रखा था। सीआरपीएफ  231 बटालियन के जवान रविवार शाम को एरिया में सर्चिग के लिए निकले थे। इसी दौरान उन्हें कोंडासावली कैंप के पास पुतले लगे हुए दिखाई दिए। पहले तो पु
आदिवासियों ने रोका खदान का रास्ता कहा-देवताओं का पहाड़ नष्ट नहीं होने देंगे, दिनभर काम बंद

आदिवासियों ने रोका खदान का रास्ता कहा-देवताओं का पहाड़ नष्ट नहीं होने देंगे, दिनभर काम बंद

छत्तीसगढ़
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | किरंदुल के बैलाडीला के डिपॉजिट 13 नंबर खदान (नंदराज पहाड़) पर खुदाई शुरू किए जाने का ठेका देने के विरोध में शुक्रवार को आदिवासियों ने आंदोलन शुरू कर दिया। नंदराज पहाड़ को आदिवासी देवों का स्थान मानकर पूजते आए हैं। इस पर खनन की खबर मिलने के बाद से आदिवासियों में नाराजगी थी। पहले से घोषित आंदोलन को मूर्त रूप देने के लिए संयुक्त पंचायत संघ की अगुवाई में सुबह 8 बजे से आदिवासी समाज ने प्रदर्शन शुरू किया। प्रदर्शनकारियों ने खदानों की ओर जाने वाले तीनों रास्ते जाम कर दिए। इससे सुबह की पाली के कर्मचारी अंदर नहीं जा सके। लंबे समय बाद खदान और एनएमडीसी प्लांट में काम बंद रहा। एसपी अभिषेक पल्लव ने इसे नक्सल प्रायोजित प्रदर्शन बताया है। दरअसल दंतेवाड़ा जिले के बैलाडीला पर्वत श्रृंखला के नंदाराज पहाड़ पर स्थित एनएमडीसी की डिपाॅजिट 13 नंबर खदान अडानी को दिए जाने का आदिवासियों ने वि
गोंदेरास के जंगल में तड़के हुई सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में महिला नक्सली सहित दो वर्दीधारी ढेर, हथियार सहित तमाम सामान बरामद

गोंदेरास के जंगल में तड़के हुई सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में महिला नक्सली सहित दो वर्दीधारी ढेर, हथियार सहित तमाम सामान बरामद

छत्तीसगढ़
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | जिला पुलिस और डीआरजी की संयुक्त टीम ने गोंडेरास क्षेत्र के घने जंगलो में बुधवार तड़के बड़ी कार्रवाई करते हुए नक्सलियों के कैंप पर धावा बोल दिया। दोनों ओर से चली फायरिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने महिला नक्सली सहित दो वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया। हालांकि बाकी नक्सली जंगल का फायदा उठाकर भाग निकलने में कामयाब हुए। मारे गए नक्सलियों की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। करीब एक घंटे से ज्यादा चली इस मुठभेड़ में जवानों ने महिला नक्सली सहित दो वर्दीधारी को ढेर कर दिया। पुलिस ने मौके पर हथियार सहित भारी मात्रा में सामान बरामद किया है। खास बात यह है कि पहली बार नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में महिला कमांडों को भी शामिल किया गया। जवानों को मौके से इंसास राइफल, 12 बोर बंदूक के साथ सामानों का जखीरा बरामद हुआ है। दंतेवाड़ा-सुकमा बॉर्डर के जंगलों में 30 से ज्यादा कैंप लगा रखे थे नक्सलि
भाजपा विधायक मंडावी की हत्या के मास्टरमाइंड समेत दो नक्सली ढेर, 1 गिरफ्तार

भाजपा विधायक मंडावी की हत्या के मास्टरमाइंड समेत दो नक्सली ढेर, 1 गिरफ्तार

छत्तीसगढ़
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | यहां सुरक्षाबलों ने गुरुवार को मुठभेड़ में दो नक्सलियों को ढेर कर दिया। मारे गए नक्सलियों में भाजपा विधायक भीमा मंडावी के काफिले पर हमले का मास्टरमाइंड भी शामिल था। नक्सली एसीएम वर्गिस पर पांच लाख का इनाम था। नक्सलियों के पास से एक 315 और एक बंदूक बरामद हुई। पहले चरण के मतदान से 2 दिन पहले 9 अप्रैल को इसी इलाके में नक्सलियों ने मंडावी के काफिले पर आईईडी से हमला किया था। इसमें मंडावी और उनके ड्राइवर की मौत हो गई थी। उनकी सुरक्षा में तैनात 3 जवान भी शहीद हुए थे। पुलिस के मुताबिक, डीआरजी के जवान सुबह सर्चिंग के लिए निकले थे। इसी दौरान कटेकल्याण और कोंड़ा के बीच दौलिकडका के जंगलों में नक्सलियों ने फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में नक्सली कमांडर एसीएम वर्गिस और लिंगा मारे गए। एक नक्सली गिरफ्तार हुआ है। वर्गिस बड़े नक्सली कमांडरों में था और कई हमलों में मास्टरमाइंड र