दिनांक : 24-May-2024 12:58 AM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

Mahasamund

सफलता की कहानी : रंग से रेनोवेशन, अनुपा ठाकुर ने किया आंगनबाड़ी केंद्र का सुंदर बदलाव, बनी चेम्पियन आफ चेंज

सफलता की कहानी : रंग से रेनोवेशन, अनुपा ठाकुर ने किया आंगनबाड़ी केंद्र का सुंदर बदलाव, बनी चेम्पियन आफ चेंज

Chhattisgarh, Mahasamund, Vishesh Lekh
निर्मल आंगनबाड़ी अभियान अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य कर आंगनबाड़ी केंद्र को आदर्श स्वरूप प्रदान करने वाली बागबाहरा विकासखंड के आंगनबाड़ी केंद्र बागबाहरा कला की कार्यकर्ता श्रीमती अनुपा ठाकुर अपने कार्य से अन्य कार्यकताओं के लिए मिसाल बन गई है। चर्चा के दौरान उन्होंने हर्ष के साथ बताया कि पीरामल टीम एवं परियोजना अधिकारी द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की सेक्टर बैठक के दौरान निर्मल आंगनबाड़ी अभियान कार्यक्रम के बारे में जानकारी प्राप्त करके बहुत की अच्छा लगा। कार्यशाला से वापस आकर मैंने इस बारे में विचार किया कि मुझे भी अपने आंगनबाड़ी को बहुत ही सुंदर बनाना है जो कि अंदर से तो सुंदर रहे ही साथ ही बाहर से देखते ही सभी के लिए आकर्षक हो जाए। चूंकि मुझे साज-सज्जा की वस्तुएं बनाना, चित्रकला, पेंटिंग ये सभी चीजे हमेशा से ही पसंद थी इसलिए मैंने सोचा की क्यों न सभी लोग मिलकर आंगनबाड़ी की पुताई करें और आंगनबाड़ी को आ...
रायपुर : मत्स्य नीति एवं मछलीपालन को कृषि का दर्जा मिलने से मत्स्य पालन में अभूतपूर्व वृद्धि : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर : मत्स्य नीति एवं मछलीपालन को कृषि का दर्जा मिलने से मत्स्य पालन में अभूतपूर्व वृद्धि : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Mahasamund
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज रायपुर जिले में स्थित ग्राम फुंडहर में आयोजित छत्तीसगढ़ निषाद केंवट समाज प्रदेश संगठन भूमि पूजन एवं वार्षिक सम्मेलन कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि निषाद समाज मेहनतकश समाज है। हमारी सरकार ने निषाद समाज के हित में बहुत सारे निर्णय लिए। समाज के लोगों को सरकार मंे भी उचित प्रतिनिधित्व दिया गया। हमने मछुआ कल्याण बोर्ड बनाया और इसके अध्यक्ष को केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया। केंवट समाज मछली पालन के व्यवसाय के जुड़ा हुआ है। समाज के कल्याण के लिए हमने मत्स्य नीति बनाई। मछली पालन को कृषि का दर्जा दिया, जिससेे मछली पालन में वृद्धि हुई है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने ‘‘निषाद समाज की विभूतियां‘‘ पुस्तक, तथा दुर्गा प्रसाद पारकर द्वारा रचित ‘केंवट कुंदरा’ नामक पुस्तक का विमोचन किया। कार्यक्रम में नगरीय प्...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की सरकार ने जन-जन के स्तर को सुधारने के लिए किया समर्पण, राजीव जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही- श्रीमती सोनिया गांधी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की सरकार ने जन-जन के स्तर को सुधारने के लिए किया समर्पण, राजीव जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही- श्रीमती सोनिया गांधी

Mahasamund
छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल जी के नेतृत्व में सरकार ने राजीव जी के सपनों को साकार रूप दिया है। समाज के सभी क्षेत्रों, वर्गों, समुदायों तथा जन-जन के जीवन स्तर में सुधारने की दिशा में अपने को समर्पित किया है। सही मायनों में राजीव जी के प्रति यही सच्ची श्रद्धांजलि है। सांसद श्रीमती सोनिया गांधी ने भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर महासमुंद में आयोजित कार्यक्रम में अपने वीडियो संदेश में यह बात कही। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राज्य सरकार की विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों के खाते में 2055 करोड़ 60 लाख रुपए की राशि अंतरित की, साथ ही उन्होंने महासमुंद जिले में 704 करोड़ रुपए के 224 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन भी किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 18 नई तहसील और 13 नये अनुविभागीय कार्यालयों का उद्घाटन भी किया। इन...
महासमुंद : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने न्याय योजनाओं के हितग्राहियों को 2055.60 करोड़ रूपए का किया ऑनलाईन भुगतान

महासमुंद : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने न्याय योजनाओं के हितग्राहियों को 2055.60 करोड़ रूपए का किया ऑनलाईन भुगतान

Mahasamund
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने 20 अगस्त को पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती ‘‘सद्भावना दिवस‘‘ के अवसर पर महासमुंद के हाई स्कूल मैदान में न्याय योजनाओं सहित अन्य योजनाओं के हितग्राहियों किसानों, मजदूरों, ग्रामीण व पशुपालकों को 2055.60 करोड़ रूपए की राशि का ऑनलाईन भुगतान किया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, उप मुख्यमंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव अति विशिष्ट अतिथि के रूप में कार्यक्रम में उपस्थित रहे। गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। कार्यक्रम में पंचायत मंत्रा श्री रविन्द्र चौबे, खाद्य मंत्री श्री अमरजीत भगत, नगरीय विकास विभाग मंत्री डॉ. शिव डहरिया, आदिम जाति जनजाति विकास विभाग मंत्री श्री मोहन मरकाम, राज्यसभा सांसद श्रीमती फूलोदवी नेताम ,लोकसभा सांसद श्री दीपक बैज सहित छत्तीसगढ़ शासन संसदीय सचिव, विधायक समेत अनेक जनप्रतिनिधि कार्यक्...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों महासमुंद जिले को मिली 655 करोड़ रूपए की लागत के 223 विकास कार्यों की सौगात

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों महासमुंद जिले को मिली 655 करोड़ रूपए की लागत के 223 विकास कार्यों की सौगात

Mahasamund
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर महासमुंद के प्रवास के दौरान जिले को 655 करोड़ की लागत के 223 विकास कार्यों की सौगात दी। इनमें 71.08 करोड़ रूपए की लागत के 132 कार्यों का लोकार्पण और 583 करोड़ 92 लाख रूपए की लागत के 91 कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास शामिल है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस कार्यक्रम में 322 करोड़ 85 लाख रूपए की लागत से बनने वाले महासमुंद मेडिकल कॉलेज के भवन निर्माण कार्य की आधारशिला भी रखी। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने 2.38 करोड़ रूपए की लागत से ग्राम घोंच तथा 1.72 करोड़ रूपए की लागत से भुल्का (पथियापाल) में स्थापित 33/11 केव्ही विद्युत उपकेन्द्र, जिला अस्पताल महासमुंद में 25 लाख रूपए की लागत से निर्मित फिजियोथैरेपी बिल्डिंग, सीएचसी पिथौरा में 30 लाख रूपए की लागत से बनाए गए ब्लड बैंक तथा 12 लाख रूपए की लागत...
महासमुंद : दिव्यांग पूनम की जिंदगी ने पकड़ी फिर से रफ्तार, समाज कल्याण विभाग ने दी मोटराइज्ड ट्राई साइकिल

महासमुंद : दिव्यांग पूनम की जिंदगी ने पकड़ी फिर से रफ्तार, समाज कल्याण विभाग ने दी मोटराइज्ड ट्राई साइकिल

Mahasamund
तेजी से दौड़ती भागती दुनिया से कदम मिलाकर नहीं चलने वाले अक्सर जिंदगी की जंग में पीछे रह जाते हैं। ऐसे में दोनों पैरों से 80 प्रतिशत अस्थिबाधित दिव्यांग श्री पूनम पटेल के लिए अपने रोजमर्रा के काम के लिए भी घर से बाहर जाना परेशानियों भरा होता था। महासमुंद जिले के ग्राम गुढ़ियाडीह निवासी श्री पूनम अपने जीवन में आगे बढ़ाना चाहते थे, लेकिन शारीरिक अक्षमता और आर्थिक समस्याओं के चलते वे दूसरों पर निर्भर जीवन जी रहे थे। ऐसे समय में राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग से मिली मदद ने उनका जीवन बदल दिया। श्री पूनम पटेल ने बताया कि दिव्यांगता के कारण वे अपने दैनिक कार्याें के लिए भी दूसरों पर निर्भर थे। इस बीच उन्हें पता चला कि समाज कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजनों को पात्रतानुसार लाभान्वित किया जाता है। उन्होंने समाज कल्याण विभाग महासमुंद पहुंचकर मोटराइज्ड ट्राई साइकिल के लिए आवेदन दिया। उनके स्थिति को...
बागबाहरा: सरकार से नहीं मिली कोई मदद तो किसान ने की आत्महत्या

बागबाहरा: सरकार से नहीं मिली कोई मदद तो किसान ने की आत्महत्या

Chhattisgarh, Mahasamund
बागबाहरा ब्लॉक के छुईहा गांव निवासी कन्हैया लाल सिन्हा (65) पुत्र बिसाहू सिन्हा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक के पास एक सुसाइड नोट मिला है। मौके पर पहुंची तेंदूकोना थाना पुलिस ने शव का पोस्मार्टम कराने के बाद उसे परिजनों को सौंप दिया है। इधर, किसान की आत्महत्या करने की खबर के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया है। मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि 'मैं एक छोटा सा किसान हूं, खेती किसानी में पिछले 8-9 वर्षो से कभी पानी, कभी कीट प्रकोप से नुकसान हो रहा है। मुझे हर साल घाटा हो रहा है। इस वर्ष लो वोल्टेज के कारण चार एकड़ रबी फसल बर्बाद हो गई है। मुझे एक भी पैसा नहीं मिला और न ही शासन से कोई मदद मिली। पैसे की काफी तकलीफ हो रही है। मुझे न तो बीमा का लाभ मिला और न ही दो लाख की छूट मिली। अत: मेरे पास कोई चारा नहीं बचा और मेरे चारों ओर अंधकार हो गया है'। सुसाइड नोट को जब्त कर ...
सिरपुर: कभी ‘श्री’पुर था लेकिन अब केवल ‘पुर’ ही बचा है, जहाँ सुविधाएं शून्य है

सिरपुर: कभी ‘श्री’पुर था लेकिन अब केवल ‘पुर’ ही बचा है, जहाँ सुविधाएं शून्य है

Chhattisgarh, Mahasamund, Tourism, Various, Vishesh Lekh
नदियों के किनारे सभ्यता का जन्म हुआ और विकास भी हुआ। महानदी के किनारे जन्मे इस महान और विकसित सभ्यता का क्षेत्र सिरपुर जिसका नाम कभी श्रीपुर हुआ करता था। श्री माने महालक्ष्मी और सच में कभी माता महालक्ष्मी इस क्षेत्र में निवास करती थी और इस बात के साक्षात् प्रमाण है यहाँ की भव्य मंदिर जो अब खंडहरों में परिवर्तित हो चुके है। किन्तु उन भग्नावशेषों को देखकर अब यह अंदाज़ा लगाना बहुत मुश्किल है कि सिरपुर कभी दक्षिण कौशल की न केवल राजधानी बल्कि औद्योगिक क्षेत्र हुआ करती थी। सिरपुर की प्राचीनता का सर्वप्रथम परिचय शरभपुरीय शासक प्रवरराज तथा महासुदेवराज के ताम्रपत्रों से उपलब्ध होता है जिनमें 'श्रीपुर' से भूमिदान दिया गया था । सोमवंशी शासकों के काल में सिरपुर दक्षिण कोसल का महत्वपूर्ण राजनैतिक एवं सांस्कृतिक केंन्द्र के रुप में प्रतिष्ठित हुआ । इस वंश के महाप्रतापी शासक महाशिवगुप्त बालार्जुन के 58...
स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के शिक्षक के खिलाफ पॉक्सो के तहत मुकदमा दर्ज

स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के शिक्षक के खिलाफ पॉक्सो के तहत मुकदमा दर्ज

Chhattisgarh, Mahasamund
महासमुंद जिले के स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल बागबाहरा में मिडिल स्कूल के प्रभारी हेड मास्टर द्वारा अध्ययनरत छात्राओं के साथ बैड टच आपत्ति जनक हरकत किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। प्राचार्य का ध्यानाकर्षण व पालकों की बैठक में इस शर्मनाक घटना के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए आरोपी शिक्षक के विरूद्ध थाने में रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्यवाही का निर्णय लिए जाने के बाद प्राचार्या मधु सिरमौर ने बागबाहरा पुलिस में घटना की लिखित रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं, बीईओ ने भी घटना को लेकर जिला शिक्षाधिकारी को लिखित रूप से जानकारी भेजी। बागबाहरा पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, संस्था के प्राचार्य द्वारा आरोपी शिक्षक प्रमोद दास के खिलाफ लिखित रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। जिसमें कहा कि आज छात्राओं से उक्त शिक्षक द्वारा बैड टच किए जाने की सूचना प्राचार्य एवं अन्य शिक्षकों को प्राप्त हुई। पुलिस के...
महासमुंद : मुख्यमंत्री सक्षम योजना से रुक्मणी को मिला सहारा

महासमुंद : मुख्यमंत्री सक्षम योजना से रुक्मणी को मिला सहारा

Mahasamund
मुख्यमंत्री सक्षम सुरक्षा योजना और उससे आवश्यक ऋण लेने के माध्यम से बदली जाने वाली एक ज़िंदगी की कहानी बताते हैं। एक महिला, जिनका नाम रुक्मणी है, गरीबी की संकट से जूझ रही थी। तलाक के बाद रुकमणी को अपनी दो बेटी एवं एक बेटे को पालने और घर चलाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा था। वह अपने मायके बिरकोनी में आकर रहने लगी। कुछ वर्षों तक मायके वाले ने उसकी जिम्मेदारी निभाई। किन्तु कुछ समय बाद एक कमरा देकर उसे अलग कर दिया। अब रूक्मणी के पास आय का कोई साधन नहीं था। ऐसे में तीनों बच्चों के पालन पोषण की जिम्मेदारी उसके ऊपर आ गई, उसे हेमशा चिंता सताने लगी थी। लेकिन उसकी कम आय से उन्हें अपने परिवार की ज़रूरतों को पूरा करने में मुश्किल हो रही थी। एक दिन रुक्मणी ने सुना कि मुख्यमंत्री सक्षम सुरक्षा योजना द्वारा महिलाओं को व्यापार करने के लिए ऋण और वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इसी दौरान उसकी मुलाकात मह...