दिनांक : 23-Feb-2024 05:13 AM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

Politics

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- हाईकोर्ट ने 56% आरक्षण रोक दिया तो 82% कैसे वैलिड होगा, CM बोले-यह 56-56 क्या है?

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- हाईकोर्ट ने 56% आरक्षण रोक दिया तो 82% कैसे वैलिड होगा, CM बोले-यह 56-56 क्या है?

Chhattisgarh, Politics, Raipur
आरक्षण विधेयकों को रोके जाने के खिलाफ राज्य सरकार की याचिका पर छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने राजभवन को नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही प्रदेश के राजनीतिक दलों का टकराव बढ़ता दिख रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक बयान में कहा, हाईकोर्ट ने ही जब 56% आरक्षण को रोक दिया तो वहां 82% आरक्षण कैसे वैलिड होगा। इसपर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, यह 56..56.. क्या है? रमन सिंह जी! यहां बात मोदी जी के स्वघोषित सीने के नाप की नहीं बल्कि आरक्षण की हो रही है। रायपुर हवाई अड्‌डे पर राजभवन को नोटिस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा, हाईकोर्ट के फैसले के आधार पर ही तो आरक्षण रुका हुआ है। हाईकोर्ट ने 56% आरक्षण को रोक दिया। जब 56% को रोक दिया तो 82% कैसे वैलिड हाेगा। ये तो सवाल उसी में था। उसी में मैसेज छिपा है। 56% को निरस्त करने वाला हा...
भानुप्रतापपुर उपचुनाव के नतीजे घोषित: सावित्री मंडावी ने बड़ी जीत दर्ज की

भानुप्रतापपुर उपचुनाव के नतीजे घोषित: सावित्री मंडावी ने बड़ी जीत दर्ज की

Politics, Rajnandgaon
छत्तीसगढ़ के भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस का कब्जा हो गया है। सावित्री मंडावी ने बड़ी जीत दर्ज कर ली है। उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को 21हजार171 वोटों से हराया है। इस बड़ी जीत के बाद कांग्रेस खेमे में जश्न का माहौल है। कांग्रेस दफ्तर के बाहर जमकर आतिशबाजी हो रही है। मिठाइयां बांटी जा रही हैं। यह लगातार पांचवा उपचुनाव है जिसमें कांग्रेस ने जीत हासिल की है। जीत के बाद सावित्री मंडावी ने रोड शो कर जनता का आभार जताया। वही भानुप्रतापुर उपचुनाव के नतीजों पर सीएम भूपेश बघेल ने बयान दिया कि नतीजा बता रहा है कि सरकार पर लोगों का भरोसा कायम है। वहां पर मनोज मंडावी के किए हुए काम पर मुहर लगी है। भाजपा को वहां दूसरे-तीसरे स्थान पर रहने के लिए भी कड़ा संघर्ष करना पड़ा। सीएम ने ट्विट कर भी जनता का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि यह सरकार के कामों पर जनता का विश्वास और स्व...
अनुसूचित जाति जनजाति संगठनो का अखिल भारतीय परिसंघ की छत्तीसगढ़ की प्रदेश कार्यकारिणी राष्ट्रीय अध्यक्ष उदितराज ने भंग की

अनुसूचित जाति जनजाति संगठनो का अखिल भारतीय परिसंघ की छत्तीसगढ़ की प्रदेश कार्यकारिणी राष्ट्रीय अध्यक्ष उदितराज ने भंग की

Chhattisgarh, India, Politics, Tribal Area News and Welfare
अनुसूचित जाति जनजाति संगठनो का अखिल भारतीय परिसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. उदितराज द्वारा परिसंघ की छत्तीसगढ़ प्रदेश कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। उदितराज द्वारा छत्तीसगढ़ परिसंघ की नई प्रदेश कार्यकारिणी के गठन हेतु अनिल मेश्राम भिलाई तथा सुरेन्द्र खूंटे कोरबा को राज्य संयोजक नियुक्त कर यथाशीघ्र राज्य कमेटी गठित करने के निर्देश दिये गये है, उन्होने उचित समन्वय स्थापित कर कमेटी गठन उपरांत निजीकरण के खिलाफ व संवैधानिक अधिकारो की रक्षा हेतु परिसंघ द्वारा जारी आंदोलन को गति प्रदान किये जाने का आव्हान भी किया है। नई कार्यकारिणी के गठन हेतु अनिल मेश्राम व सुरेन्द्र खूंटे को संयोजक नियुक्त किया गया संयोजक अनिल मेश्राम ने जानकारी देते हुए बताया कि बहुत जल्द प्रदेश के सभी जिलो के पूर्व अनुभवी व नये ऊर्जावान साथियो से संपर्क व समन्वय बनाकर एक संतुलित व मजबूत कार्यकारिणी का गठन किया जायेगा...
दुर्ग : बच्चा चोरी के शक में अलवर राजस्थान से आये तीन संदिग्ध लोगो की भीड़ ने की पिटाई

दुर्ग : बच्चा चोरी के शक में अलवर राजस्थान से आये तीन संदिग्ध लोगो की भीड़ ने की पिटाई

Chhattisgarh, Durg, India, Politics, Video
दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में राजस्थान के अलवर जिले से आये तीन संदिग्ध लोगो की पिटाई का मामला जानकारी में आया है। 6 अक्टूबर 2022 गुरूवार को तीन संदिग्ध लोग साधू-भगवा वेश धारण कर के दुर्ग जिले में भिक्षा मांग रहे थे, इसी दौरान कुछ स्थानीय लोगो की भीड़ जमा हुई, उन्होंने ने तीनो पर बच्चा चोरी की गतिविधियों में शामिल होने का संदेह किया और जम कर पिटाई की। गौरतलब है कि राजस्थान के अलवर जिले के ग्राम गोविंदगढ़ निवासी श्याम सिंह (23), राजबीर सिंह (28) और अमन सिंह (28) विजय दशमी के दिन गणेश चौक चरोदा भिलाई जिला दुर्ग में भिक्षा मांगने के निकले थे। भीड़ ने जम कर तीनो संदिग्ध की पिटाई की, खूब रसकसी और हाथापाई भी हुई। मौकाए वारदात पर पुरानी भिलाई थाने में पदस्थ सिपाही सुनील त्रिपाठी वहां पहुंचे और तीनो को सुरक्षित निकाल लिया। पुरानी भिलाई थाने में  घटना की जाँच हुई थाने में में पुलिस जांच ह...
खैरागढ़ विधानसभा सीट उपचुनाव: मंत्री रविंद्र चौबे और आबकारी मंत्री कवासी लखमा को जीत दिलाने का जिम्मा

खैरागढ़ विधानसभा सीट उपचुनाव: मंत्री रविंद्र चौबे और आबकारी मंत्री कवासी लखमा को जीत दिलाने का जिम्मा

Politics
राजनांदगांव जिले की खैरागढ़ विधानसभा सीट में उपचुनाव के लिए कांग्रेस की रणनीतिक तैयारियां तेज हैं। पार्टी ने कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे और आबकारी मंत्री कवासी लखमा को जीत दिलाने का जिम्मा सौंपा है। इन दोनों मंत्रियों को चुनाव संचालन समिति में रखा गया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने बताया, खैरागढ़ उप चुनाव के लिए पार्टी ने चुनाव संचालन समिति का गठन किया है। इसमें मंत्री रविंद्र चौबे और कवासी लखमा के साथ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव और राजनांदगांव जिला कांग्रेस के अध्यक्ष पदम कोठारी को जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी ने मंगलवार को ही खैरागढ़ ब्लॉक कांग्रेस की अध्यक्ष यशोदा वर्मा को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। 24 मार्च तक होना है नामांकन, 12 अप्रैल को मतदान निर्वाचन आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक उप चुनाव के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 24...
गांधी पर घिरे बाबा कालीचरण की गिरफ्तारी की कहानी: छत्तीसगढ़ पुलिस ने ऐसे पकड़ा कि मध्यप्रदेश को पता ही नहीं चला

गांधी पर घिरे बाबा कालीचरण की गिरफ्तारी की कहानी: छत्तीसगढ़ पुलिस ने ऐसे पकड़ा कि मध्यप्रदेश को पता ही नहीं चला

Chhattisgarh, Politics
राजधानी रायपुर में आयोजित धर्मसंसद में महात्मा गांधी को अपशब्द कहने तथा गोडसे को नमन करनेवाले कालीचरण को रायपुर पुलिस ने गुरुवार को मध्यप्रदेश के खजुराहो से गिरफ्तार कर लिया है। कालीचरण को वहां किराए के मकान से पकड़ा गया और फिर पुलिस वहां से सीधे लेकर देर शाम रायपुर आ गई। यहां मेडिकल टेस्ट के बाद कालीचरण को कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद उसे दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। इससे पहले, गुरुवार को उनके खिलाफ भावनाएं भड़काने के मामले में कार्रवाई करते हुए राजद्रोह का मुकदमा भी कायम कर दिया। कालीचरण की गिरफ्तारी के तुरंत बाद मध्यप्रदेश से राजनीतिक हलचल शुरू हुई, जब वहां भाजपा सरकार में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गिरफ्तारी के तरीके पर ऐतराज जताते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के गृहविभाग या फिर राज्य के सक्षम व्यक्ति को इसकी जानकारी देनी चाहिए थी। इस पर सीएम भूपेश बघेल ने तीखी आपत्ति करते ह...
राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने कहा- मॉडलिंग में फेल होकर संत बना है कालीचरण, RSS का छोड़ा हुआ तीर

राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने कहा- मॉडलिंग में फेल होकर संत बना है कालीचरण, RSS का छोड़ा हुआ तीर

Chhattisgarh, Politics
राजधानी रायपुर में आयोजित धर्म संसद में संत कालीचरण के महात्मा गांधी को अपशब्द कहने के बाद सियासी बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है। बुधवार को बिलासपुर पहुंचे छत्तीसगढ़ राज्य कृषक कल्याण परिषद के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने संत कालीचरण को RSS का छोड़ा हुआ तीर बताया है। उन्होंने कहा कि मॉडलिंग में फेल होने के बाद कालीचरण ने संत का रूपधारण किया है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का काला कारनामा नहीं चलेगा। उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। सुरेंद्र शर्मा यहां विभागीय समीक्षा बैठक लेने के बाद पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सत्य, अहिंसा और प्रेम का संदेश देने वाले गांधी जी को गाली देना कालीचरण का काला कारनामा था। उसे बहुत बड़ा दंड मिलना चाहिए। ताकि समाज में ऐसे कोई भी महापुरुषों पर अभद्र टिप्पणी करने से बचे। कालीचरण साधु नहीं है। वह रावण की तरह साधु बना और कालनेमी भी साधु बना था। का...
CDS रावत, दुर्घटना में शहीद सैन्य कर्मियों और दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद स्थगित हुई बैठक

CDS रावत, दुर्घटना में शहीद सैन्य कर्मियों और दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद स्थगित हुई बैठक

Politics
छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र का पहला दिन दिवंगत सैन्य कर्मियों और नेताओं की स्मृतियों के नाम रहा। सदन ने हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सैन्य कर्मियों के साथ मानसून सत्र से इस सत्र के बीच दिवंगत हुए जनप्रतिनिधियों और पूर्व सांसदो-विधायकों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद सत्र की कार्यवाही मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। सुबह सभागार में पहुंचते ही विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत को जन्मदिन की बधाई दी। औपचारिक शुरुआत के बाद विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह, पूर्व सांसद गोंदिल प्रसाद अनुरागी, पूर्व मंत्री राजिंदर पाल सिंह भाटिया, पूर्व संसदीय सचिव युद्धवीर सिंह जूदेव, अविभाजित मध्य प्रदेश में मंत्री रहे मूलचंद खंडेलवाल और अविभाजित मध्य प्रदेश में विधायक रहे मनुराम कच्छ के निधन का उ...
सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि महंगाई कम करना है तो भाजपा को हराओ, जनता ने उपचुनाव में महंगाई के खिलाफ मतदान किया

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि महंगाई कम करना है तो भाजपा को हराओ, जनता ने उपचुनाव में महंगाई के खिलाफ मतदान किया

Politics
छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा, लोकतंत्र में जनता से ताकतवर कोई और नहीं है। जनता ने उपचुनाव में महंगाई के खिलाफ मतदान किया और दूसरे ही दिन मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी कर दी। जहां पांच राज्यों में चुनाव हो रहे हैं, अगर वहां जनता ने भाजपा को हरा दिया तो फिर डीजल-पेट्रोल की कीमत यूपीए सरकार के समय के स्तर पर आ जाएगी। महंगाई को कम करना है तो भाजपा को हराना होगा। जनता को अपनी शक्ति पहचानने की जरूरत है। ये केंद्र की भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का अवसर है। बघेल ने कहा, राहुल गांधी ने बार-बार मोदी सरकार को नोटबंदी, जीएसटी व कोरोना के संबंध में चेताया था। राहुल गांधी ने तीन काले कानून के खिलाफ भी कहा था कि लिख के ले लो, तीनों काले कानून वापस होंगे। 14 महीने बाद कानून बाद वापस लेने पड़े। ये ताकत है किसानों की और राहुल गांधी की। उन्होंने कहा, गुजरात ने आजादी की लड़ाई में दो महास...
मुख्यमंत्री बोले- धर्मांतरण और साम्प्रदायिकता ये दो ही भाजपा के सबसे बड़े हथियार, समाज में जहर घोल रहे

मुख्यमंत्री बोले- धर्मांतरण और साम्प्रदायिकता ये दो ही भाजपा के सबसे बड़े हथियार, समाज में जहर घोल रहे

Chhattisgarh, Politics
छत्तीसगढ़ में बढ़ रही साम्प्रदायिक तनाव के मामलों पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा बयान है। मुख्यमंत्री बघेल ने गुरुवार को कहा, भाजपा के पास सरकार के खिलाफ मुद्दे नहीं हैं। अब धर्मांतरण और साम्प्रदायिकता ही उसके सबसे बड़े हथियार हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा समाज में जहर घोलने का काम कर रही है। छत्तीसगढ़ की जनता यह बात बर्दाश्त नहीं करेगी। बालाघाट रवाना होने से पहले रायपुर हवाई अड्‌डे पर प्रेस से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, छत्तीसगढ़ में ऐसा कोई वर्ग नहीं है जो सरकार से नाराज हो। अगर सरकार से कोई दुखी है तो वह है भारतीय जनता पार्टी। ऐसा इसलिए कि कांग्रेस ने उसे 14 सीटों पर सिमटने के लिए बाध्य कर दिया। अब उनके पास कोई हथियार नहीं बचा तब वे कभी धर्म के नाम पर और कभी सम्प्रदाय के नाम पर विवाद खड़ा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कवर्धा और रायपुर के टिकरापारा में धार्मिक झंडों को...