दिनांक : 23-May-2024 05:45 PM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

Kondagaon

कोण्डागांव: पारम्परिक वार्षिक मेले में पहुंचे देवी देवता, रीति-रिवाज से की गई पूजा अर्चना

कोण्डागांव: पारम्परिक वार्षिक मेले में पहुंचे देवी देवता, रीति-रिवाज से की गई पूजा अर्चना

Chhattisgarh, Dantewada, Kondagaon
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी कोण्डागांव के बड़े कनेरा में पारम्परिक वार्षिक मेला का आयोजन हुआ, जिसमें आसपास के आठ परगना के देवी देवता शामिल हुए। सभी देवी-देवताओं का स्वागत कर रीति-रिवाज के साथ मेले का विग्रह किया गया और एक जगह देवी देवताओं का शक्ति प्रदर्शन कराया गया। मेला में हर साल की तरह इस साल भी ग्राम पंचायत बड़े कनेरा की ओर से व्यापारी एवं दुकानदारों के लिये टैक्स फ्री कर विशेष रियायत देकर व्यापारी वर्ग के लोगों के लिए सुनियोजित सुविधा उपलब्ध कराई गई, वहीं पंचायत की ओर से सारी सुविधा भी दी गई। इस पारंपरिक वार्षिक मेला में किसी प्रकार की वारदातें एवं घटनाएं न होने पाये, उसके लिये ग्राम पंचायत की ओर से कोतवाली थाना कोण्डागांव को भी सूचना सुनिश्चित कराया गया, वहीं इस पारंपरिक मेले में इस बार भी लोगों ने ड्रेगन झूला, आकाश झूला, ब्रेकडांस झूला एवं छोटे-छोटे बच्चों के लिए विशेष झूला एवं ...
बस्तर लोकसभा के लिए कल होगा मतदान, पोलिंग बूथ पर वीडियो के माध्यम से निगरानी करेगा निर्वाचन आयोग, 80000 जवानो की फाॅर्स होगी तैनात

बस्तर लोकसभा के लिए कल होगा मतदान, पोलिंग बूथ पर वीडियो के माध्यम से निगरानी करेगा निर्वाचन आयोग, 80000 जवानो की फाॅर्स होगी तैनात

Chhattisgarh, Dantewada, India, Jagdalpur, Kondagaon, Tribal Area News and Welfare
लोकसभा चुनाव के पहले चरण में छत्तीसगढ़ की बस्तर सीट के लिए कल यानी 19 अप्रैल को मतदान होगा। इसे लेकर निर्वाचन आयोग ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है। खास बात यह है कि बस्तर के मतदान केंद्रों पर रायपुर के साथ-साथ दिल्ली से भी नजर रखी जाएगी। इसके लिए 811 मतदान केंद्रों में वेब कास्टिंग की व्यवस्था की गई है। इस तकनीकी के माध्यम से रायपुर में बैठे राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारी और दिल्ली में बैठे भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारी लाइव मॉनिटरिंग कर सकेंगे। इसके साथ ही सुरक्षा-व्यवस्था के लिए 80 हजार जवानों की तैनाती की जा रही है। इनमें 35 हजार जवान सेंट्रल फोर्स के हैं। 1961 मतदान केंद्र, इनमें 156 संवेदनशील बस्तर लोकसभा में 1961 मतदान केंद्र है। इन मतदान केंद्रों में से 159 मतदान केंद्र नो नेटवर्क जोन में है। इनमें से 90 केंद्रों में सूचना देने के लिए वॉकी-टॉकी की व्यवस्था की है। जबकि 69 अंदरूनी मतदा...
मंत्री मरकाम ने कोण्डागांव जिले की विभिन्न ग्राम पंचायतों में किया विकास कार्यों का भूमिपूजन-लोकार्पण

मंत्री मरकाम ने कोण्डागांव जिले की विभिन्न ग्राम पंचायतों में किया विकास कार्यों का भूमिपूजन-लोकार्पण

Kondagaon
आदिम जाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक विकास मंत्री श्री मोहन मरकाम ने आज कोण्डागांव जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में आयोजित कार्याक्रमों में शामिल हुए। उन्होंने ग्राम कमेला, बड़ेकनेरा एवं धनपुर में 86 वन अधिकार पत्रों का वितरण किया। इनमें ग्राम पंचायत कमेला में 27, ग्राम पंचायत बड़ेकनेरा में 34 और ग्राम पंचायत धनपुर में 25 हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र का वितरण किया। मंत्री श्री मरकाम ने शासकीय हाई स्कूल बफना में सरस्वती साइकिल योजना के तहत 45 स्कूली छात्राओं को निःशुल्क साइकिल का वितरण भी किया। मंत्री श्री मरकाम ने विभिन्न ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों का भूमि पूजन एवं लोकार्पण भी किया गया। उन्होंने ग्राम पंचायत बडेकनेरा में सीसी सड़क एवं नाली निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया। ग्राम पंचायत बफना में सीसी सड़क कार्य का लोकार्पण। मंत्री श्री मरकाम ने ग्राम पंचायत खड़का में...
कोण्डागांव जिले के कोकोड़ी में 141 करोड़ रूपए की लागत से बन रहा मक्का प्रोसेसिंग प्लांट

कोण्डागांव जिले के कोकोड़ी में 141 करोड़ रूपए की लागत से बन रहा मक्का प्रोसेसिंग प्लांट

Chhattisgarh, Kondagaon
छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य के मक्का उत्पादक कृषकों विशेषकर बस्तर अंचल के कृषकों को उनकी उपज का बेहतर लाभ सुनिश्चित करने के उद्देश्य से कोण्डागांव जिले के कोकोड़ी गांव में मक्का से एथेनॉल बनाए जाने के लिए प्रोसेसिंग प्लांट का निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। 140 करोड़ 67 लाख रूपए की लागत से बन रहा यह प्रोसेसिंग प्लांट आगामी दो माह में बनकर तैयार हो जाएगा। बस्तर संभाग के कमिश्नर श्री श्याम धावड़े ने आज ग्राम कोकोड़ी पहुंचकर निर्माणाधीन प्रोसेसिंग प्लांट का निरीक्षण किया। यह प्रोसेसिंग प्लांट मां दन्तेश्वरी मक्का प्रसंस्करण सहकारी समिति की देखरेख में संचालित होगा। कमिश्नर श्री धावड़े ने इस मौके पर अधिकारियों को सभी तकनीकी मापदण्डों का पालन करते हुए प्लांट का निर्माण समय-सीमा में पूरा कराए जाने के निर्देश दिए। गौरतलब है कि प्रदेश का सबसे बड़ा एथेनॉल प्लांट कोंडागांव जिले के कोकोड़ी में स्थापित...
कोंडागांव : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 154 करोड़ रूपये से अधिक लागत के 145 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया

कोंडागांव : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 154 करोड़ रूपये से अधिक लागत के 145 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया

Kondagaon
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल माध्यम से कोंडागांव जिले में 154 करोड़ रूपये से अधिक लागत के 145 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज यहां अपने निवास कार्यालय से कोंडागांव जिले के ग्राम बांसकोट (बड़ेराजपुर ) में आयोजित भक्त माता कर्मा जयंती एवँ मुख्यमंत्री कन्या विवाह कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शामिल हो रहे हैं इस अवसर पर पारंपरिक, सांस्कृतिक धरोहर स्थलों जैसे देवगुड़ी, मातागुड़ी एवं घोटुल की भूमि को संरक्षित रखने हेतु  कुल 436 सामुदायिक वन अधिकार पत्र प्रदान किये गए । साथ ही साहू समाज के प्रतिभावान युवाओं को भी सम्मानित किया गया। गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, महिला एवँ बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिया, छत्तीसगढ़ तेलघानी विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री संदीप साहू, लोकगायिका सुश्री आर...
छत्तीसगढ़ का पहला एथेनॉल प्लांट कोण्डागांव के कोकोड़ी में ले रहा आकार

छत्तीसगढ़ का पहला एथेनॉल प्लांट कोण्डागांव के कोकोड़ी में ले रहा आकार

India, Kondagaon
प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप कोण्डागांव जिले के कोकोड़ी में मक्का प्रसंस्करण पर आधारित राज्य का पहला एथेनाल प्लांट अब मूर्त रूप ले रहा है। मक्का प्रसंस्करण प्लांट जून 2023 तक पूर्ण किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मक्का प्रसंस्करण प्लांट जिले के मक्का उत्पादक किसानों की आर्थिक समृद्धि का द्वार खोलेगा। इससे करीब 45 हजार से ज्यादा किसान सीधे लाभान्वित होंगे। इसके साथ ही समीपस्थ अन्य जिले के मक्का उत्पादक किसानों के मक्का का प्रसंस्करण किया जाएगा। साथ ही मक्का प्रसंस्करण प्लांट में क्षेत्र के लगभग 200 से ज्यादा लोगों को सीधे रोजगार मिलेगा। छत्तीसगढ़ सरकार की उद्योग नीति में कृषि और वनोपज आधारित उद्योगों की स्थापना को विशेष प्राथमिकता श्रेणी में रखा गया है। कोण्डागांव जिले में 140 करोड़ रूपए लागत से बन रहा मक्का प्रोसेसिंग प्लांट किसानों का जीवन संवारेगा। रा...
तातापानी महोत्सव: खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने किया समापन, बॉलीवुड सिंगर शान के गानों से मंत्रमुग्ध हुए दर्शक

तातापानी महोत्सव: खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने किया समापन, बॉलीवुड सिंगर शान के गानों से मंत्रमुग्ध हुए दर्शक

Chhattisgarh, Kondagaon
बलरामपुर के ऐतिहासिक स्थल तातापानी में आयोजित तीन दिवसीय महोत्सव का आज रंगारंग समापन होगा। महोत्सव का समापन खाद्य एवं संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत के मुख्य आतिथ्य तथा सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री बृहस्पत सिंह की अध्यक्षता एवं संसदीय सचिव श्री चिंतामणी महाराज की विशिष्ट आतिथ्य में संपन्न होगा। समापन समारोह के बाद मशहूर भोजपुरी कलाकार काजल राघवानी एवं मोहन राठौर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे। इसके पहले स्कूली बच्चे नृत्य के माध्यम से मंच पर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे और नृत्य के माध्यम से छत्तीसगढ़ की कला एवं संस्कृति को प्रदर्शित करेंगे। इसके पहले तातापानी महोत्सव के दूसरे दिन आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों में स्कूली बच्चों, स्थानीय कलाकारों और बॉलीवुड के कलाकारों ने मंच साझा किया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरूआत जिले के स्कूली बच्चों के न...
छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटी गौर-लाटा को पर्यटन स्थल बनाने की मुख्यमंत्री ने की है घोषणा

छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटी गौर-लाटा को पर्यटन स्थल बनाने की मुख्यमंत्री ने की है घोषणा

Chhattisgarh, Kondagaon, Tourism, Tribal Area News and Welfare, Vishesh Lekh
छत्तीसगढ़ के उत्तरी छोर पर स्थित सबसे ऊंची चोटी गौरलाटा पर्यटन के लिहाज से अविश्वसनीय स्थान है। स्थानीय स्तर पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा यहां लगातार प्रयास किया जा रहा था। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कलेक्टर श्री विजय दयाराम गौर-लाटा के स्थानीय निवासियों को रोजगार के नए संसाधनों के अवसर उपलब्ध कराने के लिए नई कार्ययोजना भी तैयार कर रहे थे। अब इन सभी बातों को तेजी से गति मिलेगी क्यूंकि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गौर-लाटा के महत्व को देखते हुए इसे पर्यटन स्थल के रूप मे विकसित करने की घोषणा की है। छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटी के रूप में है विख्यात गौर-लाटा 1225 मीटर ऊंची गौर-लाटा छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटी है और भौगोलिक संरचना के अनुसार पाट प्रदेश से संबंधित है। इस चोटी से छत्तीसगढ़ और झारखंड की सीमा पर स्थित बड़े वन क्षेत्र की अद्भुत खूबसूरती नजर आती है। इस पहाड़ी...
कोण्डागांव: मनरेगा अंतर्गत छत्तीसगढ़िया सांस्कृतिक जागरूकता ,लोक पर्व छेर-छेरा एवं पुन्नी मना रहे हैं श्रमिक

कोण्डागांव: मनरेगा अंतर्गत छत्तीसगढ़िया सांस्कृतिक जागरूकता ,लोक पर्व छेर-छेरा एवं पुन्नी मना रहे हैं श्रमिक

Chhattisgarh, Kondagaon
जिले के जनपद पंचायत फरसगांव अंतर्गत ग्राम पंचायत बड़ेडोंगर में चल रहे मनरेगा कार्य समुदाय के लिए परती भूमि का विकास कार्य में संलग्न मनरेगा मजदूरों के द्वारा छेरिक-छेरा पर्व मनाया गया, जो छत्तीसगढ़ की संस्कृति का एक प्रतीक है। यह उत्सव कृषि प्रधान संस्कृति में दानशीलता की परंपरा को याद दिलाता है उत्साह एवं उमंग से जुड़ा छत्तीसगढ़ का मानस लोकपर्व के माध्यम से सामाजिक समरसता को सुदृढ़ करने के लिए आदिकाल से संकल्पित रहा है इस दौरान लोग घर-घर जाकर अन्न का दान मांगते हैं।  वहीं गांव के युवक घर-घर जाकर डंडा नृत्य करते हैं लोक परंपरा के अनुसार पौष महीने की पूर्णिमा को प्रतिवर्ष छेरछेरा का त्यौहार मनाया जाता है इस दिन सुबह से ही बच्च,े युवक व युवतियां हाथ में टोकरी, बोरी आदि लेकर घर-घर छेरछेरा मनाते हैं। वहीं युवाओं की टोली डंडा नृत्य कर घर-घर पहुंचती है धान मिसाई खत्म हो जाने के चलते गांव में घर-घर धा...
कोण्डागांव : ‘मया मंडई‘ और ‘युवोदय कोंडानार चैंप्स‘ के एक वर्ष पूर्ण हुए

कोण्डागांव : ‘मया मंडई‘ और ‘युवोदय कोंडानार चैंप्स‘ के एक वर्ष पूर्ण हुए

Chhattisgarh, Kondagaon
जिले में नियमित टीकाकरण, एनीमिया जागरूकता, मानसिक स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग, सरकारी योजनाओं के लाभ दिलवाने हेतु जिले के ऊर्जावान स्वयं सेवी युवाओं को एक मंच प्रदान करने हेतु 10 दिसम्बर 2021 को कोण्डागांव जिला प्रशासन एवं यूनिसेफ द्वारा संयुक्त अभियान के रूप में जिले भर में ‘युवोदय कोंडानार चैंप्स‘ कार्यक्रम तथा नियमित टीकाकरण, एनीमिया जागरूकता हेतु जिले में ‘मया मड़ई‘ कार्यक्रम की शुरुआत की गई। ‘मया मड़ई‘ कार्यक्रम का उद्देश्य जिले को एनीमिया मुक्त बनाने में सहयोग करना, नियमित टीकाकरण में सुदृढ़ता लाना तथा ‘युवोदय कोंडानार चैंप्स‘ का उद्देश्य एनीमिया मुक्ति, नियमित टीकाकरण प्रोत्साहन शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग करना, लोगों को मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने हेतु आओ बात करें की थीम पर सामुदायिक बैठक आयोजित कर समुदाय को जागरूक करना, नशामुक्ति अभियान चलना, सरकारी योजनाओं का लाभ दि...