दिनांक : 24-May-2024 08:41 AM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विभिन्न समाज के प्रमुखों और संगठनों के पदाधिकारियों से सौजन्य मुलाकात की

04/01/2021 posted by Priyanka (Media Desk) Chhattisgarh    

रायपुर. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर भ्रमण के दौरान 3 जनवरी रविवार को न्यू सर्किट हाउस में विभिन्न सामाजिक, युवा, खेल संगठनों, समाज प्रमुखों, अधिवक्ता संघ के पदाधिकारियों और शहर के गणमान्य नागरिकों से सौजन्य मुलाकात की।

इस दौरान श्री बघेल ने लोगों से नये साल की शुभकामनाओं का आदान-प्रदान किया। विभिन्न संगठनों ने मुख्यमंत्री के बिलासपुर प्रवास के दौरान उनके द्वारा लगभग 650 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात देने के लिये बिलासपुर वासियों की ओर से उनका आभार माना। मुख्यमंत्री ने बिलासपुर की जीवनदायिनी अरपा नदी के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये 100 करोड़ रूपये लागत के दो बैराज का भूमिपूजन किया। जिसके बनने से भविष्य में नदी में बारहो महीने पानी रहेगा और शहर के जलस्तर में वृद्धि होगी, जिससे शहरवासियों को जलसंकट से मुक्ति मिलेगी।

मुलाकात के दौरान सिंगरौल समाज द्वारा मुख्यमंत्री सहायता कोष के लिये 52 हजार 100 रूपये का चेक श्री बघेल को भेंट किया गया। मुख्यमंत्री ने सिंगरौल समाज और जिला अधिवक्ता संघ के नये कैलेण्डर का विमोचन किया। कोटा क्षेत्र के ग्राम शिवतराई की महिला स्व-सहायता समूह की बहनों ने सौजन्य मुलाकात कर गौठान से वर्मी कम्पोस्ट खाद के उत्पादन की जानकारी दी। मुख्यमंत्री की मंशानुरूप गौठान को आजीविका ठौर के रूप में विकसित किया जा रहा है। इससे स्व-सहायता समूहों की आमदनी में बढ़ोत्तरी भी हो रही है। राज्य सरकार द्वारा वर्मी कम्पोस्ट खाद प्रति किलोग्राम 8 रूपये से बढ़ाकर 10 रूपये कर दिया गया है। जिसके लिये समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

सौजन्य भेंट के दौरान लोक निर्माण, गृह, जेल, धर्मस्व, पर्यटन तथा जिले के प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संभागायुक्त डॉ.संजय अलंग, पुलिस महानिरीक्षक श्री रतन लाल डांगी, कलेक्टर डॉ.सारांश मित्तर, पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।