Rajnandgaon - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: Rajnandgaon

राजनांदगांव: होटल कारोबारी का बेटा महाराष्ट्र से बरामद, रोज की डांट-फटकार से नाराज होकर वेटर ने किडनैप किया था

राजनांदगांव: होटल कारोबारी का बेटा महाराष्ट्र से बरामद, रोज की डांट-फटकार से नाराज होकर वेटर ने किडनैप किया था

छत्तीसगढ़
राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव सेहोटल कारोबारी के किडनैप बच्चे को पुलिस ने खोज निकाला। जिले से सटेमहाराष्ट्र के एक गांव सेबच्चे को किडनैपर के चंगुल से छुड़ाया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी युवक बच्चे के पिता के होटल में ही वेटर का काम करता था। घटना को उसने अपने साथियों के साथ अंजाम दिया।सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल लोकेशन की मदद से पुलिस आरोपियों तक पहुंची और बच्चे का रेस्क्यू कामयाब रहा। डांटता था कारोबारी, इसलिए बच्चे को किया किडनैप जब पुलिस आरोपियों तक पहुुंची तो टीमको देख तीन आरोपी अक्षय सहारे, कामेश कावड़े और इनका एक नाबालिग साथी भागने लगे। इन सभी को पुलिस ने पीछाकर गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि कारोबारी विनोद लुल्ला की डांट-फटकार से तंग आकरउसने सबक सिखाने की सोची। इसके लिए अपने साथियों के साथ मिलकर प्लानिंग बनाई। बच्चे के घर के बाहर निकलनेपर नजर रखी।म
राजनांदगांव: कारोबारी और भाजपा नेता के बेटे को घर के सामने से बाइक सवार ने किया अपहरण, पूरे शहर में नाकेबंदी

राजनांदगांव: कारोबारी और भाजपा नेता के बेटे को घर के सामने से बाइक सवार ने किया अपहरण, पूरे शहर में नाकेबंदी

छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर में रविवार शाम कारोबारी के बेटे का अपहरण कर लिया गया। दो बाइक सवारों ने घर के सामने खेल रहे बच्चे को उठा लिया और फरार हो गए। अब पुलिस ने सारे शहर को सील कर तलाश शुरू कर दी है। घटनास्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी से वीडियो फुटेज निकालने की कोशिश भी जारी है। बच्चे की उम्र 8 साल है। पुलिस ने बताया कि भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व अध्यक्ष और कारोबारी विनोद लुल्ला का बेटा नैतिक लुल्ला शाम 6 बजे दोस्तों के साथ खेल रहा था, तभी बाइक पर सवार दो नकाबपोशों ने उसे किडनैप कर लिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, बाइक का नंबर महाराष्ट्र का था। एसएसपी बीएस ध्रुव ने बताया कि नाकेबंदी कर जांच शुरू कर दी गई है। जिले व पड़ोसी जिले की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। लुल्ला परिवार न्यू खंडेलवाल काॅलोनी के ममता नगर इलाके में रहता है।
मैच के दौरान हुई थी मारपीट, राजनांदगांव व बिलासपुर के हॉकी खिलाड़ियों पर लगा बैन

मैच के दौरान हुई थी मारपीट, राजनांदगांव व बिलासपुर के हॉकी खिलाड़ियों पर लगा बैन

sports, video, छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव स्थित अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में खेले गए मैच में विवाद हुआ था । अब चौथे राज्य स्तरीय सीनियर पुरुष एवं महिला हॉकी टूर्नामेंट में मैच के दौरान मारपीट करने वाले खिलाड़ियों के साथ ही अंपायरों के विरुद्ध भी कार्रवाई की गई है। हॉकी इंडिया के निर्देश पर सेमी फाइनल मैच में मारपीट करने वाली राजनांदगांव और बिलासपुर की दोनों टीम के सभी खिलाड़ियों को एक साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। https://youtu.be/WKBHX8wbCYc अब यह खिलाड़ी एक साल तक कहीं भी मैच नहीं खेल पाएंगे। छत्तीसगढ़ हॉकी की ओर से पांच खिलाड़ियों के अलावा आयोजन समिति की रिपोर्ट के आधार पर मैच के अम्पायर शकील अहमद और अभिनव मिश्रा को एक साल के लिए निलंबित कर दिया है। इन पर अनुशासनहीनता के चलते यह कार्रवाई की गई है। छत्तीसगढ़ हॉकी के अध्यक्ष फिरोज अंसारी ने बताया कि छत्तीसगढ़ हॉकी की
छत्तीसगढ़: अगर धरती में कही भगवान है तो वो माँ है, ‘चोला माटी के हे राम’ गाकर लोकगायिका माँ ने बेटे को अंतिम विदाई दी

छत्तीसगढ़: अगर धरती में कही भगवान है तो वो माँ है, ‘चोला माटी के हे राम’ गाकर लोकगायिका माँ ने बेटे को अंतिम विदाई दी

video, छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | इस संसार में माँ को भगवान का दर्जा दिया गया है। माँ ही वो शख्श है जो अपनी दुःख को छुपाकर अपने बच्चे को संसार की सारी खुशियाँ देती है। इसे इस तरह कहना ज्यादा अच्छा होगा, एक माँ के लिए उसका बच्चे की ख़ुशी ही संसार की सबसे बड़ी ख़ुशी होती है। पर जब माँ का यही सुख उससे दूर हो जाता है तो उस दुःख कई कल्पना करना अत्यंत कठिन है। छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में ऐसी ही एक मर्मस्पर्शी घटना घटी। जिसने सभी के आँखों में आंसू ला दिए। जिले के रंगकर्मी और लोक संगीतकार सूरज तिवारी (30) का शनिवार को निधन हो गया। सूरज की इच्छा के अनुसार अंतिम यात्रा गीत और संगीत के साथ निकाली गई। घर से शव यात्रा निकलने से पहले लोक कलाकार मां पूनम तिवारी ने बेटे की अर्थी के सामने उसकी इच्छानुसार जीवन की सच्चाई पर आधारित लोकगीत 'चोला माटी के हे राम, एखर का भरोसा' गाकर अंतिम विदाई दी। https://youtu.be/8
छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल के पिता ने की दशानन और महिषासुर की पूजा, 124 गांवों में रावण दहन नहीं करने का संकल्प

छत्तीसगढ़: सीएम भूपेश बघेल के पिता ने की दशानन और महिषासुर की पूजा, 124 गांवों में रावण दहन नहीं करने का संकल्प

politics, छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंदकुमार बघेल ने दशहरे के दिन रावण की पूजा की। सर्व आदिवासी समाज के कार्यक्रम में उन्होंने महिषासुर और मेघनाद का शहादत दिवस मनाया। आदिवासी नेता सुरजू टेकाम ने रावण दहन न करने का प्रस्ताव रखा। कार्यक्रम में तय किया गया कि क्षेत्र के 124 गांवों में रावण दहन में कोई भी आदिवासी शामिल नहीं होगा, न ही कोई सहयोग देगा, क्योंकि आदिवासी रावण को अपना पुरखा मानते हैं। वोट हमारा राज तुम्हारा, यह नहीं चलेगा: नंद कुमार वोट हमारा-राज तुम्हारा, यह नहीं चलेगा। प्रदेश में आए तमाम उच्च वर्ग के लोगों गिन-गिन के दफ्तरों से निकाला जाए और हमारे बच्चों को नौकरी दी जाए। यह हमारी अंतिम लड़ाई है। अब चाहे इसे नक्सलवाद कहिए या कोई भी वाद कहिए। हम हक और अधिकार की लड़ाई लडेंगे। जब भी आप पर कोई संकट आए मैं यहां आने के लिए तैयार हूं। आप लोगों (आदिवासियों
छत्तीसगढ़: फोटो लेने की कोशिश में बम्लेश्वरी पहाड़ी से 700 फीट नीचे गिरा युवक, हालत गंभीर

छत्तीसगढ़: फोटो लेने की कोशिश में बम्लेश्वरी पहाड़ी से 700 फीट नीचे गिरा युवक, हालत गंभीर

छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के राजनांगदगांव में बुधवार सुबह एक युवक फोटो लेने की कोशिश में बम्लेश्वरी पहाड़ी से नीचे जा गिरा। हालांकि नीचे जंगल होने के कारण युवक पेड़ में फंस गया। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई और जवानों ने उसे बाहर निकला। युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि आसपास की फोटो लेेने के दौरान युवक का पैर फिसल गया। बम्लेश्वरी पहाड़ी की ऊंचाई करीब 700 फीट है। पत्नी और बेटी के साथ आया था दर्शन करने जानकारी के मुताबिक, हिर्री थाना क्षेत्र के ग्राम खैरा निवासी रामखिलावन साहू (45) अपनी पत्नी और बेटी के साथ बुधवार को मां बम्लेश्वरी मंदिर में दर्शन करने आया था। दर्शन करने के बाद रामखिलावन आस-पास नजारे देखने लगा। फोटो खींचने वो एक पहाड़ी के पास पहुंच गया। फोटो खींचने के दौरान ही अचानक उसका पैर फिसला और वो पहाड़ी
नवरात्रि विशेष: जानिए राजनांदगांव स्थित बर्फानी धाम और माँ पाताल भैरवी का विशाल मंदिर

नवरात्रि विशेष: जानिए राजनांदगांव स्थित बर्फानी धाम और माँ पाताल भैरवी का विशाल मंदिर

tourism, video, छत्तीसगढ़
बर्फानी धाम छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव शहर में एक विशाल हिन्दू मंदिर है। यह दुर्ग से 40 किलोमीटर (25 मिनट) दूर है। एक बड़ा शिवलिंग मंदिर के शीर्ष पर देखा जा सकता है, जबकि एक बड़ी नंदी की प्रतिमा सामने खड़ी है। मंदिर का निर्माण तीन स्तरों में किया गया है। सबसे नीचे माँ पाताल भैरवी का मंदिर है। दूसरा मंजिल में नवदुर्गा या त्रिपुरा सुंदरी माता का मंदिर है और सबसे ऊपर शिव जी का मंदिर है। वीडियो देखे https://youtu.be/56bBWe_72YI बर्फानी धाम राजनांदगाव कैसे पहुंचे सड़क मार्ग से: पाताल भैरवी देवी मंदिर राजनंदगांव में आशा नगर के पास स्थित है। यह राजनांदगांव बस स्टेशन से सिर्फ 5 किमी दूर स्थित है। यह लोकप्रिय रूप से बरफ़ानी धाम या पाताल भैरवी मंदिर के नाम से जाना जाता है। ट्रेन से: सीधे लोकल या पैसेंजर ट्रेने रायपुर से उपलब्ध हैं। राजनांदगांव रायपुर से 89 किमी (1:30 घंटे) दूर
नवरात्रि विशेष : माँ बम्लेश्वरी माता मंदिर डोंगरगढ़, राजनांदगाव के बारे में जानिए

नवरात्रि विशेष : माँ बम्लेश्वरी माता मंदिर डोंगरगढ़, राजनांदगाव के बारे में जानिए

tourism, छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में स्थित है मां बम्लेश्वरी का भव्य मंदिर। पहाड़ों से घिरे होने के कारण इसे पहले डोंगरी और अब डोंगरगढ़ के नाम से जाना जाता है। यहां ऊंची चोटी पर विराजित बगलामुखी मां बम्लेश्वरी देवी का मंदिर। छत्तीसगढ़ ही नहीं देश भर के श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केन्द्र बना हुआ है। हजार से ज्यादा सीढिय़ां चढ़कर हर दिन मां के दर्शन के लिए वैसे तो देश के कोने-कोने से श्रद्धालु यहां आते हैं लेकिन नवरात्रि के दौरान अलग ही दृश्य होता है। जो ऊपर नहीं चढ़ पाते उनके लिए मां का एक मंदिर पहाड़ी के नीचे भी है जिसे छोटी बम्लेश्वरी मां के रूप में पूजा जाता है। अब मां के मंदिर में जाने के लिए रोप वे भी लगाया गया है। मंदिर का इतिहास लगभग ढाई हजार वर्ष पूर्व इसे कामाख्या नगरी के नाम से जाना जाता था। यहाँ राजा वीरसेन का शासन था। वे नि:संतान थे। संतान की कामना के लिए उन
छत्तीसगढ़: प्रदेश स्तरीय पोला उत्सव पर बैल दौड़ का आयोजन मड़ियापार में किया गया, 36 गांव के ग्रामीणो ने लिया भाग

छत्तीसगढ़: प्रदेश स्तरीय पोला उत्सव पर बैल दौड़ का आयोजन मड़ियापार में किया गया, 36 गांव के ग्रामीणो ने लिया भाग

छत्तीसगढ़
राजनांदगाव (एजेंसी) | प्रदेश स्तरीय पोला उत्सव पर बैल दौड़ का आयोजन मड़ियापार में 30 अगस्त को बड़ी धूमधाम से किया गया। यह आयोजन का 56वां वर्ष है, जिसमें आसपास के 36 गांवों के लाेग शामिल हुए। शास्त्री नवयुवक मंडल द्वारा आयोजित स्पर्धा में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, सांसद विजय बघेल मुख्य रूप से शामिल हुए। https://youtu.be/ZrXfURV44lU संयोजक डॉ. सुनील साहू ने बताया कि पिछले 15 वर्षों में मड़ियापार उत्सव की प्रसिद्धी बढ़ी है। पारंपरिक त्योहार पोला को राष्ट्रीय पहचान दिलाने के उद्देश्य से इसकी शुरुआत की गई है। महोत्सव इस वर्ष कुपोषण से बचाओ व जल शुद्धीकरण का संदेश देगा। 101 बैल स्पर्धा में भाग लिया। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, विक्रमादित्य जूदेव, जया सिंह जूदेव, पद्मश्री शमशाद बेगम, राजेश यादव, राजेंद्र साहू, ओपी चौधरी भी अतिथि थे।
महाराष्ट्र की सीमा से लगे हुए गांव में जवानों के साथ मुठभेड़ में 7 नक्सली मारे गए

महाराष्ट्र की सीमा से लगे हुए गांव में जवानों के साथ मुठभेड़ में 7 नक्सली मारे गए

छत्तीसगढ़
राजनांदगांव (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में शनिवार को डिस्ट्रिक्ट रिजर्व ग्रुप (डीआरजी) के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें 7 नक्सली मारे गए। मौके से भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद किया गया। छत्तीसगढ़ के पुलिस प्रमुख डीएम अवस्थी ने मुठभेड़ में 7 नक्सलियों के मारे जाने की पुष्टि की। जानकारी के मुताबिक, डीआरजी के जवान शनिवार सुबह 8 बजे बागनदी इलाके में सर्चिंग के लिए निकले थे। इस दौरान जवानों को महाराष्ट्र सीमा से सटे शेरपार और सीतागोटा के बीच पहाड़यों में नक्सलियों के छिपे होने की सूचना मिली। इसके लिए डीआरजी के साथ ही छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स (सीएएफ) और जिला पुलिस बल को रवाना किया गया। इसके बाद जवानों ने नक्सलियों पर धावा बोला। कार्रवाई में सात नक्सली मारे गए। जवानों ने नक्सलियों के शवों को बरामद कर लिया है। एके-47, समेत बड़ी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ।