दिनांक : 14-Jul-2024 08:19 PM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

मंत्री डॉ डहरिया : खेल को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य कर रही राज्य सरकार

14/02/2021 posted by Priyanka (Media Desk) Chhattisgarh    

बलौदाबाजार. नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने बलौदाबाजार में आयोजित स्व श्री कमलेश गर्ग स्मृति क्रिकेट प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि क्रिकेट जैसे खेलों का बहुत महत्व होता है। इसलिए यह खेल बहुत लोकप्रिय है और गांव से लेकर शहर तक के सभी छोटे-बड़े लोग इस खेल को खेलते हैं। यह खेल जितना खेलने में अच्छा लगता है,उतना हीं इसे देखने में भी आनंद आता है। इससे शारीरिक विकास के साथ खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा कि बलौदाबाजार क्षेत्र में इस तरह का आयोजन ग्रामीण प्रतिभाओं को उभारने में भी महत्वपूर्ण साबित होगा।

बलौदाबाजार के चक्रपाणी हाई स्कूल खेल मैदान में मंत्री डॉ.डहरिया ने प्रतियोगिता का शुभारंभ खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर और बैटिंग तथा टॉस कर किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार भी खेल और खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने की दिशा में कार्य कर रही है। खेल एवं युवा कल्याण विभाग के माध्यम से खेल का आयोजन ब्लॉक, जिला और राज्य स्तर पर होता है। खेल का आयोजन निश्चित ही सरकार और विभाग द्वारा होने वाले खेल व आयोजन से जुड़ने का अवसर देते है। सरकार द्वारा खेल को बढ़ावा देने के साथ खेल मैदानों को भी विकसित किया जा रहा है। उन्होंने खिलाड़ियों को खेल भावना से खेलने और हार-जीत पर निराश नहीं होने की अपील की।

आयोजन स्थल पर स्व श्री कमलेश गर्ग को भी याद किया गया। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर 111111 रुपए, द्वितीय स्थान पर 55555 रुपए के साथ शील्ड और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्य के 64 टीमों ने भाग लिया है। मुख्य अतिथि डॉ डहरिया ने खिलाड़ियों का सम्मान भी किया। इस दौरान कृषक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र शर्मा, श्री हितेन्द्र ठाकुर, पूर्व विधायक श्री जनक राम वर्मा, श्री विद्याभूषण शुक्ला, श्री दिनेश यदु, रूपेश ठाकुर, विक्रम गिरी आदि उपस्थित थे।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।