delhi - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: delhi

अयोध्या का फैसला: सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों की तारीफ की, कहा- उनकी दलीलों ने सत्य और न्याय तक पहुंचाने में मदद की

अयोध्या का फैसला: सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों की तारीफ की, कहा- उनकी दलीलों ने सत्य और न्याय तक पहुंचाने में मदद की

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अयोध्या मामले में फैसला सुनाते समय पैरवी करने वाले वकीलों की तारीफ की। अदालत ने हिंदू पक्ष के वकील और पूर्व अटार्नी जनरल के परासरन (92), वकील सीएस वैद्यनाथन के साथ मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को फैसला लिखने में मददगार बताया। अदालत ने कहा- वकीलों की तार्किक बहस से जटिल मुद्दे को समझने में मदद मिली और 1045 पन्नों का फैसला लिखा जा सका। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में 5 जजों की बेंच ने कहा, “हम बहस की अगुवाई करने वाले के परासरन और राजीव धवन के प्रयासों की सराहना करते हैं। काम के प्रति उनकी ईमानदारी और अदालत में अपने पक्ष में उनकी स्पष्ट दलीलों ने अदालत की सुनवाई को जीवंत बनाए रखा। उनकी वजह से ही सभी पक्ष सत्य और न्याय की खोज में शामिल हुए।” सबरीमला मंदिर मामले में परासरन ने पैरवी की परासरन ने सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश
पीएम मोदी ने कहा- दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया खत्म हुई, दुनिया को हमारे जीवंत लोकतंत्र के बारे में पता चला

पीएम मोदी ने कहा- दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया खत्म हुई, दुनिया को हमारे जीवंत लोकतंत्र के बारे में पता चला

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार शाम राष्ट्र के नाम संबोधन दिया। उन्होंने कहा कि दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया आज खत्म हुई। इससे दुनिया को हमारे जीवंत लोकतंत्र के बारे में पता चला है। अयोध्या के फैसले को देश ने खुले दिल से स्वीकार किया। यह विविधता में हमारी एकता है। सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या की विवादित जमीन पर ट्रस्ट के जरिए मंदिर बनाने और मस्जिद के लिए अयोध्या में 5 एकड़ जमीन देने का आदेश दिया है। इससे पहले मोदी ने ट्वीट किया था कि फैसले को किसी की हार या जीत के लिहाज से न देखा जाए। न्याय के मंदिर ने दशकों साल पुराने विवाद को सुलझा दिया है। सभी नागरिकों को राष्ट्र भक्ति की भावना को बनाए रखने पर बल देना चाहिए। मोदी ने कहा, ''सुप्रीम कोर्ट ने महत्वपूर्ण मामले पर फैसला सुनाया, जिसके पीछे सैकड़ों साल का दीर्घका
वीडियो देखें: दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच मारपीट की ये थी वजह

वीडियो देखें: दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच मारपीट की ये थी वजह

india, video
दिल्ली (एजेंसी) | दिल्ली की तीस हजारी अदालत में हुए संग्राम की जांच एसआईटी को सौंप दी गई है। अब इस एसआईटी इस पूरे मामले की कड़ियां खंगालेगी। इस बीच बवाल की कुछ नई तस्वीरें सामने आई हैं। जिनमें पुलिसवालों और वकीलों के बीच हुई खूनी झड़प का सच कैद है। बता दे दिल्‍ली के तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच पार्किंग को लेकर झड़प हो गई थी। प्रत्यक्षदर्शियों और अधिकारियों के अनुसार झड़प में 10 पुलिसकर्मी और कई वकील घायल हो गए। इस दौरान 17 वाहनों में तोड़फोड़ की गई. पुलिस ने बताया कि घायलों में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (उत्तरी जिला) हरिंदर कुमार, कोतवाली और सिविल लाइंस थाने के प्रभारी और पुलिस उपायुक्त (उत्तरी) के ऑपरेटर भी हैं. इस बीच, बार एसोसिएशनों ने घटना की निंदा करते हुए चार नवंबर को राष्ट्रीय राजधानी की सभी जिला अदालतों में एक दिवसीय हड़ताल का आह्वान किया. वकीलों ने पुलिस पर प्रदर
चंद्रयान-2: आज रात इस तरह उतरेगा चांद पर चंद्रयान, दक्षिणी ध्रुव की सतह पर यान उतारने वाला भारत बनेगा पहला देश

चंद्रयान-2: आज रात इस तरह उतरेगा चांद पर चंद्रयान, दक्षिणी ध्रुव की सतह पर यान उतारने वाला भारत बनेगा पहला देश

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | चंद्रयान-2 का लैंडर विक्रम शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात 1.30 से 2.30 बजे के बीच चांद के दक्षिण ध्रुव पर उतरेगा। विक्रम में से रोवर प्रज्ञान सुबह 5.30 से 6.30 के बीच बाहर आएगा। प्रज्ञान चंद्रमा की सतह पर एक लूनर डे (चांद का एक दिन) में ही कई प्रयोग करेगा। चांद का एक दिन धरती के 14 दिन के बराबर होता है। हालांकि, चंद्रमा की कक्षा में चक्कर लगा रहा ऑर्बिटर एक साल तक मिशन पर काम करता रहेगा। अगर लैंडर विक्रम चंद्रमा की ऐसी सतह पर उतरता है जहां 12 डिग्री से ज्यादा का ढलान है तो उसके पलटने का खतरा रहेगा। चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के उतरने की घटना का गवाह बनने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इसरो मुख्यालय में मौजूद रहेंगे। मोदी के साथ स्पेस क्विज जीतने वाले देशभर के 60 बच्चे और उनके माता-पिता को भी इसरो ने आमंत्रित किया है। इससे पहले अमेरिका, चीन और रूस के यान
#JobAlert सीटीईटी के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया हुई शुरू, परीक्षा पास होने पर मिलेगी टीचिंग की पात्रता

#JobAlert सीटीईटी के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया हुई शुरू, परीक्षा पास होने पर मिलेगी टीचिंग की पात्रता

education
जॉब न्यूज़ | केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) (CBSE CTET 2019) के लिए आवेदन की प्रक्रिया सोमवार से शुरू होगी। यह परीक्षा क्वालिफाई करने पर अभ्यर्थियों को टीचिंग के लिए पात्रता मिलेगी। वे केंद्र सरकार से संचालित स्कूल, जैसे नवोदय, केंद्रीय विद्यालय समेत अन्य में पढ़ाने के लिए पात्र होंगे। सीबीएसई की ओर होने वाली सीटीईटी की पात्रता देशभर के लिए रहेगी। यह परीक्षा 8 दिसंबर को आयोजित की जाएगी। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया सोमवार से शुरू होगी। 18 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं। परीक्षा क्वालिफाई करने पर सात साल के लिए पात्रता मिलेगी। शिक्षाविद डॉ. प्रमोद शुक्ला ने बताया कि जुलाई में सीटीईटी प्राइमरी व मिडिल के अनुसार आयोजित की गई थी। इसमें कुल 15ं0 नंबरों के सवाल पूछे गए थे। इस बार भी लगभग वैसा ही सिस्टम रहेगा। वेबसाइट ctet.nic.in से सूचना बुलेटिन डाउनलोड किया जा सकता है
ऐतिहासिक फैसला: धारा 370 समाप्त, जम्मू-कश्मीर से लद्दाख अलग करके केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया, अब कुल 9 केंद्र शासित राज्य होंगे

ऐतिहासिक फैसला: धारा 370 समाप्त, जम्मू-कश्मीर से लद्दाख अलग करके केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया, अब कुल 9 केंद्र शासित राज्य होंगे

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | 70 साल के लम्बे इंतज़ार के बाद आखिकार केंद्र सरकार ने सोमवार को अनुच्छेद 370 हटा दिया। केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग-अलग भागो में बांटकर दोनों को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संकल्प पेश किया था। शाह के प्रस्ताव रखने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संविधान आदेश (जम्मू-कश्मीर के लिए) 2019 के तहत अधिसूचना जारी कर दी। 70 साल पहले संविधान में जोड़ा गया था अनुच्छेद 26 अक्टूबर 1947 को जम्मू-कश्मीर के राजा हरि सिंह ने विलय संधि पर दस्तखत किए थे। उसी समय अनुच्छेद 370 की नींव पड़ गई थी, जब समझौते के तहत केंद्र को सिर्फ विदेश, रक्षा और संचार मामलों में दखल का अधिकार मिला था। 17 अक्टूबर 1949 को अनुच्छेद 370 को पहली बार भारतीय संविधान में जोड़ा गया। राज्य पु
‘ट्रिपल तलाक’ बिल राज्यसभा में हुआ पास, जानिए अब तीन तलाक दिया तो होगी तीन साल की सजा

‘ट्रिपल तलाक’ बिल राज्यसभा में हुआ पास, जानिए अब तीन तलाक दिया तो होगी तीन साल की सजा

india
नई दिल्ली (एजेंसी) | तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) पर रोक लगाने के उद्देश्य से लाये गए 'मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक' पर मंगलवार को मोदी सरकार की बड़ी जीत हुई है। लोकसभा से इस बिल को मंजूरी मिलने के बाद इसे मंगलवार को राज्यसभा में पेश किया गया। जिसके बाद ट्रिपल तलाक बिल को राज्यसभा से भी मंजूरी मिल गई। बिल के पक्ष में 99 जबकि विपक्ष में 84 वोट पड़े। अब बिल को राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा। उनके हस्ताक्षर के बाद यह कानून का रूप ले लेगा। एनडीए के 16 दलों ने इस बिल का बहिष्कार किया और वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। वहीं, विपक्ष की ओर से एनसीपी, बसपा, आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने इस बिल का बॉयकट किया। इससे पहले, बिल को सेलेक्ट कमेटी में भेजने का प्रस्ताव गिर गया था। तभी तय हो गया था कि यह बिल राज्यसभा में पास हो जाएगा क्योंकि वोटिंग के दौरान संख्याबल यही रहने के आसार थे। थोड़ी द
कांग्रेस की FIR पर सुब्रमणियम स्वामी का ट्वीट, कहा, ‘छग पुलिस बिना डोप टेस्ट कराए FIR दर्ज कर रही है’

कांग्रेस की FIR पर सुब्रमणियम स्वामी का ट्वीट, कहा, ‘छग पुलिस बिना डोप टेस्ट कराए FIR दर्ज कर रही है’

politics
दिल्ली(एजेंसी) | अपने बयानों और मुकदमों के लिए सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमणियम स्वामी ने कहा है​ कि मैं हैरत में हूं की छत्तीसगढ़ पुलिस मेरे बयान का बिना डोप टेस्ट कराए FIR लिख रही है। छत्तीसगढ़ में अपने खिलाफ दर्ज हो रही FIR पर किया ट्वीट करते हुए उन्होने यह बात कही है। बता दें कि बीजेपी सांसद सुब्रमणियम स्वामी के एक बयान के खिलाफ कई राज्यों में शिकायतों का अंबार लग गया है। छत्तीसगढ़ में युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस और भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन(एनएसयूआई) समेत कांग्रेस की विभिन्न इकाइयां शनिवार की रात से सभी जिलों और विकासखंड मुख्यालयों में पुलिस थानों में स्वामी के खिलाफ शिकायत दर्ज करा रहे हैं। कांग्रेस की शिकायत में कहा गया कि स्वामी द्वारा राहुल गांधी को लेकर दिया गया यह बयान सरासर झूठा और मनगढ़ंत है। इस बयान का उद्देश्य राहुल गांधी का अपमान
पीएम मोदी से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कई मामलों में केंद्र से सहयोग करने की अपील की

पीएम मोदी से मिले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कई मामलों में केंद्र से सहयोग करने की अपील की

politics
नई दिल्ली (एजेंसी) | प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को नीति आयोग की बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले। उन्हें जीत की बधाई देने के साथ ही छत्तीसगढ़ के विकास के लिए केंद्रीय सहयोग की भी अपील की। बघेल ने प्रदेश के 70 लाख आदिवासियों और 58 लाख गरीब परिवारों से जुड़े लंबित मामलों के निराकरण का अनुरोध किया। Shri @bhupeshbaghel, the Chief Minister of Chhattisgarh met PM @narendramodi. @ChhattisgarhCMO pic.twitter.com/dxUKLWrI5v — PMO India (@PMOIndia) June 15, 2019 सीएम बघेल ने प्रधानमंत्री से कहा कि प्रदेश में किसानों के हितों को ध्यान रखते हुए छत्तीसगढ़ शासन ने किसानों से 2500 रू प्रति क्विटंल समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की हैं । इससे राज्य में अतिरिक्त धान का उपार्जन हुआ हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि किसानों के हित को देखते हुए सार्वजनिक प्रणाली की
P&G ने 250 करोड़ रु. की मुनाफाखोरी की, जीएसटी में कमी का फायदा ग्राहकों को नहीं दिया

P&G ने 250 करोड़ रु. की मुनाफाखोरी की, जीएसटी में कमी का फायदा ग्राहकों को नहीं दिया

Uncategorized
नई दिल्ली (एजेंसी) | एफएमसीजी कंपनी प्रॉक्टर एंड गेम्बल (पीएंडजी) ने 250 करोड़ रुपए की मुनाफाखोरी की। कंपनी ने जीएसटी की दरें कम होने का पूरा फायदा ग्राहकों को नहीं दिया। जीएसटी की शाखा ने जांच में पीएंडजी को दोषी पाया है। जीएसटी की एंटी-प्रॉफिटीयरिंग शाखा ने पीएंडजी के खातों की जांच की एक शिकायत के आधार पर जीएसटी की कमेटी डायरेक्टरेट जनरल ऑफ एंटी-प्रॉफिटीयरिंग (डीजीएपी) ने पीएंडजी के 15 नवंबर 2017 के बाद के बही-खातों की जांच की थी। इसमें पाया गया कि कंपनी जो उत्पाद बेचती है उनमें कुछ प्रोडक्ट पर 15 नंवबर 2018 से जीएसटी की दर 28% से घटकर 18% हो गई थी। इसके बावजूद पीएंडजी ने रेट कम नहीं किए। डीजीएपी कंपनी का पक्ष जानने के बाद आखिरी आदेश जारी करेगी। पीएंडजी के उत्पादों में एरियल और टाइड वॉशिंग पाउडर, हेड एंड शोल्डर्स और पेंटीन शैंपू, कॉस्मेटिक ब्रांड ओले, शेविंग प्रोडक्ट जिलेट औ