दिनांक : 20-Apr-2024 07:09 PM
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter
Shadow

प्रधानमंत्री संवाद कार्यक्रम के तहत 24 फरवरी को आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा शास.आदर्श रामानुज स्कूल, बैकुण्ठपुर में होंगे आयोजन

22/02/2024 posted by Priyanka (Media Desk) Ambikapur, Chhattisgarh    

विकसित भारत संकल्प यात्रा के संदर्भ में प्रधानमंत्री संवाद कार्यक्रम के तहत 24 फरवरी को शासकीय रामानुज उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बैकुण्ठपुर में आयोजित की जा रही है।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, रायपुर से मिली जानकारी के अनुसार विकसित भारत संकल्प यात्रा हेतु उपलब्ध वीडियो का प्रदर्षन एलईडी स्क्रीन पर सुबह 9 बजे से शुरू से होगी। कार्यक्रम में साढ़े 9 बजे तक सभी जनप्रतिनिधियों व आमजनों एवं लाभार्थियों की उपस्थिति आवष्यक है। कार्यक्रम स्ािल पर सेल्फी बूथ भी बनाया जाएगा। जानकारी के मुताबिक पूरे छत्तीसगढ़ में विकसित भारत संकल्प यात्रा का आयोजन 24 फरवरी को किया जा रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी लाभार्थियों से संवाद करेंगे, साथ ही जनप्रतिनिधियों से यात्रा के संबंध में भी संवाद कर सकते हैं। जानकारी के मुताबिक कार्यक्रम स्ािल पर प्रधानमंत्री श्री मोदी का संवाद आमजन सहजता से देख-सुन सकें, इसके लिए छोटे एलईडी भी लगाई जाएगी।
कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह ने 24 फरवरी को होने वाले आयोजन के संबंध में बैठक लेकर अधिकारियों को तत्काल व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर पालिका परिषद बैकुण्ठपुर, लोक निर्माण, पंचायत ग्रामीण विकास, ऊर्जा, खाद्य, परिवहन आदि विभागों के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आयोजन स्थल में सभी प्रकार की व्यवस्था आयोजन तिथि के पूर्व सुनिश्चित करें। श्री लंगेह एवं पुलिस अधीक्षक श्री सूरज सिंह परिहार ने कार्यक्रम स्थल, शासकीय रामानुज उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बैकुण्ठपुर जाकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिए साथ ही सुचारू यातायात व पार्किंग स्थल का निरीक्षण भी किए।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।