दिनांक : 05-Feb-2023 06:46 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

मुख्यमंत्री ने जशपुर में किया फूड प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग लैब का लोकार्पण

27/06/2022 posted by Priyanka (Media Desk) Jashpur    

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज जशपुर जिले के रंजीता स्टेडियम परिसर में स्थित फूड प्रोसेसिंग एंड पैकेजिंग लैब में खाद्य उत्पाद प्रसंस्करण प्रयोगशाला एवं पैकेजिंग केंद्र भवन का लोकार्पण किया।  यह भवन डीएमएफ फंड द्वारा लगभग 22 लाख 72 हजार रुपए की लागत से तैयार किया गया है। यहां स्थापित विभिन्न मशीनों की लागत लगभग 34 लाख रुपए है।

अधिकारियों ने बताया कि यह प्रदेश का पहला उच्च स्तरीय लैब है, जिसमें विभिन्न उत्पादों के रॉ-मटेरियल को प्रसंस्कृत कर विक्रय के लिए सी मार्ट में भेजा जाता है, जिससे समूह की महिलाओं को अच्छी आमदनी प्राप्त हो रही है। उत्पादों को प्रसंस्कृत करने के लिए बॉन्ड सिलर, इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कैप सिलर, ऑटोमैटिक ग्रेनुअल फीलिंग मशीन, टी बैग फीलिंग मशीन, वैक्यूम पैकेजिंग, च्यवनप्राश एवं हनी पैकेजिंग, सैनिटाइजर फीलिंग मशीन, बी ओ डी इंक्यूबेटर, लेमिनर एयर फ्लो, फ्यूम हुड, मॉइश्चर एनालाइजर जैसी अत्याधुनिक मशीनों का प्रयोग किया जाएगा।

पार्वती महिला समूह की अध्यक्ष श्रीमती कमला विश्वकर्मा ने बताया कि उनके समूह में 11 सदस्य हैं जो लघु वनोपज सहित धान, गेहूं, सरसों, काजू, रागी, कुटकी के अलावा कटहल, हल्दी, चायपत्ती जैसे विभिन्न उत्पादों को स्थानीय संग्राहकों से खरीदकर समूह की महिलाओं द्वारा प्रसंस्कृत किया जाता है, जिसे सी मार्ट में विक्रय किया जा रहा है। इससे समूह को आय हो रही है।

यह भी बताया गया कि उन्नत एवं आधुनिक मशीनों के स्थापित किए जाने से अधिक से अधिक महिलाओं को स्वावलंबन का अवसर उपलब्ध होगा। जागरूकता और शासन की मदद से ग्रामीण महिलाओं की प्रतिभाएं सामने आ रही है। इसका श्रेष्ठ और ज्वलंत उदाहरण मां खुड़ियारानी कृषक उत्पादक संगठन के तहत गठित समूहों की महिलाएं हैं, जिन्होंने फूड प्रोसेसिंग की बारीकियों को सीख कर और उन्नत तकनीकों से रूबरू होकर आर्थिक सशक्तिकरण के मार्ग पर आगे बढ़ रही है।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।