दिनांक : 26-Nov-2022 07:49 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

भेंट-मुलाकात : राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किस्त दीवाली के पहले 17 अक्टूबर को दी जाएगी : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

30/09/2022 posted by Priyanka (Media Desk) Chhattisgarh, India    

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज अपने प्रदेश व्यापी भेंट-मुलाकात अभियान के तहत कवर्धा जिले के पंडरिया विधानसभा के ग्राम इंदौरी पहुंचे। उन्होंने वहां स्थानीय लोगों से रूबरू होकर राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं के जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन का जायजा लिया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने स्थानीय लोगों की मांग पर अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की।

इनमें इंदौरी के उप-स्वास्थ्य केंद्र का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में उन्नयन, मरका में जिला सहकारी बैंक की शाखा, धौराबंद और खैरा, खरबना-राम्हेपुर और कोहड़िया-सूरजपुर-हरदी के बीच सड़क निर्माण, सहसपुर लोहारा के रणवीरपुर में पुलिस चौकी की स्थापना, झलमला-धोथेवाड़ा के बीच सकरी नदी पर नवीन पुल निर्माण की घोषणाएं शामिल हैं। इस अवसर पर वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, पंडरिया विधायक श्रीमती ममता चन्द्राकर, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी एवं अधिकारीगण भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने अपने सम्बोधन में कहा कि नवरात्रि की पावन बेला में आप लोगों के बीच आया हूं। आप सभी को नवरात्रि की बहुत बधाई और शुभकामनाएं। इस वर्ष अच्छी बारिश हुई जिससे फसल भी अच्छी हुई और किसान खुशहाल हैं। प्रदेश में हमारी सरकार बनने पर सबसे पहले हमने किसानों का ऋण माफ किया और लगातार उनके हित में कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीसरी किस्त दीवाली से पहले 17 अक्टूबर को किसानों के खातों में हस्तांतरित कर दी जाएगी।

केन्द्र सरकार द्वारा 2500 रूपए में धान खरीदी पर असहयोग के बाद भी हमारी सरकार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों को उनकी उपज का अच्छा दाम दिया है। विगत 4 मई से भेंट-मुलाकात का यह सिलसिला चल रहा है। लोगों से मिल रहे हैं, उनसे बातें हो रही हैं और योजनाओं का फीडबैक भी मिल रहा है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने ग्राम इंदौरी में भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के पहले स्थानीय माता चंडी मंदिर में पहुंचकर देवी की विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों की खुशहाली एवं सुख समृद्धि की कामना की। माता चंडी मंदिर से भेट मुलाकात कार्यक्रम स्थल तक रोड शो के दौरान ग्रामीणों ने पूरे उत्साह के साथ मुख्यमंत्री का स्वागत किया। महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गाें और युवाओं ने मुख्यमंत्री श्री बघेल का नारियल, फूल, आरती कर भव्य स्वागत किया।

रोड शो के दौरान मुख्यमंत्री ने सड़क के किनारे पर कुछ देर रुककर दुर्गा पंडाल में भी पूजा अर्चना की। इस दौरान जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की छायाचित्र भी भेंट की। युवाओं में मुख्यमंत्री की एक झलक पाने और फोटो लेने की भी होड़ लगी रही। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आत्मीयतापूर्वक सभी का अभिनंदन स्वीकार किया।

भेंट-मुलाकात में सोहागपुर की श्रीमती फूलबाई पटेल ने बताया कि उनके समूह ने एक लाख रूपए का वर्मी कम्पोस्ट बेचा है। इसके अलावा समूह के सदस्यों के द्वारा मछली पालन का भी कार्य किया जाता है, जिससे समूह को 25 हजार रूपए की आमदनी हुई। ग्राम मिरमिट्टी की श्रीमती गोमती ने बताया कि उनका बच्चा राम योगी शारीरिक रूप से कमजोर था। मुख्यमंत्री सुपोषण योजना के तहत गर्म भोजन और पोषक आहार मिलने से अब उनका बच्चा स्वस्थ हो गया है। मुख्यमंत्री ने बच्चे से बात की और उसे प्यार से जूनियर योगी कहकर पुकारा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल कवर्धा की छात्रा रिंकी तिवारी से छत्तीसगढ़ी में सवाल पूछे जिसका जवाब छात्रा ने फर्राटेदार अंग्रेजी में देकर उन्हें हतप्रभ कर दिया। स्कूल की छात्रा करूणा कश्यप ने मुख्यमंत्री को स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारा स्कूल बहुत बढ़िया है, यहां अच्छी लाईब्रेरी, प्रशिक्षित शिक्षक एवं पढ़ाई के लिए सभी अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं।

Author Profile

Priyanka (Media Desk)
Priyanka (Media Desk)प्रियंका (Media Desk)
"जय जोहार" आशा करती हूँ हमारा प्रयास "गोंडवाना एक्सप्रेस" आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।