antagarh tape kand - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: antagarh tape kand

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- मंतूराम के वकील ने छोड़ा साथ, मामले की अगली सुनवाई अब 16 सितंबर को

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- मंतूराम के वकील ने छोड़ा साथ, मामले की अगली सुनवाई अब 16 सितंबर को

politics
रायपुर (एजेंसी) | अंतागढ़ टेपकांड मामले में अब तक मंतूराम का पक्ष कोर्ट में रखने वाले वकील ने उनका साथ छोड़ दिया है। मंतूराम ने बताया कि अब तक इस मामले में डॉ रमन के दामाद पुनीत और मेरा केस एक ही वकील देख रहे थे। अब नए वकील मेरा पक्ष रखेंगे। गुरूवार को मामले की सुनवाई होनी थी। लेकिन अमित जोगी की तबीयत खराब होने की वजह से इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई। सुनवाई की तरीख 16 सितंबर तय की गई है। मेरी चल अचल संपत्तियों की हो जांच-मंतू प्रकरण से जुड़े मंतूराम ने कहा है कि मेरी स्वयं और परिवालों के नाम चल-अचल संपत्तियों की जांच कराई जाए। इसके लिए मैं सरकार और न्यायालय से जल्द ही मांग करूंगा। इसके अलावा इस प्रकरण जुड़े अन्य लोगों व उनके परिजनों के संपत्तियों की जांच करवाई जानी चाहिए। वॉयस सैंपल को लेकर मंतूराम ने कहा कि अगली सुनवाई के वक्त वो वॉयस सैंपल देंगे। साल 2014 में  कांकेर जिले के अंतागढ़ के त
छत्तीसगढ़: मंतूराम को भाजपा ने निकाला, बड़े नेताओं पर लगाए थे चुनावी खरीद फरोख्त के आरोप

छत्तीसगढ़: मंतूराम को भाजपा ने निकाला, बड़े नेताओं पर लगाए थे चुनावी खरीद फरोख्त के आरोप

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ की राजनीति में उठा पटक जारी है। अब भारतीय जनता पार्टी के नेता और अंतागढ़ टेप कांड से जुड़े नेता मंतूराम पवार को पार्टी ने निकाल दिया है। इस कार्रवाई को गलत ठहराते हुए मंतू ने कहा कि यह निष्कासन सही नहीं। मैं इसके खिलाफ कोर्ट जाउंगा। टेपकांड से संबंधित सुनवाई में मंतू ने हाल ही में कोर्ट में दिए अपने बयान में कहा था कि अंतागढ़ उपचुनाव 2014 में डॉ रमन, अजीत जोगी, अमित जोगी और राजेश मूणत के बीच 7.5 करोड़ की डील हुई थी। तब मंतू कांग्रेस से अंतागढ़ के प्रत्याशी थे। नाम वापस लेने के कुछ समय बाद भाजपा में शामिल हुए थे। कांग्रेस के संपर्क में नहीं मंतू कांग्रेस पार्टी के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा-  मंतूराम पवार हमारे संपर्क में नहीं है । अभी मंतूराम पवार का कांग्रेस प्रवेश के लिए कोई आवेदन कांग्रेस को नहीं मिला है। कांग्रेस प्रवेश के आवेदनों
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ट्‌वीट, ‘षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं’

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ट्‌वीट, ‘षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं’

politics
रायपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ में सियासी माहौल बेहद गर्म है। राज्य की राजनीति के प्रमुख चेहरों पर खरीद फरोख्त के दाग लग रहे हैं। इन्हीं राजनेताओं पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को सोशल मीडिया में एक पोस्ट साझा की। उन्होंने लिखा कि, अंतागढ़ चुनाव धांधली के बारे में हमारे आरोप सही साबित हुए, लोकतंत्र की हत्या का षडयंत्र हमारी आशंका से ज़्यादा गहरा निकला। मैं इसे राजनीति मानने से इनकार करता हूं और इन सभी षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं समझता। शर्मनाक!!! कानून अपना काम करेगा। कांग्रेस ने प्रेस कान्फ्रेंस कर कहा- राजनीति छोड़ें डॉ रमन प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ली। इन नेताओं ने कहा कि अब रमन सिंह, राजेश मूणत, अजीत जोगी और अमित जोगी को राजनीति छोड़ देनी चाहिए। इससे वर्ष 2014
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- रमन बोले, ‘कांग्रेस की बदला राजनीति, दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है’

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड- रमन बोले, ‘कांग्रेस की बदला राजनीति, दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है’

politics
रायपुर (एजेंसी) | पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मंतूराम के बयान पर सफाई देते हुए कहा कि पूरे मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। वर्ष 2014 के बाद पहली बार इस घटना में राजनीतिक षडयंत्र के तहत मेरा नाम उछाला गया है। चूंकि दंतेवाड़ा चुनाव नजदीक है। इसलिए कांग्रेस ने सोची-समझी रणनीति के तहत मंतूराम पर दबाव बनाकर ये बयान दिलवाया है। पूरे घटनाक्रम से प्रतीत होता है कि पूर्ण रूप से कांग्रेस की बदलापुर की राजनीति है। https://youtu.be/CfaQ4F4xqDs उन्होंने कहा कि बयान को पढ़ने से स्पष्ट होता है कि मंतूराम ने ये बयान स्वेच्छा से नहीं, बल्कि राजनीतिक दबाव-वश दिया है। मैं बताना चाहूंगा कि मंतूराम द्वारा पूर्व में विभिन्न न्यायालयों में शपथपत्र पर बयान दिया गया कि उन्होंने स्वेच्छा से अपना नामांकन वापस लिया था। इसमें पैसों का किसी तरह से लेन-देन नहीं हुआ है। इस संबंध में न्यायालय में अपना पक्ष
छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – रमन, मूणत, अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ में डील हुई थी : मंतूराम

छत्तीसगढ़: अंतागढ़ टेप कांड – रमन, मूणत, अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ में डील हुई थी : मंतूराम

politics
रायपुुर (एजेंसी) | अंतागढ़ उपचुनाव-2014 के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार ने कोर्ट में धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया है। इसमें पवार ने कहा है कि पूर्व सीएम रमन सिंह, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व सीएम अजीत और अमित जोगी के बीच 7.5 करोड़ रुपए में चुनाव को लेकर डील हुई थी। ये जानकारी उसे कांकेर के नेता अमीन मेमन और फिरोज सिद्दीकी ने दी थी। पवार के इस बयान के बाद राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया है। राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद पंडरी थाने में अंतागढ़ उपचुनाव को लेकर पूर्व महापौर व कांग्रेस नेता किरणमयी नायक ने केस दर्ज कराया था। उसी की जांच एसआईटी कर रही है। इसी केस की सुनवाई के दौरान शनिवार को मंतूराम का बयान हुआ। न्यायिक मजिस्ट्रेट नीरज श्रीवास्तव की कोर्ट में पवार ने बयान में कहा कि मुझे चुनाव मैदान से हटने के लिए जान से मारने की धमकी मिली थी। यहां तक की कांकेर के एसपी ने फोन पर
अंतागढ़ टेप कांड: वॉयस सैंपल दिए बिना थाने के बाहर से लौटे अमित जोगी, पेन ड्राइव को बताया फर्जी

अंतागढ़ टेप कांड: वॉयस सैंपल दिए बिना थाने के बाहर से लौटे अमित जोगी, पेन ड्राइव को बताया फर्जी

politics
रायपुर (एजेंसी) | अंतागढ़ टेपकांड मामले में एसआईटी के बुलावे पर मंगलवार को गंज थाने पहुंचे छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी बिना वॉयस सैंपल दिए ही लौट गए। जोगी थाने के अंदर नहीं गए और बाहर हंगामा होता रहा। उन्होंने पेन ड्राइव को फर्जी बताते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री को षड्यंकारी बताया। काफी देर हंगामा चलता रहा, इसके बाद अमित जोगी गेट के बाहर से ही सरकार औऱ जांच टीम को चुनौती देकर वापस चले गए। अमित जोगी बोले- एसआईटी को वॉयस सैंपल लेने का आधार नहीं दरअसल, अंतागढ़ टेप कांड मामले में अजीत जोगी और अमित जोगी को वॉयस सैंपल देने के लिए एसआईटी ने नोटिस भेजा था। जिसके बाद अमित जोगी मंगलवार को गंज थाने पहुंचे। हालांकि वो थाने के अंदर नहीं गए। इस दौरान उनके समर्थक बाहर हंगामा करते रहे। अमित जोगी ने थाने के बाहर ही चिल्ला चिल्लाकर कहा कि वो अपना वॉयस सैंपल दे रहे हैं। उन्होंने पेन
अंतागढ़ टेपकांड: अंतागढ़ टेपकांड में भूपेश सरकार द्वारा पहली कार्यवाई, पूर्व सीएम अजीत जोगी और पूर्व मंत्री मूणत समेत कई अन्य नेताओं पर केस

अंतागढ़ टेपकांड: अंतागढ़ टेपकांड में भूपेश सरकार द्वारा पहली कार्यवाई, पूर्व सीएम अजीत जोगी और पूर्व मंत्री मूणत समेत कई अन्य नेताओं पर केस

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | अंतागढ़ टेपकांड उजागर होने के ठीक 3 साल बाद, रविवार रात करीब 1:30 बजे राजधानी के पंडरी थाना में धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने पूर्व महापौर डॉ. किरणमयी नायक की रिपोर्ट पर अंतागढ़ के तत्कालीन कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके बेटे व पूर्व विधायक अमित जोगी सहित पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता और पूर्व पीडब्लूडी मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ 420 तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में केस रजिस्टर किया। रायपुर एसपी नीतू कमल ने एफआईआर दर्ज होने की पुष्टि की है। अंतागढ़ टेपकांड में भूपेश सरकार द्वारा कराई गई यह पहली कार्रवाई है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सरकार के निर्देश पर शनिवार को ही अंतागढ़ टेपकांड की जांच के लिए बनी एसआईटी की कमान रायपुर के प्रभारी आईजी डॉ. आनंद छाब
Breaking News: अब अंतागढ़ टेपकांड जांच के लिए भी बनी एसआईटी

Breaking News: अब अंतागढ़ टेपकांड जांच के लिए भी बनी एसआईटी

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | भूपेश सरकार ने अब अंतागढ़ टेपकांड की जांच के लिए भी स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) बनाई है। जांच का नेतृत्व रायपुर एसपी नीतू कमल करेंगी। टीम 2014 में हुए इस कांड के साथ-साथ 7 करोड़ रुपए के लेनदेन से जुड़े ऑडियो टेप की हकीकत का भी पता लगाएगी। मुख्यमंत्री खुद भूपेश बघेल  ने इस टेप को जारी कर आरोप लगाया था कि इसमें कथित तौर पर तत्कालीन मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के दामाद डाॅ. पुनीत गुप्ता, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और पूर्व विधायक अमित जोगी के बीच फोन पर कांग्रेस प्रत्याशी को बिठाने के बारे में सौदेबाजी हुई। नीतू के अलावा डीएसपी अभिषेक महेश्वरी और टीआई तेलीबांधा जांच टीम में होंगे। टेपकांड एक साल बाद सामने आया था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); क्या था उस टेप में ? अंतागढ़ विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा चुनाव जीता, इसलिए उन्होंन