दिनांक : 05-Dec-2022 07:19 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

गोंडवाना एक्सप्रेस (Gondwana Express) – About us

युवक युवती कला, विज्ञान, तकनीकी, मीडिया आदि क्षेत्र में अपना अलग ही रुतबा कायम कर रहे है. आदिवासी समाज के जनकल्याण और प्रचार प्रसार करने हेतु “गोंडवाना एक्सप्रेस” न्यूज़ मीडिया वेबसाइट/ एजेंसी की स्थापना दिनांक 27 जुलाई 2018 को पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी के द्वारा की गयी है.

संस्थापक परिचय

bharat-dudani

पूजनीय स्वर्गीय श्री भरत दुदानी जी

संस्थापक – गोंडवाना एक्सप्रेस

23/11/1958 – 30/04/2021

पूजनीय स्वर्गीय श्री भरत दुदानी जी वर्ष 2006 से रायपुर में पत्रकारिकता से जुड़े रहे, वे दैनिक इस्पात टाइम्स के वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रबंधक के रूप में भी कार्यरत थे। वे छत्तीसगढ़ शासन से अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार थे। गोंडवाना एक्सप्रेस न्यूज़ पोर्टल की नींव वर्ष 2018 में इन्होंने अपनी पुत्रवधु प्रियंका दुदानी एवं पुत्र बिशेष दुदानी के साथ रखी। वे संस्थापक की जिम्मेदारी के साथ-साथ पोर्टल का प्रबधन एवं प्रसार भी देखा करते थे।

इनकी जीवन यात्रा आप हमारे वेबसाइट पर पढ़ सकते है।  कृपया क्लिक करे।

प्रधान संपादक / स्वामी की कलम से

मुझे छत्तीसगढ़ की इस पावन भूमि पे कंडारा आदिवासी समाज में जन्म लेने, बड़े होने और इंजीनियरिंग पढ़ने का सुअवसर मिला इसके लिए मैं ईश्वर और अपने माता पिता की तहे-दिल से शुक्रगुजार हूँ। आदिवासी समाज भारत के महत्वपूर्ण समाजो में से एक है। प्राचीन काल से आदिवासी एवं गोंडवाना समाज आज भारत देश के छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों में कई इलाको और वनो में आज भी बसा हुआ है।

आज आदिवासी समाज की भागीदार खेल कूद, प्रशासनिक सेवा, कॉर्पोरेट जगत एवं आदि संस्थानों में है, मीडिया जगत में पूर्ण रूप से  आदिवासी समाज द्वारा संचालित एवं प्रसारित खबरे एवं उनकी समस्या, संस्कृति के प्रचार का आज भी आभाव है।

महान संतो और सिद्ध पुरषो ने छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले के आदिवासी इलाको का मनमोहक सौंदर्य अपने साहित्यो एवं ग्रंथो में बार-बार लिखा है।  छत्तीसगढ़ में खनिज, हीरा-पन्ना और धान की खेती खूब होती है. धान के कटोरे के नाम से भी जाना जाता है हमर छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ी, हल्बी और गोंडी यहाँ की प्रचलित भाषा है. आज छत्तीसगढ़ में बड़े बड़े इस्पात और ऊर्जा सयंत्र है और भारत में व्यपारीक राज्यों में सबसे प्रगति शील राज्य में से एक है.

आशा करती हूँ हमारा प्रयास “गोंडवाना एक्सप्रेस” आदिवासी समाज के विकास और विश्व प्रचार-प्रसार में क्रांति लाएगा, इंटरनेट के माध्यम से अमेरिका, यूरोप आदि देशो के लोग और हमारे भारत की नवनीतम खबरे, हमारे खान-पान, लोक नृत्य-गीत, कला और संस्कृति आदि के बारे में जानेगे और भारत की विभन्न जगहों के साथ साथ आदिवासी अंचलो का भी प्रवास करने अवश्य आएंगे।

“जय जोहार”

priyanka gondwana express

श्रीमती प्रियंका दुदानी

प्रधान संपादक/स्वामी
गोंडवाना एक्सप्रेस
BE ET&T (2014)
Govt Engineering College
Raipur Chhattisgarh

सह संपादक एवं प्रबंधक

Bishes dudani
श्री बिशेष दुदानी
BE IT (2010)
Rajasthan Technical University, Kota