Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में 27 से 30 दिसंबर तक बारिश की संभावना, सरगुजा और इससे लगे जिलों में ओले गिरने की भी चेतावनी

नववर्ष के स्वागत की तैयारियों में जुटे लोगों के लिए जरूरी सूचना है। छत्तीसगढ़ में यह साल जाते-जाते भिगोने वाला है। मौसम विभाग ने 27 से 30 दिसंबर तक प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बरसात की संभावना जताई है। सरगुजा और आसपास के जिलों में तो ओले गिरने की भी चेतावनी जारी की गई है।

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, 27 दिसंबर की देर रात प्रदेश के एक दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ बहुत हल्की वर्षा हो सकती है। अगले दिन 28 दिसंबर को प्रदेश के उत्तरी भाग के कुछ स्थानों में हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। वहीं मध्य क्षेत्र के पश्चिमी भाग में एक दो स्थानों में हल्की वर्षा होने की संभावना बन रही है। यह क्रम 29 दिसंबर को भी जारी रहेगा। इस दिन प्रदेश के सरगुजा और बिलासपुर संभाग के अनेक स्थानों पर गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है।

दुर्ग और रायपुर संभाग के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। बस्तर संभाग के उत्तरी भाग में भी एक दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ हल्की वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग ने सरगुजा संभाग और उससे लगे जिलों में एक दो स्थानों पर ओले गिरने की चेतावनी भी जारी की है।

30 दिसंबर को मौसम खुलना शुरू हो जाएगा। कुछ क्षेत्रों में बादल छाये रह सकते हैं। इसकी वजह से कहीं-कहीं हल्की बरसात हाेगी। प्रदेश में धान खरीदी की प्रक्रिया जारी है। ऐसे में यह बरसात किसानों और सरकार दोनों पर भारी पड़ सकती है। खरीदी व्यवस्था में लगे अधिकारियों को धान को भीगने से बचाने का उपाय पहले से करना होगा।

बेहद ठंडी होगी 31 दिसंबर की रात

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया, बरसात की वजह से दिन के तापमान में गिरावट आएगी। इससे ठंड का एहसास बढ़ेगा। 31 दिसंबर को जब मौसम साफ होगा तब दिन का तापमान बढ़ेगा। लेकिन रात सामान्य से अधिक ठंडी हो जाएगी। न्यूनतम तापमान में गिरावट कुछ दिन बनी रहेगी। नववर्ष के स्वागत की तैयारियों में ठंड से बचने के उपाय भी शामिल करने होंगे।

Leave a Reply