Waterfall: दरभा में मिला जलप्रपात, चट्‌टानों से होकर 70 फीट नीचे जाने के बाद दिखता है 25 फीट ऊंचा झरना - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

Waterfall: दरभा में मिला जलप्रपात, चट्‌टानों से होकर 70 फीट नीचे जाने के बाद दिखता है 25 फीट ऊंचा झरना

जगदलपुर (एजेंसी) | केशकाल ब्लॉक में मिले जलप्रपातों के बाद अब दरभा ब्लॉक के मावलीपदर के टोपर गांव में भी जलप्रपात मिला है। बताया जाता यहां करीब 25 फीट की ऊंचाई से झरना बहता है। जलप्रपात तीनों तरफ से चट्‌टानों से घिरा है। अब तक यह जलप्रपात लोगों की पहुंच से दूर है और सिर्फ आस-पास के ग्रामीण ही इसके बारे में जानते हैं। टोपर गांव में होने के कारण इस जलप्रपात का नाम टोपर जलप्रपात रख दिया गया है।

चट्‌टानों से घिरा है झरना

जहां तक पहुंचने के लिए चट्‌टानों के रास्ते से करीब 70 फीट तक नीचे उतरना पड़ता है। इसके बाद यहां करीब 25 फीट ऊंचा जलप्रपात दिखता है। जितेंद्र ने बताया कि इस जगह को विकसित किया गया तो ये पर्यटकों के लिए हॉटस्पॉट बन सकता है। इसके पीछे का कारण ये है कि पूरी तरह से चट्‌टानों से घिरे इस जलप्रपात में लोग खासे रोमांचित होंगे। इसके साथ ही यहां ट्रैकिंग के लिए भी बढ़िया व्यवस्था विकसित की जा सकती है। उन्होंने बताया कि कोयर नाला, जो बरसाती नाला है, लेकिन बारिश के बाद दिसंबर-जनवरी से पानी का बहाव कम हो जाता है।

निस्तारी करते रहे हैं ग्रामीण

इस जलप्रपात की खोज भू-विज्ञान विशेषज्ञ जितेंद्र नक्का ने की है। बताया जाता है कि उन्हें जैसे ही इसका पता चला, वे इसे खोजने पहुंचे। उन्होंने बताया कि दरभा ब्लॉक में मावलीपदर के दाहिनी तरफ स्थित ग्राम टोपर में ये जलप्रपात मिला है। ग्रामीण अब तक इस जगह के पानी का उपयोग निस्तार के लिए कर रहे हैं। जितेंद्र के साथ तीरथगढ़ के उमेश सिंह ठाकुर और मुन्ना बघेल ने इस जलप्रपात को ढूंढने में उनकी मदद की है। जलप्रपात के ठीक नीचे एक कुंड बना हुआ है, जहां से पानी आगे बढ़ जाता है।

Leave a Reply