भाजपा प्रत्याशी रामदयाल उइके के काफिले को ग्रामीणों ने रोका, गाड़ियों में की तोड़फोड़

कोरबा (एजेंसी) | पाली तानाखार से भाजपा के प्रत्याशी रामदयाल उइके की गाड़ियों में रविवार रात ग्रामीणों ने तोड़फोड़ कर दी। इस दौरान ग्रामीणों और समर्थकों में झूमाझटकी भी हुई। ग्रामीणों ने पेड़ों को काटकर रोड पर रख दिया और उइके का रास्ता रोक लिया। उनका कहना है कि उइके को उन्होंने विधायक चुना था। उन्होंने कोई काम नहीं कराया है। उइके पाली तानाखार से कांग्रेस विधायक थे। हाल ही में उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर लिया है।




रविवार रात रामदयाल उइके अपने समर्थकों के साथ पाली तानाखार विधानसभा के गांव शिवपुर में जनसंपर्क के बाद लौट रहे थे। रास्ते में ग्रामीणों ने पेड़ और कांटे लगाकर रोड जाम कर दिया। पाली थाना पुलिस ने बताया कि आवेदक ओमप्रकाश जगत ने शिवपुर के ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। शिकायत में बताया गया कि गांव के करीब 150 लोग योजनाबद्ध होकर रास्ता रोकने आए। इस दौरान गाली-गलौच किया और समर्थकों के साथ हाथापाई भी की। गाड़ियों के कांच तोड़ दिए। इस दौरान कई कार्यकर्ताओं को चोटें भी आईं।

7 ग्रामीणों को किया गिरफ्तार 

मामला दर्ज होने के बाद शिवपुर के 7 ग्रामीणों को हिरासत में ले लिया है। ग्रामीणों ने दलील दी कि राम दयाल को वोट देकर उन्होंने विधायक चुना, लेकिन 5 साल में उन्होंने कोई विकास कार्य नहीं किया। इसलिए उनका रास्ता रोका गया। पुलिस दूसरे ग्रामीणों की तलाश कर रही है।

उइके ने गोंगपा पर लगाया आरोप

उइके ने गोंडवाना गणतंत्र पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये ग्रामीण नहीं बल्कि उन्हीं के समर्थक हैं।



Leave a Reply