दिनांक : 05-Dec-2022 09:55 PM   रायपुर, छत्तीसगढ़ से प्रकाशन   संस्थापक : पूज्य श्री स्व. भरत दुदानी जी
Follow us : Youtube | Facebook | Twitter English English Hindi Hindi
Shadow

Tribal Area News and Welfare

बीजापुर : पेयजल प्रदाय हेतु वाटर कुलर, वाटर टैंक, पाईप लाईन एवं शेड निर्माण हेतु प्रशासकीय स्वीकृति

बीजापुर : पेयजल प्रदाय हेतु वाटर कुलर, वाटर टैंक, पाईप लाईन एवं शेड निर्माण हेतु प्रशासकीय स्वीकृति

Chhattisgarh, Tribal Area News and Welfare
बीजापुर. क्षेत्रीय विधायक एवं बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री विक्रम शाह मंडावी के द्वारा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र विकास योजना के मार्गदर्शिका में निहित निर्देशों एवं प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए विक्रम शाह मंडावी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र बीजापुर -89 के अनुशंसा के अनुसार विधायक निधि मद वर्ष 2022-23 के लिए उप अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा उप संभाग बीजापुर के तकनीकी प्राक्कलन के आधार पर कार्य एजेंसी मुख्य कार्यपालन अधिकारी बीजापुर को 90 हजार रुपये की लागत से वाटर कूलर पाईप, वाटर टैंक एवं शेड निर्माण नया बस स्टेण्ड प्रतिक्षालय बीजापुर, 90 हजार की लागत से पुराना बस स्टेण्ड होटल (सनराईज के पास), कार्यालय तहसील भोपालपटनम में 90 हजार की लागत से वाटर कूलर, वाटर टैंक, पाईप लाईन एवं शेड, कार्यालय तहसील आवापल्ली में 90 हजार की लागत से वाटर कूलर, वाटर टैंक, पाईप लाईन एवं शेड निर्माण,...
बीजापुर : बाढ़ एवं प्राकृतिक आपदा से पीड़ितों को सुरक्षित निकालने माक ड्रील

बीजापुर : बाढ़ एवं प्राकृतिक आपदा से पीड़ितों को सुरक्षित निकालने माक ड्रील

Chhattisgarh, Tribal Area News and Welfare
बीजापुर. बाढ़ आपदा प्रबंधन द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे ग्रामीणों का बचाव कार्य, राहत शिविर पहुचाने जैसे बाढ़ के दौरान निर्मित विषम परिस्थितियों में जिला बाढ़ आपदा प्रबंधन द्वारा बचाव कार्य किया जाता है, उसका जीवंत रूप में अभ्यास करते हुए माक ड्रील किया गया, माक ड्रील के दौरान 20-25 ग्रामीणों को अत्यधिक बाढ़ के दौरान टापू में फंसे होने की स्थिति में नगर सेना की टीम द्वारा लाइव बोट के माध्यम से सुरक्षित निकाला गया जहां चिकित्सकों के टीम द्वारा मौके पर स्वास्थ्य जांच कर राहत शिविर पहुंचाया गया। बाढ़ के दौरान टापू में फंसे ग्रामीणों को नगर सेना के टीम द्वारा सुरक्षित निकालकर राहत शिविर पहुंचाया गया इसी तरह बाढ़ के तेज बहाव में फंसे लोगों को लाईव बोट एवं लाईव जैकेट के माध्यम से सुरक्षित निकालकर उनका (सीपीआर) किया गया वहीं एक गर्भवती को जिला अस्पताल रेफर किया गया। बाढ़ के दौरान 1 मृत व...
रायपुर : राज्योत्सव प्रदर्शनी में जनजातीय बाजार हाटुम बना लोगों के आकर्षण का केंद्र

रायपुर : राज्योत्सव प्रदर्शनी में जनजातीय बाजार हाटुम बना लोगों के आकर्षण का केंद्र

Chhattisgarh, Tribal Area News and Welfare
पिछले पांच दिनों से चले आ रहे छत्तीसगढ़ राज्योत्सव मेले में रविवार को लोगो का जबरदस्त हुजूम देखते को मिला । राज्य के सभी जिलों से लोग अपने परिवार के साथ आकर मेले और यहां लगे प्रदर्शनी का लुफ्त उठाते दिखे। राज्योत्सव मेले में ग्रामीणों के साथ-साथ शहरी लोगो को भी छत्तीसगढ़ी आभूषणों ने  अपनी ओर आकर्षित किया । शहरी युवतियां तो छत्तीसगढ़ के इन पारंपरिक गहनों को पहन कर व देखकर उत्साह से भरी नजर आईं। छत्तीसगढ़ी आभूषणों में सुता, पहुंची, रुपया माला, करधनी, बनुवारिया, ककनी, मुंदरी, पैरी, कटहल,  लच्छा, बिछिया ,नागमोती आदि गहने लोगो को बहुत ही ज्यादा पसंद आए। मेले में आए बहुत से लोगों को कहना है कि ये गहने उन्होंने पहली बार देखे हैं। कुछ विद्यार्थियों का कहना है कि इन गहनों के बारे में उन्होंने अभी तक सिर्फ किताबों में पढा था, लेकिन आज इस मेले में इन्हें देखने का भी मौका मिला।  इतना ही नहीं ड्यूटी पर ...
विशेष लेख : छत्तीसगढ़ी लोकनृत्य में है यहां की लोककला का प्राणतत्व

विशेष लेख : छत्तीसगढ़ी लोकनृत्य में है यहां की लोककला का प्राणतत्व

Chhattisgarh, Tribal Area News and Welfare, Vishesh Lekh
छत्तीसगढ़ी लोककला में लोकनृत्य संपूर्ण प्रमुख छत्तीसगढ़ के जनजीवन की सुन्दर झांकी है। राग-द्वेष, तनाव, पीड़ा से सैकड़ों कोस दूर आम जीवन की स्वच्छंदता व उत्फुल्लता के प्रतीक लोकनृत्य यहां की माटी के अलंकार है। छत्तीसगढ़ के लोकनृत्य सुआ, करमा, पंथी राउत नाचा, चंदैनी, गेड़ी, नृत्य, परब नृत्य, दोरला, मंदिरी नृत्य, हुलकी पाटा, ककसार, सरहुल शैला गौरवपाटा, गौरव, परथौनी, दशहरा आदि हैं। छत्तीसगढ़ के लोकनृत्य में यहां की लोककला का प्राणतत्व है। यह मानवीय जीवन के उल्लास - उमंग-उत्साह के साथ परंपरा के पर्याय हैं। समस्त सामाजिक, धार्मिक व विविध अवसरों पर छत्तीसगढ़ वासियों द्वारा अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करने के ये प्रमुख उद्विलास हैं। छत्तीसगढ़ की नृत्य परंपरा अनंत व असीम है। छत्तीसगढ़ के प्रमुख लोकनृत्यों का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है :- सुआ नृत्य यह छत्तीसगढ़ का सबसे लोकप्रिय नृत्य है। छत्तीस...
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मौजूदगी में विदेशी नर्तक कलाकारों की आवाज में गूंजा ‘छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया’

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मौजूदगी में विदेशी नर्तक कलाकारों की आवाज में गूंजा ‘छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया’

Chhattisgarh, India, Tribal Area News and Welfare
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज यहां साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्योत्सव एवं राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री ने दर्शक दीर्घा में बैठकर आदिवासी नृत्य महोत्सव का आनंद लिया। समारोह में मालदीव, सर्बिया, मंगोलिया, न्यूजीलैण्ड और इंडोनेशिया के नर्तक दल ने मनमोहक प्रस्तुति दी। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में करीब 4 हजार किलोमीटर दूर सर्बिया से आए 10 सदस्यीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुत नृत्य कौशल को देखकर दर्शक काफी उत्साहित हुए। न्यूजीलैण्ड के नर्तक दल ने शंख बजाकर नृत्य की शुरूआत करते हुए लोक नृत्य हाका से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। न्यूजीलैण्ड के आदिवासी कलाकार अपने पारंपरिक वेश-भूषा में मंच पर पहुंचे और अपने विशिष्ट रीति-रिवाज के अनुसार नृत्य की प्रस्तुति देने से पहलेे छत्तीसगढ़ राज्य को मित्र बनाने की परंपरा को प्रतीक के रूप में निभाया। उन्होंने अपनी भा...
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव समापन समारोह 3 नवम्बर को

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव समापन समारोह 3 नवम्बर को

Chhattisgarh, India, Tribal Area News and Welfare
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं राज्योत्सव का समापन समारोह 3 नवम्बर को शाम 6 बजे राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में होगा। झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के मुख्य आतिथ्य और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में समापन समारोह संपन्न होगा। समापन समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, वन एवं परिवहन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार, उच्च शिक्षा मंत्री श्री उमेश पटेल, लोकसभा सा...
रायपुर : राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के दूसरे दिन विदेशी कलाकारों ने बांधा समां

रायपुर : राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के दूसरे दिन विदेशी कलाकारों ने बांधा समां

Chhattisgarh, India, Tribal Area News and Welfare
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के दूसरे दिन देश-विदेश से आये कलाकारों के बीच लोक नृत्य की प्रतियोगिता उपरांत कार्यक्रम की समाप्ति हुई। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के अलावा पर्यटन मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, आदिम जाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम तथा हरियाणा के सहकारिता मंत्री सहित अनेक जनप्रतिनिधि कार्यक्रम में उपस्थित थे। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव परंपरा और आधुनिकता का संगम बना। मुख्यमंत्री के दर्शक दीर्घा में आगमन के साथ ही छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया के नारों से कार्यक्रम स्थल गूंज उठा। इसी बीच मालदीव के कलाकारों द्वारा नृत्य प्रदर्शन के बाद हिंदी बॉलीबुड गाने ने सभी को आश्चर्य चकित कर दिया। इसके बाद बारी आयी सर्बिया की राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में करीब 4 हजार किलोमीटर दूर सर्बिया से आये 10...
रायपुर : आदिवासी नृत्य महोत्सव एक नंबर लागत हे, ग्रामीणों ने कहा आदिवासी संस्कृति ला सवांरत हे सरकार

रायपुर : आदिवासी नृत्य महोत्सव एक नंबर लागत हे, ग्रामीणों ने कहा आदिवासी संस्कृति ला सवांरत हे सरकार

Chhattisgarh, Tribal Area News and Welfare
आदिवासी नृत्य महोत्स्व एक नंबर लागत हे, इंहा आके बने लगत हे, हमर छत्तसगढ़िया मुख्यमंत्री ये आयोजन ल करके हमर आदिवासी संस्कृति ल बचाए और संवारे के काम करत हे। उक्त बातंे आज राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव देखने आए ग्रामीणों ने चर्चा के दौरान कही। रायपुर के सार्इ्रंस कॉलेज मैदान में चल रहे आदिवासी नृत्य महोत्सव और राज्योत्सव को देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग यहां पहुंच रहे है। साईंस कॉलेज का मैदान में लोगों का हूजूम पूर्वान्ह 11 बजे से लेकर रात 10 बजे तक बना रहता है। लोग यहां आदिवासी नृत्य के साथ-साथ प्रदर्शनी का लुत्फ उठाते हैं। कार्यक्रम का मुख्य पंडाल कला प्रेमियों से खचाखच भरा होता है। देश के विभिन्न प्रांतों के आदिवासी कला संस्कृति, गीत और नृत्य के साथ-साथ विदेशी कलाकारों की प्रस्तुति का अनोखा संगम यहां लोगों को देखने मिल रहा है। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव को देखकर ऐसा प्र...
राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2022 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दीप प्रज्ज्वलित एवं आदिवासी नगाड़ा बजा कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2022 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दीप प्रज्ज्वलित एवं आदिवासी नगाड़ा बजा कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया

Chhattisgarh, India, Tribal Area News and Welfare
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आदिवासी नृत्य महोत्सव का शुभारंभ करने राजधानी रायपुर स्थित साइंस कॉलेज मैदान पहुंचे इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत, गृहमंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, परिवहन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर,  संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, आबकारी मंत्री कवासी लखमा, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित हैं। राज्य गीत ,अरपा पैरी के धार से राज्योत्सव 2022 का शुभारंभ, मंच पर अतिथिगण मौजूद रहे। - आदिवासी नगाड़ा बजाकर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने जनजातीय समूह का प्रतीक चिह्न मांदर भेंट किया मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021 की कॉफी टेबल बुक का विमोच...
रायपुर : तीन दिवसीय राज्योत्सव के रंगा-रंग शुभारंभ के लिए तैयार साईंस कॉलेज मैदान

रायपुर : तीन दिवसीय राज्योत्सव के रंगा-रंग शुभारंभ के लिए तैयार साईंस कॉलेज मैदान

Chhattisgarh, India, Tribal Area News and Welfare
रायपुर, 01 नवम्बर  2022 नागालैंड से 20 सदस्य वार डांस प्रस्तुत करने के लिए तैयार।अपने दुश्मनों से लड़ने के लिए हमेशा तैयार रहने वाले नागालैंड ...