ट्रैक पर गिरी 1 साल की बच्ची के ऊपर से गुजरी ट्रेन, खरोंच भी नहीं आई

मथुरा (एजेंसी) | जाको राखे सांईया मार सके ना कोई यह काहवत आज मथुरा रेलवे स्टेशन में घटी घटना पर फिट बैठती हैं। मथुरा रेलवे स्टेशन में एक महिला यात्री की गोद से एक साल की बच्ची छूटकर रेलवे ट्रैक पर जा गिरी। स्टेशन परिसर में उपस्थित लोग इस दृश्य को देखकर सहम गए। बच्ची के ऊपर से ट्रेन गुजर गई। इसके बाद जो हुआ, वो वास्तव में चमत्कार से कम नहीं है।

मथुरा रेलवे स्टेशन पर एक महिला यात्री की गोद से 1 साल की बच्ची छूटकर रेलवे ट्रैक पर गिर गई। उसके ऊपर से ट्रेन के 22 डिब्बे गुजर गए। लेकिन बच्ची सही सलामत बच गई। ट्रेन के गुजरने के बाद लोगों ने बच्ची को उठा लिया। बच्ची के माता-पिता झांसी जाने के लिए समता एक्सप्रेस पर चढ़ रहे थे इसी दौरान धक्का-मुक्की में वह मां की गोद से छूटकर ट्रैक पर जा गिरी। बच्ची के पैर पटरी से सटे हुए थे।




यह वाकया हुआ एक साल की बच्ची साहिबा के साथ। बच्ची के ऊपर से ट्रेन गुजर गई। उसका बाल भी बांका नहीं हुआ। गोविंद नगर के डीग गेट निवासी सोनू अपनी पत्नी रानू और दो बेटियों एक साल की साहिबा और तीन साल की नायरा के साथ झांसी जाने के लिए ट्रेन पर चढ़ ही रहा था कि रानू की गोद में बेटी साहिबा और नायरा थी। सोनू सामान पकड़ा हुआ था।

भीड़ ज्यादा होने के कारण धक्कामुक्की में साहिबा गोद से छूटकर पटरी पर जा गिरी। बच्ची के गिरते ही ट्रेन चल पड़ी मां चीखने लगी। जब लोगों को पता चला कि ट्रैक पर मासूम बच्ची पड़ी है तो उनके होश उड़ गए। रेलवे के अफसर और कर्मचारी सहित मौके पर यात्रियों की भीड़ जुट गई।

एक मिनट तक हर कोई यह सोचता रहा कि क्या होगा। मां बेसुध हो गई। जैसे ही ट्रेन गुजरी तो नजारा देख यात्री दंग रह गए। अबोध बच्ची के पैर पटरी से सटे हुए थे। वो चीख रही थी। उसकी आवाज सुनकर लोगों ने राहत की सांस ली। रेलवे स्टेशन पर मौजूद लोगों ने कहा कि यह चमत्कार से कम नहीं है। वहीं बेटी को सही सलामत पाकर मां रानू की आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े।



Leave a Reply