जगदलपुर में स्ट्रॉन्ग रूम परिसर में घुसते मोबाइल कंपनी के तीन कर्मी गिरफ्तार

जगदलपुर (एजेंसी) | धमतरी और बेमेतरा के स्ट्रॉन्ग रूम में लैपटाॅप लेकर घुसने का विवाद अभी थमा भी नहीं था कि अब जगदलपुर में ऐसा ही विवाद सामने आया है। यहां महिला पॉलिटेक्निक में स्ट्रॉन्ग रूम बना है, कॉलेज परिसर में घुसते एक निजी मोबाइल कंपनी के तीन कर्मचारी उमापति, विजय और सुरज पकड़े गए हैं।

रात 9.30 बजे के आसपास 3 लोग कॉलेज परिसर में घूमते हुए देखे गए। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने तीनों को पकड़कर कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस देर रात तक तक तीनों से पूछताछ कर रही थी। कॉलेज में तीन विधानसभाआें के ईवीएम रखे हुए हैं।




दरअसल जगदलपुर के धरमपुरा स्थित पॉलिटेक्निक कॉलेज को स्ट्रांग रूम बनाया गया है। वहां बस्तर जिले की तीन सीटों की ईवीएम वहां रखा गया है। प्रशासन ने यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। इसके बावजूद गुरुवार शाम को परिसर में तीन संदिग्ध लोगों लैपटॉप के साथ देखा गया। आनन-फानन में इसकी जानकारी कांगे्रस कार्यकर्ताओं को लगी तो उन्होंने इन संदिग्धों को मौके पर पकड़ लिया।

बताया जा रहा है कि ये तीनों करीब तीन घंटे तक परिसर में थे। जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में कांग्रेसी पहुंच गए और हंगामा करने लगे। आक्रोशित कांग्रेसियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस और आला नेताओं को इसकी जानकारी दी। देररात तीनों आरोपियों को लेकर पुलिस कोतवाली पहुंची। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।

पूछताछ में संदिग्धों ने निजी टेलिकॉम कंपनी के इंजीनियर व हेल्पर होने की बात कही है। तीनों ने गेट में अपनी जांच करवाने के बाद रजिस्टर में नाम दर्ज करवाया है। उनका कहना है कि किसी भी तरह के हैकर नहीं हैं।

पुलिस मौके पर पहुंच कर तीनों आरोपियों कोतवाली लेकर पहुंची और पूछताछ शुरू की। प्रशासन ने लापरवाही बरतने के कारण प्रधान आरक्षक केशव साहू व आरक्षक इंद्रकुमार पैकरा को निलंबित कर दिया है। इससे पहले बेमेतरा के स्ट्रांग रूम में लैपटॉप के साथ एक सुरक्षा कर्मी को पकड़ा गया था।

एथिकल हैकर का दावा इस तरह हो सकता है EVM हैक

शुरू में स्ट्रॉन्ग रूम की निगरानी कर रहे कांग्रेसियों को लगा कि वे निर्वाचन अफसर हैं। फिर भी उन्हें शक हुआ, इसके बाद कांग्रेसियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी व पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस तीनों को साथ ले गई। कांग्रेस ने इस मामले में आरोप लगाया कि स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है। चुनाव हारने के डर से भाजपा जीत के लिए किसी भी हद तक जा सकती है।

स्ट्रॉन्ग रूम की 3 लेयर की सुरक्षा है। बिना अधिकार पत्र कॉलेज परिसर में रिलायंस कंपनी के 2 कर्मी घुसे थे, इसलिए गेट पर तैनात दो लोगों को निलंबित किया है। हालांकि कर्मियों ने रजिस्टर में एंट्री की थी। वे खुले मैदान में मोबाइल टॉवर मेंटेनेंस का काम कर रहे थे। कांग्रेसियों ने उनके पास लैपटॉप देख टैंपरिंग का आरोप लगाया है। – डॉ. अय्याज तंबोली, कलेक्टर, जगदलपुर



Leave a Reply