raigarh - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: raigarh

किसान ने की आत्महत्या, खेत पर काम करने गई थीं बेटियां, लौटीं तो कमरे में मिली पिता की लाश

किसान ने की आत्महत्या, खेत पर काम करने गई थीं बेटियां, लौटीं तो कमरे में मिली पिता की लाश

छत्तीसगढ़
रायगढ़ | छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के चक्रधरनगर थाना इलाके में एक किसान ने खुदकुशी कर ली। यह घटना कोतरलिया गांव की है। थाना प्राभारी विवेका पाटले ने  बताया कि मामला आत्महत्या का लग रहा  है, प्रकरण की जांच की जा रही है। रविवार दोपहर 2 बजे के आस-पास किसान सुनील कुमार प्रधान घर पर अकेला था। उसकी तीन बेटियां और पत्नी खेत पर काम करने गए थे। जब 3 बजे उसकी बेटियां अंजली, अंबिका और अमृता घर वापस आईं। दरवाजा बंद होने पर उन्होंने पड़ोसियों को जानकारी दी। काफी देर तक दरवाजा न खुल पाने से इस बारे में पुलिस को सूचित किया गया। जब पुलिस के साथ परिजन अंदर पहुंचे तो सुनील की लाश लटकी नजर आई। मृतक के भाई किशोर प्रधान ने पुलिस को बताया कि सुनील काफी दिनों से बेटी की शादी को लेकर चिंतित था। वह करीब डेढ़ एकड़ के खेत में सब्जियां उगाता था और मजदूरी भी करता था।
छत्तीसगढ़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिले में 10 से ज्यादा पंचायतें ऐसी जहां पंच और सरपंच का हुआ निर्विरोध चुनाव

छत्तीसगढ़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिले में 10 से ज्यादा पंचायतें ऐसी जहां पंच और सरपंच का हुआ निर्विरोध चुनाव

politics, छत्तीसगढ़
रायगढ़ : छत्तीसगढ़ में ग्राम पंचायतों में चुनाव की प्रक्रिया जारी है। ऐसे में रायगढ़ जिले में कुछ ऐसे गांव भी हैं, जहां चुनाव से पहले ही सरपंच और पंच का चुनाव हो गया। इससे उन गांवों में अब चुनाव कराने की जरूरत नहीं होगी। खास बात यह है कि 10 से ज्यादा ऐसी पंचायतों में पंच और सरपंच को स्थानीय जनता ने निर्विरोध चुना है। ऐसे गांवों के विकास के लिए शासन विशेष पैकेज देगी। फैक्ट फाइल  चुनाव होंगे – 14344 र्निविरोध- 6168 र्निविरोध पंच-6131 र्निविरोध सरपंच-27 र्निविरोध बीडीसी-10 र्निविरोध डीडीसी-00 सरपंच निर्विरोध इसलिए पंचों को मनाया  बरमकेला ब्लॉक के खिचरी में सरपंच निर्विरोध होने के बाद ग्रामीणों ने योग्य पंचों को खुद से चुनाव किया। सरपंच के लिए सिर्फ रूकमणि मनोहर पटेल ने ही नामांकन दाखिल किया, जबकि पंच के लिए हर वार्ड से 3 से 4 प्रत्याशी थे। अंतिम दिन ग्रामीणों ने एक राय
एसडीएम और प्रशिक्षु आईएएस चंद्रकांत वर्मा पर मारपीट व जातिगत गाली गलौज का आरोप

एसडीएम और प्रशिक्षु आईएएस चंद्रकांत वर्मा पर मारपीट व जातिगत गाली गलौज का आरोप

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | सोमवार को तहसील कार्यालय में एसडीएम प्रशिक्षु आईएएस चंद्रकांत वर्मा के पर कृषि विभाग के कर्मचारियों ने मारपीट करने एवं एवं जातिगत गाली गलौज करने का आरोप लगाया है। विभाग के कर्मचारी ज्ञानी जोल्हे ने बताया कि कृषि विभाग के आरईओ एसडीएम के पास एक महिला कर्मचारी के साथ धान खरीदी केंद्र बटाऊपाली में फड़ प्रभारी द्वारा दुर्व्यवहार करने की शिकायत करने पहुंचे थे। कार्यालय में हम लोगों को देखते ही एसडीएम भड़क गए और मेरे साथ दो और कर्मचारी को अपने चेंबर पर रोक लिए और अन्य कर्मचारियों को बाहर जाने को कहा। जब हम दफ्तर में थे तो एसडीएम ने मेरे साथ मारपीट की और जातिगत गाली भी की गई। सेवा सहकारी समिति दानसरा के उप केंद्र बटाऊपाली में कृषि विभाग के आरईओ मोनिका पैकरा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। सोमवार की सुबह महिला अधिकारी को किसानों ने धान तौलाई के लिए ढाई रुपए लिया जा र
रायगढ़: हाउसिंग बोर्ड की 4 कॉलोनियों में नहीं बिक रहे घर, अब 20 % घटाई कीमत, 10 से 35 लाख रुपए तक मिलेंगे

रायगढ़: हाउसिंग बोर्ड की 4 कॉलोनियों में नहीं बिक रहे घर, अब 20 % घटाई कीमत, 10 से 35 लाख रुपए तक मिलेंगे

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | गृह निर्माण मंडल ने खाली पड़े ईडब्ल्यूएस, एलआईजी और एमआईजी मकान और फ्लैट्स की कीमत 20 प्रतिशत तक घटाने का फैसला किया था। शहर के साथ खरसिया, धरमजयगढ़, पुसौर जैसे इलाकों के भी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के मकानों के दाम भी घटाए गए हैं। शहर में कोतरा रोड, अतरमुड़ा, सर्किट हाऊस, जूटमिल, कबीर चौक जैसे इलाकाें के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनियों में अलग-अलग कैटेगरी के मकान खाली हैं। इन मकानों में छूट मिलेगी हाउसिंग बोर्ड के कोतरा रोड स्थित अटल विहार में फ्लैट में एलआईजी, एमआईजी फ्लैट, अतरमुड़ा स्थित अटल विहार में एमआईजी मकान, सर्किट हाऊस स्थित भवानी शंकर षड़ंगी कॉलोनी में एमआईजी और एचआईजी मकान एवं कबीर चौक स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में ईडब्ल्यूएस में 20% की छूट दी जाएगी। इसमें एमआईजी, एचआईजी और एलआईजी मकान 25-35 लाख रुपए के बीच के हैं। ईडब्ल्यूएस मकान भी 10-15 लाख रुपए के हैं। रियल इस्टे
छत्तीसगढ़: चक्रधर समारोह के निमंत्रण कार्ड में नर्तकी के पैर के ऊपर लगाई भगवान गणेश की फोटो, विवाद

छत्तीसगढ़: चक्रधर समारोह के निमंत्रण कार्ड में नर्तकी के पैर के ऊपर लगाई भगवान गणेश की फोटो, विवाद

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | चक्रधर समारोह के निमंत्रण कार्ड के लिफाफे में कथक नृत्यांगना के पैरों के ऊपर भगवान गणेश की तस्वीर छपने पर विवाद शुरू हो गया। विरोध होने पर अब जिला प्रशासन ने नए कार्ड छापने के लिए आदेश दे दिए हैं। प्रशासन ने पहले सवा दो लाख रुपए खर्च कर ढाई हजार निमंत्रण कार्ड प्रिंट कराए थे। अब यह सभी कार्ड बेकार हो गए हैं। ऐसे में संभवत: इन्हें नष्ट किया जाएगा। पैरों पर प्रिंट कर दी थी नर्तक गणेश की फोटो दरअसल चक्रधर समारोह के साथ गणेश मेला भी होता है। ऐसे में निमंत्रण पत्र पर भगवान गणेश की फोटो भी प्रकाशित की जाती है। इस बार डिजाइनर ने कार्ड के लिफाफे पर नर्तकी का घुंघरू बंधा पांव दिखाया और उसके ऊपरी हिस्से पर ही तबला बजाते भगवान गणेश की फोटो छाप दी। कार्ड जारी होते ही कुछ संगठनों और लोगों ने इसकी आलोचना की। कलेक्टर ने तुरंत इस पर संज्ञान लिया और इनविटेशन कार्ड के नए कवर प्रिंट कर
पीएम आवास योजना के रुपए लेकर खरीदे बाइक, फ्रिज; अब 792 लोगों से होगी 3.80 करोड़ की वसूली

पीएम आवास योजना के रुपए लेकर खरीदे बाइक, फ्रिज; अब 792 लोगों से होगी 3.80 करोड़ की वसूली

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक देश में सभी को छत देने की बात कही जा रही है। इसके लिए लक्ष्य और उसके पूरा होने के आंकड़े भी पेश किए जा रहे हैं, लेकिन जमीनी हकीकत चौकाने वाली है। सरकार मकान बनाने के लिए गरीबों के खाते में पैसे डाल रही है, लेकिन लोग पैसे लेकर खर्च कर लेते हैं। किसी ने उस पैसे से मोटर साइकल खरीद ली तो कोई टीवी, फ्रिज कूलर ले आया। मकान के नाम पर कहीं पत्थरों का टीला तो कहीं मिली झोपड़ियां मकान के नाम पर कहीं पत्थरों का टीला है तो कहीं झोपड़ियां। परेशान जिला पंचायत ने ऐसे लोगों से राशि वसूली करने के लिए सभी एसडीएम को आरआरसी जारी करने कहा है। रायगढ़ जिले के सभी 9 जनपदों में ऐसे लोगों की संख्या करीब 792 है जिन्हें प्रथम किस्त की राशि 3 करोड़ 80 लाख रुपए जारी करने के बाद भी मकान नहीं बनाया है। जिला पंचायत की ओर से पीएम आवास योजना के तहत तीन किस्त
सांसद गोमती साय ने मांगा बंगला, पूर्व एमपी बोले घर की बात है, जब कहेंगीं खाली कर दूंगा

सांसद गोमती साय ने मांगा बंगला, पूर्व एमपी बोले घर की बात है, जब कहेंगीं खाली कर दूंगा

politics
रायगढ़ (एजेंसी) | नवनिर्वाचित सांसद गोमती साय को पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री और सांसद विष्णुदेव साय का बंगला पसंद आया है। उन्होंने 18 जून को कलेक्टर को आवेदन देकर बंगला अलॉट करने के लिए कहा है। चुनाव जीतने के बाद सांसद गोमती जशपुर जिले की मुंडाडीह स्थित अपने घर में रह रही हैं। शहर के प्रवास के दौरान वे सर्किट हाउस में ठहरती हैं जबकि बैठकें जिला भाजपा कार्यालय में ही लेती हैं। सांसद ने जो बंगला मांगा है वह फिलहाल पूर्व सांसद विष्णुदेव के पास है। जब पूर्व केंद्रीय मंत्री से गोमती साय के आवेदन के विषय में बात की तो उन्होंने कहा कि यह घर की बात है, गोमती जब कहेंगीं वे बंगला खाली कर देंगे। वहीं रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक कोतरा रोड के गजाननपुरम स्थित अपने निवास से ही दफ्तर संचालित कर रहे हैं। प्रकाश यहीं लोगों से मिलते हैं, उन्होंने कलेक्टर को बंगले के लिए आवेदन नहीं किया है। लैलूंगा विधा
मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना: तीर्थ दर्शन का 19 दिन पहले बनाया था प्लान, ट्रेन छूटने से 12 घंटे पहले यात्रा रद्द

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना: तीर्थ दर्शन का 19 दिन पहले बनाया था प्लान, ट्रेन छूटने से 12 घंटे पहले यात्रा रद्द

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने वित्तीय स्वीकृति के बिना रायगढ़ और जशपुर के एक हजार लोगों को हरिद्वार, ऋषिकेश और भारत माता घुमाने के लिए कार्यक्रम तय कर दिया। बुधवार को सुबह 10 बजे ट्रेन छूटनी थी। रायगढ़ और जशपुर के डिप्टी डायरेक्टरों को सिर्फ इतना बताया गया कि विषम परिस्थितियों के कारण तीर्थ यात्रा रद्द की गई है। जिस समय यात्रा रद्द होने का संदेश मिला तब जशपुर के 370 लोग पत्थलगांव के एक ढाबे में रुके थे। उन्हें वहां से ही वापस जाना पड़ा। रायगढ़ के भी लोग सुबह रेलवे स्टेशन पहुंचने के लिए पूरी तैयारी कर चुके थे। उन्हें आनन-फानन में संदेश देकर रोकना पड़ा। समाज कल्याण विभाग की ओर से यात्रा की सूचना मिलने के बाद आईआरसीटीसी ने पूरी तैयारी कर ली थी। ऐसे में सवाल कि आखिर बिना स्वीकृति के कार्यक्रम कैसे तय कर दिया था तीर्थ यात्रियों को ले जाने वाली ट्रेन तैयार थी। साथ ह
लैलूंगा का दशहरी आम बना खास, महाराष्ट्र से आ रही डिमांड, कमाई से महिलाएं बनीं आत्मनिर्भर

लैलूंगा का दशहरी आम बना खास, महाराष्ट्र से आ रही डिमांड, कमाई से महिलाएं बनीं आत्मनिर्भर

special
रायगढ़ (एजेंसी) | कोड़ासिया और गमेकेला की महिलाओं ने जिले में अलग पहचान बना ली है। पारंपरिक खेती और मजदूरी छोड़कर महिलाओं ने आम का बगीचा लगाया था। 'आम' ने इन महिलाओं को खास बना दिया। इनकी मेहनत का परिणाम अब दूसरों को भी प्रोत्साहित कर रहा है। लैलूंगा ब्लॉक की महिलाएं काजू के साथ ही अब दशहरी आम का उत्पादन कर रही हैं। खास बात कि इन आमों की मांग पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र से भी आने लगी है। इसके चलते महिलाएं अब आत्मनिर्भर बनने लगी हैं। 30 पौधे लगाए, अब एक पेड़ से 30 से 50 किलो आम की पैदावार महिलाओं ने 10 साल पहले छह एकड़ में 30 दशहरी आम और 25 काजू के पौधे लगाए थे। अब इनसे उत्पादन शुरू हो गया है। एक पेड़ में 30 से 50 किलो तक आम का उत्पादन हो रहा है। इससे अब हर साल एक महिला की 35 से 40 हजार तक की कमाई हो जाती है। महिलाएं आम पत्थलगांव के बाजार में बेचती हैं लेकिन महाराष्ट्र से भी डिमांड आती है।
अब तक नहीं मिल पाया विराट का कोई सुराग, डीजी की स्पेशल टीम ने किया दिनभर सर्च ऑपरेशन फिर भी खाली हाथ

अब तक नहीं मिल पाया विराट का कोई सुराग, डीजी की स्पेशल टीम ने किया दिनभर सर्च ऑपरेशन फिर भी खाली हाथ

छत्तीसगढ़
रायगढ़ (एजेंसी) | भाजपा कार्यालय के सामने शनिवार की रात घर के बाहर से किडनैप किए गए बर्तन व्यवसायी के 6 वर्षीय बेटे विराट का चाैथे दिन भी कोई सुराग नहीं मिल पाया। रायपुर से डीजी की बनाई स्पेशल टीम ने जांच शुरू की। परिजनों से पूछताछ की। अभी तक यह भी स्पष्ट नहीं हुआ है कि विराट का अपहरण फिरौती के लिए किया गया है या कोई दुश्मनी थी। पुलिस दोनों एंगल पर जांच कर रही है। साइबर सेल एक्सपर्ट को इस काम में लगाया गया है। रायपुर से भी आई है। इसके बाद भी पुलिस कुछ नहीं कर पा रही है। जैसे जैसे दिन बढ़ रहा है परिजनों की चिंताएं बढ़ रही हैं। सुरक्षित वापसी के लिए घर में पूजा पाठ चल रहा है। ज्योतिषियों की भी मदद ली जा रही है। शनिवार की रात 8.20 बजे भाजपा कार्यालय के ठीक सामने की गली में बर्तन व्यवसायी विवेक सराफ के 6 वर्षीय बेटे विराट का घर के करीब से कार सवारों ने अपहरण कर लिया है। अपहरण फिरौती के