pearl cultivation - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: pearl cultivation

पहल: अब बस्तर में होगी ‘मोती की खेती’, मुफ्त प्रशिक्षण भी देंगे

पहल: अब बस्तर में होगी ‘मोती की खेती’, मुफ्त प्रशिक्षण भी देंगे

special, छत्तीसगढ़
जगदलपुर | बस्तर की आबोहवा अब सीपों से मोती निकालने के लिए उपयुक्त मानी जाने लगी है। सीपों को पालने के लिए एक संस्था आगे आई है, जो बस्तर के आदिवासियों को सीपों पालने का प्रशिक्षण देने के साथ ही उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम में जुट गई है। बीते करीब 20 महीनों की मेहनत के बाद हाल में सीपों से मोतियों की पहली खेप संस्था ने निकाली है। बताया जाता है कि शहर में आदिवासियों के लिए काम करने वाली संस्था सॉफ्टवेयर (सोसाइटी ऑफ ट्राइबल वेलफेयर एंड रूरल एजुकेशन) ने करीब 20 महीने पहले सीपों को पालना शुरू किया। इसके बाद उन्हें मोतियों की पहली खेप मिली है। संस्था के संचालक मंडल ने आदिवासियों को अब इसका मुफ्त प्रशिक्षण देने की बात कही है। 20 हजार से शुरुआत, 20 महीनों बाद हर माह 15 हजार आय: बस्तर में सीपों का पालन कर मोतियां बनाने करने वाली मोनिका ने बताया कि कम निवेश में व्यक्ति आत्मनिर्भ