kawasi lakhma - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo
Gondwana Express banner

टैग: kawasi lakhma

कुर्सी के लिए उद्योग मंत्री के सामने ही भिड़ गए कांग्रेसी, प्राधिकरण अध्यक्ष के लिए भी नहीं छोड़ी कुर्सी

कुर्सी के लिए उद्योग मंत्री के सामने ही भिड़ गए कांग्रेसी, प्राधिकरण अध्यक्ष के लिए भी नहीं छोड़ी कुर्सी

politics
जगदलपुर (एजेंसी) | कुर्सी के लिए कांग्रेसी नेता प्रदेश के उद्योग मंत्री कवासी लखमा के सामने ही आपस में भिड़ गए। मंत्री के बगल में बैठने को लेकर नेताओं के बीच तू-तू, मैं-मैं हो गई। हालात यहां तक बिगड़े की नेताओं ने बस्तर प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल तक के लिए कुर्सी खाली नहीं की। हालांकि फिर कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर मामले को शांत कराया। यह सारा वाक्या उद्योग मंत्री कवासी लखमा की गुरुवार को बुलाई गई प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान हुआ। पूर्व जिलाध्यक्ष ने मंत्री, विधायक के लिए भी नहीं छोड़ी कुर्सी दरअसल, विदेश दौरा कर जगदलपुर पहुंचे उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने गुरुवार को सर्किट हाऊस में मीडिया को बात करने के लिए बुलाया था। इस पत्रकारवार्ता में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष  राजीव शर्मा और पूर्व अध्यक्ष उमा शंकर शुक्ला भी पहुंचे थे। प्रेसवार्ता के दौरान कैबिनेट मंत्री लखमा के बगल में पूर्व और वर
चुनावी बोल: कवासी लखमा बोले, ‘एक नंबर बटन दबाना, दूसरा बटन दबाओगे तो लगेगा करंट’

चुनावी बोल: कवासी लखमा बोले, ‘एक नंबर बटन दबाना, दूसरा बटन दबाओगे तो लगेगा करंट’

politics
कांकेर (एजेंसी) | चुनावो का बाजार गरम है और उससे भी गरम चर्चा नेताओ के भाषण की है। लोकसभा चुनाव के लिए सभी नेताओ ने लगता है चुनाव आयोग की अवमानना करने के ठान ली है। अभी हालिया बयान कांग्रेस सरकार के मंत्री कवासी लखमा का आया है। लखमा काेरर व केंवटी में प्रचार के दाैरान सभा के दौरान सार्वजनिक मंच से वोटरों को कह दिया कि ईवीएम में एक नंबर का ही बटन दबाएं। कोई दूसरा बटन दबाया तो करंट लगेगा। दूसरा कोई बटन नही दबाना उसमे करंट है: लखमा लखमा के बयान ने उनके लिए मुसीबत खड़ी कर दी है। भाजपा इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेगी। कांग्रेस प्रत्याशी दीपक बैज के प्रचार के दौरान लखमा को सोमवार को कोरर पहुंचे थे। यहां अपने भाषण के बाद कवासी लखमा ने कहा, 18 अप्रैल को सभी को वोट डालना है। वहां मशीन में एक नंबर का बटन दबाना है। दूसरा कोई बटन नहीं दबाना। उसमें करंट है। आचार संहिता का उल्लंघन है  सभा
आबकारी मंत्री कवासी लखमा की फिसली जुबान, बोले, खदान मोदी के बाप की नहीं

आबकारी मंत्री कवासी लखमा की फिसली जुबान, बोले, खदान मोदी के बाप की नहीं

politics
दंतेवाड़ा (एजेंसी) | जैसे जैसे लोकसभा चुनाव की तारीखे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे प्रचार-प्रसार में पसीना बहा रहे नेताओं की जुबा से तीखे बोल निकल रहे हैं। दंतेवाड़ा के बालूद की चुनावी सभा में कोंटा से कांग्रेस विधायक और मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि बैलाडीला की खदानें बस्तर की हैं, मोदी के बाप की नहीं हैं। लखमा आगे बाेले कि भाजपा वाले चौकीदार का टैग लगाकर घूम रहे और सीएम का दामाद घोटाला करके भाग निकला। खदानों के निजीकरण के विरोध में बोल रहे थे लखमा दरअसल सोमवार को दंतेवाड़ा के बालूद की चुनावी सभा में लखमा ने बैलाडीला की खदानों के निजीकरण के विरोध में बोलना शुरू किया। माेदी सरकार पर खदानों और नगरनार संयंत्र निजी हाथ में देने का आराेप लगाते हुए कहा- 13 नंबर डिपॉजिट अडानी को बेचा गया है, क्या यह खदान मोदी के बाप की है? इसी क्रम में बोलते हुए लखमाने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पर भ
न काला धन आया, न गरीबों के खाते में 15 लाख, 5 साल जनता परेशान हुई: कवासी लखमा

न काला धन आया, न गरीबों के खाते में 15 लाख, 5 साल जनता परेशान हुई: कवासी लखमा

politics
रायपुर (एजेंसी) | आबकारी व उद्योग मंत्री व स्थानीय विधायक कवासी लखमा और सांसद प्रत्याशी दीपक बैज की उपस्थित में शुक्रवार को कोंटा, दोरनापाल, सुकमा, छिंदगढ़, कुकानार और तोंगपाल में चुनावी कार्यालय का उद्धाटन किया। चुनावी कार्यालय उद्धाटन का सिलसिला कोंटा से शुरु हुआ और तोंगपाल में खत्म हुआ। इस दौरान नेताओं ने कार्यकर्ताओं को संबोधित कर उनमें जोश भरा। विधानसभा चुनाव की तरह की लोकसभा चुनाव में बेहतर नतीजे के लिए काम करने की बात कही। इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष करण सिंह देव, संतोष कोलकोंडा, जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी, युकां प्रदेश महासचिव दुर्गेश राय, जिला प्रवक्ता राजू साहू, नगर अध्‍यक्ष शेख सजार व सुरेश सिंह चौहान, मनोज चौरसिया, मोहम्मद हसन, राजेश नारा, मुकेश कश्यप, धर्मेंद्र चौहान समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे। कांग्रेस सत्ता में आएगी तो ज
आईपीएस जीतेंद्र शुक्ला ने अपने तबादले को अवांछित और अप्रत्याशित बताते हुए सोशल मीडिया में कहा, गुड बाय सुकमा कहने का समय आ गया है।”

आईपीएस जीतेंद्र शुक्ला ने अपने तबादले को अवांछित और अप्रत्याशित बताते हुए सोशल मीडिया में कहा, गुड बाय सुकमा कहने का समय आ गया है।”

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | आईपीएस अफसर जितेंद्र शुक्ला ने खुद को एसपी सुकमा के पद से हटाए जाने को लेकर सवाल उठाते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली है। शुक्ला ने पोस्ट में अपने ट्रांसफर की ओर इशारा करते हुए भूपेश सरकार के फैसले को अप्रत्याशित और अवांछित बताते हुए लिखा है कि अलविदा सुकमा। रविवार को किए गए इस पोस्ट में शुक्ला ने बस्तर पोस्टिंग और वहां मिली चुनौतियों का जिक्र किया है। सूत्रों के अमुसार प्रभारी मंत्री कवासी लखमा के कहने पर तत्कालीन सुकमा एसपी जितेंद्र शुक्ला ने एक टीआई का ट्रांसफर नहीं किया था। इसकी परिणति में शुक्ला का ट्रांसफर हो गया। प्रदेश में नई सरकार आने के बाद हुए तबादलों में यह पहला मौका है जिसमें किसी आईपीएस अफसर ने सोशल मीडिया के जरिए सरकार के फैसले का विरोध किया है। शुक्ला ने ये लिखा अपनी पोस्ट में अवांछित और अप्रत्याशित... लेकिन अब ये कहने का समय आ गया है... अ
तेंदूपत्ता बोनस वितरण में गड़बड़ी की होगी जांच, मंत्री लखमा ने दिए निर्देश

तेंदूपत्ता बोनस वितरण में गड़बड़ी की होगी जांच, मंत्री लखमा ने दिए निर्देश

छत्तीसगढ़
सुकमा (एजेंसी) | कलेक्‍टोरेट सभा कक्ष में सोमवार दोपहर को आयोजित समीक्षा बैठक में उद्योग एवं वाणिज्य कर (आबकारी) मंत्री कवासी लखमा ने आदिवासी विकास विभाग द्वारा संचालित आश्रम-छात्रावास में की गई मरम्मत की जांच के निर्देश दिए। लखमा ने कहा कि आश्रम-छात्रावास की मरम्मत के लिए राज्य शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई राशि का दुरुपयोग किया है। उन्होंने इसकी जांच के लिए कलेक्‍टर से समिति गठित करने को कहा। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); तेंदूपत्ता बोनस वितरण में हुई अनियमितता की लगातार मिल रही शिकायतों पर कवासी लखमा ने नाराजगी जाहिर करते हुए जांच के निर्देश दिए। गौरतलब है कि कोंटा ब्लॉक की तेंदूपत्ता समितियों में प्रबंधकों और रोकड़पाल द्वारा संग्राहकों को कम बोनस राशि वितरण किए जाने की खबरें आई थी। नलजल योजनाओं का कियान्वयन  मंत्री लखमा ने सुकमा, कोंटा और दोरनापा
हेलिकॉप्टर से उड़ने वाले भाजपा के मंत्री-विधायकों को जनता ने जमीन पर ला दिया: कवासी लखमा

हेलिकॉप्टर से उड़ने वाले भाजपा के मंत्री-विधायकों को जनता ने जमीन पर ला दिया: कवासी लखमा

politics
जगदलपुर (एजेंसी) | छत्तीसगढ़ के लोगों से झूठा वादा कर सत्ता में आने के बाद पूर्व भाजपा सरकार के मंत्री व विधायक सिर्फ हेलिकॉप्टर से यहां-वहां घूमते रहे। इसलिए विधानसभा चुनाव में नकारते हुए जनता ने उन्हें सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। प्रदेश में शिक्षा मंत्री रहे केदार कश्यप और महेश गागड़ा भी हेलिकॉप्टर से नीचे नहीं उतरते थे। इसलिए उन्हें भी जनता ने चुनाव में हराकर जमीन पर ला दिया। आने वाले लोकसभा चुनाव में भी केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनना तय है। गादीरास में आयोजित कार्यक्रम में उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि छग में वनोपज आधारित उद्योग प्राथमिकता के साथ स्थापित किए जाएंगे। छोटे-बड़े किसी भी तरह के उद्योग के लिए जबरन जमीन अधिग्रहण नहीं किया जाएगा। लोगों को विश्वास में लेकर उद्योग लगाए जाएंगे। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सरगुजा और बस्तर