ganeshotsav - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: ganeshotsav

अनंत चतुर्दशी के साथ आज होगा गणपति विसर्जन

अनंत चतुर्दशी के साथ आज होगा गणपति विसर्जन

छत्तीसगढ़
आज रविवार यानी 23 सितम्बर को गणेश चतुर्थी खत्म होने के बाद पितृपक्ष कल सोमवार (24 सितम्बर) को से शुरू होकर 8 अक्टूबर तक रहेगा। इस दौरान लोग अपने मृत परिजनों का पिंड दान करेंगे। 8 अक्टूबर तक चलने वाले पितृ पक्ष इस बार 16 दिनों तक रहेगा। पितृपक्ष में पितर पृथ्वी पर आ जाते हैं, पितृ के निमित्त श्रद्धा पूर्व किए गए तर्पण और दान को ही श्राद्ध कहा जाता है। इस दौरान शुभ कार्यों को वर्जित माना गया है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); शनिवार को पंचक होने के बाद भी देर रात तक गणेश विसर्जन किया गया। रविवार को अनंत चतुर्दशी में भगवान गणेश का विसर्जन होगा। शनिवार से पंचक लगने के बाद भी रविवार को भगवान गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा। जिसपर पंचक कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। शनिवार को देर रात तक लोग मूर्ति विसर्जन करते रहे। रायपुर में गणेश विसर्जन के स्थान पर विशेष इंत
Ganesh Chaturthi 2018: जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त और प्रतिष्ठापना विधि

Ganesh Chaturthi 2018: जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त और प्रतिष्ठापना विधि

special
आज पुरे देश में गणेश चतुर्थी बहुत ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। तीज के दूसरे दिन यानि कि भाद्रपद मास की चतुर्थी से चतुर्दर्शी तक यह उत्सव मनाया जाता है। मान्यता है कि इन 10 दिनों में गणपति बप्पा अपने भक्तों के घर आते हैं और उनके दुख हरकर ले जाते हैं। यही वजह है कि लोग उन्हें अपने घर में विराजमान करते हैं। 10 दिन बाद उनका विसर्जन किया जाता है। श्रीगणेश स्थापना मुहूर्त श्रीगणेश प्रतिमा स्थापना अभिजीत मुहूर्त में सुबह 10.40 से दोपहर 12.40 के बीच कर सकते हैं। अन्य मुहूर्त सुबह 6.16 से 7.46 शुभ 10.46 से दोपहर 12.16 चंचल दोपहर 12.16 से 1.46 लाभ दोपहर 1.46 से 3.16 अमृत प्रतिमा स्थापना सूर्यास्त के बाद नहीं की जानी चाहिए। 13 सितंबर मध्याह्न गणेश पूजा का समय - 11:03 से 13:30 बजे तक 13 सितंबर को चन्द्रमा को नहीं देखने का समय - 09:31 से 21:12 बजे तक चतुर्थी तिथि समाप्त - 13 सितम्बर