fraud - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: fraud

पत्नी को मंत्रालय में बड़ा अधिकारी बताकर चपरासी की नौकरी दिलाने का झांसा, 17 बेरोजगारों से ठगे 24 लाख

पत्नी को मंत्रालय में बड़ा अधिकारी बताकर चपरासी की नौकरी दिलाने का झांसा, 17 बेरोजगारों से ठगे 24 लाख

छत्तीसगढ़
कवर्धा (एजेंसी) | कवर्धा जिले के बेरोजगार युवक ने खुद को सब इंस्पेक्टर ओर पत्नी को मंत्रालय में बड़ा अधिकारी बताकर बेरोजगारों से 23 लाख की ठगी कर ली। उसने अपने पिता को सिंचाई विभाग में एसडीओ भी बताया। उसने बेजारोजगारों को चपरासी की पक्की नौकरी दिलाने का वादा किया और किसी से एक दो किसी से डेढ़ लाख ले लिए। 17 बेरोजगारों से 24 लाख लेने के बाद उसने फर्जी नियुक्ति पत्र दे दिया। सच सामने आने के बाद बेरोजगारों ने पैसे मांगे। उसने उनके पैसे भी नहीं लौटाए। उसके बाद पीड़ितों ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार मूलत: कवर्धा का रहने वाला शेख असलम रजा (27) बेरोजगार है। वह रायपुर में किराए पर रहता है। उसने कवर्धा में सभी को ये बताया है कि वह सब इंस्पेक्टर है। उसने वहां के लोगों को झांसा देने के लिए वर्दी भी बनवा रखी है। वह अपनी पत्नी को मंत्रालय का बड
मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने का झांसा देकर 26 लाख ठगे, आरोपी फ़रार

मेडिकल कॉलेज में दाखिला दिलाने का झांसा देकर 26 लाख ठगे, आरोपी फ़रार

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | राजधानी के कारोबारी की मौसेरी बहन का नागपुर के मेडिकल कॉलेज में एडमिशन कराने के नाम पर जालसाज ने उनसे 25.75 लाख रुपए ठग लिए। शातिर ठगों ने जालसाजी करने के लिए राजधानी में तेलीबांधा स्थित एक कॉम्प्लेक्स में करियर ग्रोथ के नाम से पहले दफ्तर खोला। ऑफिस देखकर ही पीड़ित छात्रा समेत कई लोग मेडिकल कॉलेज में एडमिशन कराने के लिए पहुंचे और जाल में फंस गए। नागपुर में दर्ज कराई गई एफआईआर को अब यहां जांच के लिए भेजा गया है। घटना के बाद से आरोपी संजय सिंह और सुनील सिंह फरार है। उनके ऑफिस में भी ताला लगा है। पुलिस के आला अफसरों का मानना है कि इस गिरोह ने एक नहीं बल्कि देश के अलग-अलग शहरों में छात्र-छात्राओं के परिजनों से लाखों की ठगी की है। पुलिस अब इस आरोपियों के बारे में मिली जानकारी और उनके अकाउंट नंबर के आधार पर पड़ताल कर रही है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि तेलीबांधा निवासी
बारहवीं पास ने नौकरी के लिए फर्जी साइट बनाकर लाखो रूपये ठग लिए कई शिक्षित बेरोजगार से

बारहवीं पास ने नौकरी के लिए फर्जी साइट बनाकर लाखो रूपये ठग लिए कई शिक्षित बेरोजगार से

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | बिहार के रहने वाले बारहवीं पास युवक धर्मेंद्र कुमार (35) ने इंटरनेट पर नौकरी और ग्राहक सेवा केंद्र (Customer Service Point )की एजेंसी देने वाली आधा दर्जन फर्जी वेबसाइट बनाकर कई शिक्षित बेरोजगारों के साथ लाखो रूपये की ठगी की। उसने लोगो को बेवकूफ बनाने के लिए अपनी फर्जी वेबसाइट पर सरकारी वेबसाइट का लिंक अपलोड कर लिया। फिर इस वेबसाइट से जो भी बेरोजगार सरकारी वेबसाइट पर आवेदन करते थे, वह उसकी वेबसाइट पर अपलोड हो जाता। उसके बाद वह उन्हें फोन कर नौकरी दिलाने का झांसा देकर पैसे वसूलता था। आरोपी ने गोबरा नवापारा के एक युवक से सवा लाख की ठगी की। युवक की शिकायत पर पुलिस ने बेहद हाईटेक तरीके से उसे घेरा और पकड़ लिया। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि उसने देश के कई शहरों के बेरोजगारों से लाखों की ठगी की है। अब उसका रिकार्ड चेक किया जा रहा है। एसएसपी अमरेश मिश्रा ने बताया कि
ऑनलाइन ठगों ने पुलिस को ही दिया चकमा, हवलदार के खाते से पार किये 50 हजार

ऑनलाइन ठगों ने पुलिस को ही दिया चकमा, हवलदार के खाते से पार किये 50 हजार

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | बैंक खातों में सेंध लगाने वाले ऑनलाइन ठग अब पुलिस को ही चकमा देने लगे है। रायपुर के कबीरनगर इलाके में रहने वाले एक हवलदार को ठगों ने फोन या मैसेज नहीं, बल्कि ई-मेल के जरिये ठगा। 18वीं बटालियन के हवलदार को ठगों ने बैंक के नाम से मेल किया कि आजकल ठगी की वारदातें बढ़ गई हैं, इसलिए उनके ATM कार्ड की तकनीकी सुरक्षा बढ़ानी है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हवलदार ने मेल पर भरोसा करते हुए मांगी गई जानकारियां जैसे कार्ड के डीटेल और खाते का ब्योरे के साथ रिप्लाई भेज दी। इसके अगले दिन ठग ने फोन करके कार्ड अपडेट करने की सूचना दी और मोबाइल पर आया ओटीपी मांग लिया। यह देते ही कुछ देर बाद उनके खाते से ऑनलाइन शॉपिंग शुरू हुई और पांच ट्रांजेक्शन से 50 हजार रुपए निकाल लिए गए। पुलिस ने बताया कि ठगी का शिकार कैलाश सिंह क्षत्री 18वीं बटालियन में हवलदार
मंत्रालय में नौकरी लगाने का झांसा देकर प्लेसमेंट एजेंसी ने 20 लोगों से की 15 लाख की ठगी

मंत्रालय में नौकरी लगाने का झांसा देकर प्लेसमेंट एजेंसी ने 20 लोगों से की 15 लाख की ठगी

छत्तीसगढ़
आरोपियों ने बिना इंटरव्यू के सीधे नियुक्ति पत्र देने का वादा किया। एक-एक से 70-80 हजार लिए, लेकिन किसी की नौकरी नहीं लगाई। रायपुर | बारहवीं और ग्रेजुएट पास युवाओं को मंत्रालय में नौकरी लगाने का झांसा देकर 15 लाख की ठगी करने वाले तीनों लोगों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक महिला भी शामिल है। महिला ही सभी से डील करती थी। आरोपियों ने बिना इंटरव्यू के सीधे नियुक्ति पत्र देने का वादा किया। एक-एक से 70-80 हजार लिए, लेकिन किसी की नौकरी नहीं लगाई। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); देवेंद्र नगर पुलिस के मुताबिक देवेंद्र नगर के बीबी राव (41) ने एन्क्लेव ग्रुप प्रा.लि के नाम से डेढ़ साल पहले कंपनी शुरू की थी। इसमें मंदिर हसौद के रुपेंद्र वर्मा (34) और उसकी पत्नी शालिनी वर्मा (29) काम करती थी। शालिनी एचआर हेड थी। शालिनी ही कंपनी में आने वालों से ब