flood - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: flood

वियतनाम: मूसलाधार बारिश की वजह से आई बाढ़, 13 की मौत और 400 घर तबाह

वियतनाम: मूसलाधार बारिश की वजह से आई बाढ़, 13 की मौत और 400 घर तबाह

बिना श्रेणी
हनोई (एजेंसी) | वियतनाम के 4 राज्य भीषण बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। होआ बिन्ह, येन बाई, सोन ला व लांग सोन में आई बाढ़ से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। करीब 10 लोग लापता हैं। बाढ़ की वजह से करीब 400 घर पूरी तरह तबाह हो गए हैं। सेंट्रल स्टीयरिंग कमिटी फॉर नैचुरल डिजॉस्टर प्रिवेंशन ऐंड कंट्रोल ने बताया कि 3 दिन से हो रही जबरदस्त बारिश की वजह से ये स्थिति बनी है। अगले 2 दिन भी बारिश की संभावना है। बाढ़ व भूस्खलन से अब तक 364 घर नष्ट हुए हैं और 6,523 हेक्टेयर धान व दूसरी फसलें बर्बाद हुईं हैं। इसमें 512 मवेशी व 56,367 पक्षी मारे गए व 963 हेक्टेयर एक्वाकल्चर तालाबों, 620 मीटर तटबंधों व 6174 मीटर नहरों को नुकसान पहुंचा है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
लगातार बारिश के चलते आज स्कूलों में छुट्टी, अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश

लगातार बारिश के चलते आज स्कूलों में छुट्टी, अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश

छत्तीसगढ़
लगातार बारिश को देखते हुए 28 अगस्त को जिले के सभी शासकीय और निजी स्कूलों में छुटियां घोषित कर दी है। रायपुर। जिले में लगातार हो रही बारिश और गंगरेल बांध से एक लाख क्यूसिक पानी छोड़ जाने से महानदी के तटीय इलाकों में बाढ़ की संभावना को देखते हुए रायपुर जिले के प्रभारी कलेक्टर दीपक सोनी ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों को सतर्क और मुस्तैद रहने के निर्देश जारी किए है। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); उन्होंने बारिश और नदी के जल स्तर की सतत् निगरानी करने तथा संभावित इलाकों में आपदा प्रबंधन के सभी आवश्यक उपाए सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए है। उन्होंने लगातार बारिश को देखते हुए 28 अगस्त को जिले के सभी शासकीय और निजी स्कूलों में छुटियां घोषित कर दी है। https://twitter.com/GondwanaExp/status/1034326499996839936 (adsbygoogle = window.adsbygoogle ||
ओडिशा के बांध के चार गेट खुलने से इंद्रावती और शबरी नदी उफान पर, पहली बार डूबा सुकमा, 4 हजार लोग राहत शिविरों में

ओडिशा के बांध के चार गेट खुलने से इंद्रावती और शबरी नदी उफान पर, पहली बार डूबा सुकमा, 4 हजार लोग राहत शिविरों में

छत्तीसगढ़
इंद्रावती नदी का जलस्तर हर घंटे 7 से 8 सेमी बढ़ रहा है। इसे देखते हुए लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। इधर, सुकमा में 4 हजार से अधिक लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। बाढ़ से 50 हजार हेक्टेयर की फसल तबाह हो गई है। जगदलपुर | पड़ोसी राज्य ओडिशा के खातिगुड़ा बांध के चार दरवाजे खोल देने से एक बार फिर से इंद्रावती नदी उफान पर है। इस बार इसका पानी जोरा नाला से होकर शबरी नदी में मिल रहा है। यही वजह है कि 2006 के बाद पहली बार बस्तर में बाढ़ से हालात इतने बिगड़े हैं। शबरी का जलस्तर बढ़ने से सुकमा में बाढ़ आ गई है। जगदलपुर की ओर कम पानी जा रहा है। इंद्रावती नदी का जलस्तर हर घंटे 7 से 8 सेमी बढ़ रहा है। इसे देखते हुए लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। इधर, सुकमा में 4 हजार से अधिक लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। बाढ़ से 50 हजार हेक्टेयर की फसल तबाह हो गई है।
बाढ़ से तबाह केरल के लिए पीएम मोदी ने 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की

बाढ़ से तबाह केरल के लिए पीएम मोदी ने 500 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की

india
केरल (एजेंसी) | केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है, कई इलाकों में हाहाकार है। कई दशकों बाद आई इस बाढ़ की विभीषिका ने अपना विकराल रूप दिखाया है, जिसमें अब तक 324 लोगों की मौत हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल में बाढ़ की विभीषिका की समीक्षा करने के बाद केरल को तत्काल 500 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में बताया कि मोदी ने सभी मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये की सहायता राशि और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से भी देने की घोषणा की है। कोच्चि में एक उच्च स्तरीय बैठक की समीक्षा के बाद प्रधानमंत्री ने बाढ़ से प्रभावित कुछ क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। बाढ़ की तबाही से जूझ रहे अलुवा-त्रिशुर क्षेत्र के हवाई सर्वेक्षण के दौरान प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल पी सदाश
मानवता के लिए आगे आये, बाढ़ प्रभावित केरल के लोगो की मदद करने के लिए दान करे

मानवता के लिए आगे आये, बाढ़ प्रभावित केरल के लोगो की मदद करने के लिए दान करे

india
गोंडवाना एक्सप्रेस आप सभी से अपील करता है कि आप भी केरल के लोगो की मदद के लिए आगे आये। केरल () | केरल में बाढ़ के रूप में भंयकर प्राकृतिक आपदा आई हुई है। इस बाढ़ से लाखों की ज़िंदगी प्रभावित हुई है। अबतक करीब 20 हज़ार करोड़ के नुकसान का अनुमान है। केरल को करीब 2000 करोड़ रुपये की तत्काल मदद की ज़रुरत है। केंद्र सरकार ने 500 करोड़ देने की घोषणा की है। लेकिन बाकी की राशि के लिए लोगों को भी आगे आना होगा। कई राज्यों ने अपनी ओर से मदद की पेशकश की है। लेकिन जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमारा-आपका फर्ज है कि मुसीबत की इस घड़ी में केरल के लोगों की मदद करें। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); हम थोड़ी सी मदद करके केरलवासियों को ये संदेश दे सकते हैं कि मुसीबत की इस घड़ी में केरल के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है। केरल की मुसीबत से पूरा देश लड़ेगा और उसकी मदद करेगा। केर