electricity bill - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

टैग: electricity bill

छत्तीसगढ़: बिजली बिल हाफ से बढ़ी कंपनी की आय इसका फायदा किसानों में बांटने की तैयारी

छत्तीसगढ़: बिजली बिल हाफ से बढ़ी कंपनी की आय इसका फायदा किसानों में बांटने की तैयारी

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | उपभोक्ताओं को आधी कीमत पर बिजली देने के बावजूद बिजली कंपनी की कमाई में वृद्धि हुई है। इस उपलब्धि के बाद अब कंपनी नए सत्र से किसानों को कुछ और रियायत देने की तैयारी में है। यानी किसानों को घर के साथ ही खेती के लिए भी सस्ती बिजली मिलने की संभावना है। बिजली कंपनी के चेयरमैन शैलेंद्र शुक्ला ने संकेत दिए हैं कि अाने वाले वित्तीय वर्ष में बिजली के ज्यादा उपभोक्ताओं को राहत दी जा सकती है। बिजली कंपनी ने नए टैरिफ के लिए कवायद शुरू कर दी है। इसके पहले चरण में वर्तमान वित्तीय वर्ष में आय-व्यय की समीक्षा कर 2020-21 में होने वाली कमाई और खर्चों का हिसाब किया जा रहा है। इसमें जो सबसे रोचक बात सामने आई है, वह यह है कि अप्रैल से अब तक बिजली कंपनी की कमाई में वृद्धि हुई है। सरकार ने अप्रैल महीने से उपभोक्ताओं के लिए बिजली की कीमत आधी कर दी है। इससे यह कयास लगाए जा रहे थे कि बिजली
मध्यप्रदेश: 500 लोगों से 2 करोड़ रुपए वसूलने बैंड-बाजा के साथ शहर में घूमे बिजली कर्मचारी

मध्यप्रदेश: 500 लोगों से 2 करोड़ रुपए वसूलने बैंड-बाजा के साथ शहर में घूमे बिजली कर्मचारी

मध्य प्रदेश
हरदा (एजेंसी) | शहर में बिजली का बिल जमा नहीं करने वालों से बिल जमा कराने के लिए एक अलग तरह की मुहिम शुरू की गई है। 500 से ज्यादा बकाएदारों के ऊपर बिजली कंपनी का दो करोड़ से ज्यादा का बकाया है। बिजली विभाद के कर्मचारी अब पूरे शहर में बैंड-बाजा के साथ घूम बिल जमा करने कह रहे हैं। ऐसा नहीं करने पर नाम सार्वजनिक और फिर घर के सामने बैंड-बाजा के साथ वसूली की चेतावनी दे रहे हैं। हरदा में इस मुहिम की शुरूआत गुरुवार से हो गई है। पहले जब बैंड-बाजा की लोगों ने आवाज सूनी तो समझे की कोई धार्मिक कार्यक्रम के तहत ये बज रहा है। लेकिन बैंड-बाजा के साथ चल रहे पोस्टर को पढ़ लोगों को असली माजरा समझ आया। बिजली कंपनी के कर्मचारी ढोल-नगाड़ों के साथ बाजार में निकले। उनके हाथ में एक बैनर भी था। जिस पर लिखा था कि अगर आपने अपना बकाया बिजली बिल नहीं भरा तो आपका नाम सार्वजनिक कर दिया जाएगा। इतना ही नहीं गाज
सीएम बघेल की नाराजगी के बाद बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले पर से हटाई गई राजद्रोह की धारा

सीएम बघेल की नाराजगी के बाद बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले पर से हटाई गई राजद्रोह की धारा

politics
रायपुर (एजेंसी) | राज्य में बिजली कटौती की अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज कर गिरफ्तारी होने के बाद मुख्यमंत्री बघेल ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी का पक्षधर हूं, राजद्रोह की कार्यवाही उचित नहीं है। उन्होंने शुक्रवार को सुबह ही मामले में हस्तक्षेप कर डीजीपी डीएम अवस्थी और फिर बिजली कंपनी के चेयरमैन शैलेद्र शुक्ला से चर्चा कर ये प्रकरण वापस लेने के निर्देश दिए हैं। बिना तथ्य सोशल मीडिया में अफवाह नहीं फैलाना चाहिए - सीएम बघेल सीएम बघेल ने डोंगरगांव निवासी मांगेलाल अग्रवाल के विरुद्ध दायर FIR से राजद्रोह की धारा हटाने के निर्देश दिए और कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सबको है, विचार व्यक्त करने पर राजद्रोह की कार्यवाही उचित नही। पर बिना तथ्य सोशल मीडिया में अफवाह नहीं फैलाना चाहिए। https://youtu.be/bQfQzPbIBc8 मुख्यमंत्री बघेल ने दो
मीटिंग में बत्ती गुल, कांग्रेस ने 174 कर्मचारियों को किया निलंबित

मीटिंग में बत्ती गुल, कांग्रेस ने 174 कर्मचारियों को किया निलंबित

india
इंदौर (एजेन्सी) | खबर मध्यप्रदेश के इंदौर जिले की है जहाँ कांग्रेस की मीटिंग के दौरान आधा घंटा बिजली गुल होने पर 174 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। मंत्री के नाराजगी के बाद कार्रवाई की गई है। जिनपर गाज गिरी है उनमें 83 इंजीनियर के साथ 91 कर्मचारी शामिल हैं। मंत्री जीतू पटवारी के गुस्से के बाद एक्शन लिया गया। मीटिंग के दौरान बिजली गुल हुई लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर गांधी भवन में प्रदेश कांग्रेस की बैठक चल रही थी तभी अचानक बिजली गुल हो गई। मीटिंग फिर भी जारी रही। लेकिन जब आधा घंटा बीत जाने के बाद भी बिजली नहीं आई तो मंत्री जीतू पटवारी ने सीधे सीएमडी को फोन लगाया और पूछा कि आखिर बिजली कैसे गुल हो रही है। अफसर ने जवाब दिया कि एक फेस जाने के कारण ऐसा हुआ है। इस बिजली गुल प्रकरण को अफसरों ने भी गंभीरता से लिया और एक इंजीनियर को निलंबित कर दिया। जिन कर्मचारियों को निल
नियमित बिल देने वाले 25% उपभोक्ताओं को मार्च में नहीं मिला बिल हाॅफ का लाभ

नियमित बिल देने वाले 25% उपभोक्ताओं को मार्च में नहीं मिला बिल हाॅफ का लाभ

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | छग स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (सीएसपीडीसीएल) ने बिजली उपभोक्ताओं के साथ छल कर दिया है। नियमित भुगतान करने के बाद भी जिले के 25 फीसदी घरेलू उपभोक्ताओं (वे उपभोक्ता जो महीने में 400 यूनिट तक एनर्जी खर्च करते हैं) को मार्च में बिल हाफ का फायदा नहीं मिल पाया है। इससे उपभोक्ताओं में कंपनी के प्रति खासी नाराजगी देखी जा रही है। बिल हाफ का लाभ नहीं मिलने के कारण उपभोक्ता दौड़े भागे कंपनी दफ्तर पहुंच रहे हैं लेकिन दफ्तर में कोई सुनवाई नहीं हो रही है। मंगलवार को धमेंद्र कुमार शिकायत लेकर कैलाश नगर स्थित कंपनी दफ्तर पहुंचे। धर्मेंन्द्र को 96 यूनिट खर्च के आधार पर मार्च का बिल भेजा गया है। उनके सवाल पर पूछताछ काउंटर पर बैठे कर्मचारी ने कहा कि धर्मेन्द्र ने फरवरी का बिल 3 मार्च को जमा किया है, इसलिए उन्हें हाफ का लाभ नहीं दिया गया। अगले महीने से स्कीम का फायदा मिलेग
400 यूनिट तक का बिल होगा हाफ, प्रति यूनिट 2.75 रु. की दर से लिया जाएगा बिल

400 यूनिट तक का बिल होगा हाफ, प्रति यूनिट 2.75 रु. की दर से लिया जाएगा बिल

छत्तीसगढ़
रायपुर (एजेंसी) | राज्य सरकार नए साल का बड़ा तोहफा देने जा रही है। ऊर्जा विभाग ने हर महीने 500 यूनिट तक बिजली जलाने वाले उपभोक्ताओं के बिल आधा करने का प्रस्ताव तैयार किया है। साल के पहले दिन एक जनवरी को होने वाली  कैबिनेट की बैठक में प्रस्ताव पेश किया गया। इसमें एक ही शर्त रखी गई है कि 500 यूनिट तक के बिल ही हाफ होंगे। इसके उपर की खपत पर पूरा बिल देना होगा। कांग्रेस ने ‘कर्ज माफ- बिजली बिल हाफ’ के नारे के साथ घोषणा पत्र जारी किया था मुख्यमंत्री भूपेश बघेल धान खरीदी की दर 2500 रुपए और किसानों की कर्जमाफी के बाद लोकसभा चुनावों से पहले बिजली बिल हाफ करने पर जुट गए हैं। सूत्रों के मुताबिक वितरण कंपनी का अनुमान है कि इस पर करीब 1500 करोड़ का अतिरिक्त वित्तीय भार आएगा। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); कंपनी ने घरेलू उपभोक्ताओं के तीन स्लैब बनाए हैं। इसमें