कलेक्टर जनदर्शन में नक्सल हिंसा पीड़ित महिला को मिली नौकरी

सुकमा (एजेंसी) | नक्सल हिंसा पीड़ित मानपुर तहसील के ग्राम शारदा की महिला के लिए कलेक्टर जनदर्शन खुशियों की सौगात लेकर आया। शारदा निवासी कांता बाई मंडावी जनदर्शन में अपनी बच्ची के साथ नक्सल हिंसा पीडि़त सहायता योजना के तहत सहायता के लिए आवेदन देने आई थी, लेकिन उन्हें शासकीय नौकरी का आदेश मिल गया।

कलेक्टर भीम सिंह ने कांता मंडावी को कार्यालय कलेक्टर आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा जारी यह आदेश सौंपा। विभाग द्वारा श्रीमती कांता की नियुक्ति आकस्मिकता स्थापना (भृत्य) के पद पर प्री-मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास रेंगाकठेरा विकासखंड मोहला में की गई है। कलेक्टर सिंह ने कांता बाई से उनके घर-परिवार और बच्चों की पढ़ाई लिखाई के बारे में चर्चा की। कलेक्टर ने उनके साथ आई उनकी बच्ची को निष्ठा योजना में आवासीय विद्यालय में दाखिला कराने निर्देश अधिकारियों को दिए।

पीड़ित को नियुक्ति आदेश मिलने में हुए विलंब पर जताई नाराजगी: जनदर्शन में कांता बाई मंडावी के आवेदन मिलने पर आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के अधिकारियों से पूछताछ की गई। तब अधिकारियों ने नियुक्ति का आदेश 28 जनवरी 2019 को ही जारी हो जाने की जानकारी दी। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि एक सप्ताह पूर्व जारी आदेश संबंधित तक कैसे नहीं पहुंचा। उन्होंने संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों को बुलाकर इस बारे में भी जानकारी ली। कलेक्टर ने ऐसे मामलों में पूरी संवेदनशीलता बरतने के निर्देश अधिकारियों को दिए। नक्सलियों ने उनके पति देश कुमार मंडावी की हत्या पिछले साल 29 अगस्त की रात को कर दी थी।

नियुक्ति आदेश देते हुए कलेक्टर।

बिजेपुर के खिलावन को मिली भृत्य पद पर नियुक्ति

कार्यालय कलेक्टर आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा ग्राम बिजेपार थाना छुरिया के नक्सल हिंसा पीड़ित परिवार के सदस्य खिलावन अरकरा को भी आकस्मिकता स्थापना (भृत्य) के पद पर नियुक्ति दी गई है। उन्हें प्री-मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास खडग़ांव विकासखंड मानपुर में नियुक्त किया गया है।

Leave a Reply