SpaceX के सीईओ बोले, “मंगल ग्रह की यात्रा पर जा सकता हूँ, लौटना मुश्किल।”

यह बात तो सब जानते हैं कि टेस्ला और स्पेस एक्स कंपनी के संस्थापक-सीईओ इलोन मस्क मंगल ग्रह पर रॉकेट भेजने की तैयारी कर रहे हैं। लेकिन पहली बार उन्होंने खुद मंगल पर जाने की बात कही है। एक डॉक्यूमेंट्री के लिए इंटरव्यू में मस्क ने कहा, ‘70% संभावना है कि मैं मंगल ग्रह पर जाऊंगा।

हाल के दिनों में कई ऐसे डेवलपमेंट हुए हैं, जिनसे यह संभव लगने लगा है। सात साल बाद मंगल ग्रह की यात्रा की जा सकती है। हालांकि, यह यात्रा एकतरफा होने के आसार अधिक हैं क्योंकि इस यात्रा में लौटना मुश्किल है।’ उन्होंने कहा कि अगर मैं मंगल पर उतरने में कामयाब रहा तो मेरा ज्यादातर समय वहां बेस बनाने और वहां की बेहद कठिन परिस्थितियों के मुताबिक खुद को ढालने में बीतेगा।




हो सकता है कि इस यात्रा के बाद मैं लौट आऊं, लेकिन इसकी संभावना बहुत कम है। मंगल की यात्रा काफी हद तक एकतरफा होगी। मस्क ने इस बात को खारिज किया कि मंगल की यात्रा अमीरों का शगल मात्र होगी। डेढ़ करोड़ रुपए में यह यात्रा की जा सकेगी।

उन्होंने कहा कि मंगल पर जाने का विज्ञापन शैकलेटन के अंटार्कटिक वाले विज्ञापन जैसा हो सकता है। सर अर्नेस्ट शैकलेटन ने 1914 में टाइम्स ऑफ लंदन में विज्ञापन छपवाया था। विज्ञापन की भाषा कुछ इस प्रकार थी- ‘खतरनाक यात्रा के लिए लोग चाहिए, पैसे बहुत कम मिलेंगे, वहां सर्दी बहुत ज्यादा होगी, महीनों अंधेरा रहेगा, लगातार खतरे बने रहेंगे, सुरक्षित लौटना संदिग्ध है, अगर सुरक्षित लौट आए तो सम्मान मिलेगा।’



Leave a Reply