Chhattisgarh India

छत्तीसगढ़ के स्कूलों को पूरी तरह अनलॉक करने का विचार, 22 नवंबर को होगा फैसला

छत्तीसगढ़ में स्कूल अब पूरी तरह अनलॉक होंगे। कोरोना संक्रमण की समीक्षा के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने सभी विद्यार्थियों को एक साथ स्कूल बुलाने का प्रस्ताव तैयार किया है। इसे सरकार को भेजा जा चुका है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में 22 नवंबर को प्रस्तावित राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में इसका अंतिम फैसला होगा। अभी तक 50 % स्टूडेंट को बुलाया जा रहा था।

कोरोना संकट के समय से बंद स्कूल इस साल 2 अगस्त से खोल दिए गए थे। इनमें प्राइमरी कक्षाओं के अलावा 8वीं, 10वीं और 12वीं की कक्षाएं ही संचालित हुईं। करीब एक महीने बाद स्कूल की सभी कक्षाएं विद्यार्थियों के लिए खोल दी गईं। शर्त यह थी कि स्कूल खोलने से पहले पालकों और स्थानीय निकाय प्रतिनिधियों से सहमति लेनी हाेगी। कक्षाओं में एक दिन में कुल दर्ज संख्या के 50% यानी आधे बच्चों को ही बुलाया जाता है। अब स्कूल शिक्षा विभाग सभी को एक साथ बुलाने की तैयारी में है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया, कोरोना के केस कम है इसलिए पूरे 100% की उपस्थिति में स्कूल खुलेंगे इस पर विचार किया जा रहा है। 22 नवंबर को कैबिनेट की बैठक है इस बारे में चर्चा होगी। उसके बाद उस पर फैसला लिया जाएगा। स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा, कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए स्कूल खोले जाएंगे।