Chhattisgarh

2 दिवसीय प्रवास पर छत्तीसगढ़ आ रहे है RSS प्रमुख मोहन भागवत

आरएसएस प्रमुख डॉ. मोहन भागवत 15 व 16 अगस्त को राजधानी प्रवास पर रहेंगे। उनसे छत्तीसगढ़ व महाकौशल प्रांत टोली के पदाधिकारी ही मिल पाएंगे। कोरोना की वजह से फुल हाउस मीटिंग नहीं होगी। यानी भाजपा समेत अन्य आनुषांगिक संगठनों को नहीं बुलाया जाएगा। हालांकि छत्तीसगढ़ में संघ की आगामी रणनीति पर चर्चा होगी।

इसमें भाजपा को संगठनात्मक रूप से मजबूती देने पर भी बात होगी। चर्चा है कि भाजपा में खेमेबाजी को दूर करने के लिए संगठन महामंत्री को बदला जा सकता है। हालांकि संघ के पदाधिकारी अभी ऐसी किसी बात से इंकार कर रहे हैं। भागवत 15 अगस्त की शाम को रायपुर पहुंचेंगे।

जागृति मंडल या रोहिणीपुरम स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में 16 अगस्त को पूरे दिन छत्तीसगढ़ व महाकौशल प्रांत की बैठक होगी। इसमें प्रांत प्रचारक, प्रांत कार्यवाह, सह कार्यवाह आदि अपनी रिपोर्ट देंगे। जो लक्ष्य तय किए गए थे, उसकी रिपोर्ट देने के अलावा भविष्य के कार्यक्रम तय किए जाएंगे। हाल ही में राज्य सरकार ने गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गोबर खरीदी शुरू की है।

आरएसएस इससे पूरी तरह सहमत नहीं है। इसकी कमियों को सामने लाने के लिए आरएसएस द्वारा अभियान शुरू किया जा सकता है। इसी कड़ी में भाजपा के भविष्य को लेकर भी रणनीति पर बात की जाएगी। दरअसल, राज्य में 15 साल की सत्ता के बाद विपक्ष में बैठी भाजपा में खेमेबाजी के कारण काफी गिरावट आई है।

Leave a Reply