कृषि मंत्री रविंद्र चौबे बोले, ‘बीज खराब होने पर कंपनियों के खिलाफ होगी एफआईआर’

रायपुर (एजेंसी) | कृृषि एवं जलसंसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने महानदी भवन में विभागीय योजनाओं  की समीक्षा बैठक में कहा कि बीज उत्पादक कंपनियों के बीज खराब होने पर संबंधित फर्मों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया जाएगी। कृषि योजनाओं का मैदानी क्षेत्रों में क्रियान्वयन दिखना चाहिए।




चौबे ने कृषि लागत कम करने के तौर तरीकों पर विशेष बल देते हुए कहा कि किसानों को उन्नत और प्रमाणित बीज मिलने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए। धान, दलहन, तिलहन के प्रमाणित बीजों का पूर्वानुमान कर भण्डारण सुनिश्चित किया जाए।

उन्होंने कृृषि विश्वविद्यालय के कुलपति को नए कृषि महाविद्यालय खोलने के लिए प्रस्ताव तैयार करने भी कहा। बैठक में कुलपति ने बायो टेक्नालॉजी विभाग द्वारा धान, दलहन, तिलहन एवं फलदार पौधों में किए जा रहे अनुसंधान की जानकारी दी।

मंडी बोर्ड को सब्जी उत्पादकों को बेहतर मूल्य दिलाने छोटे-छोटे हाट बाजार विकसित करने और भण्डारण के लिए गोदाम निर्माण कराने के निर्देश दिए। बैठक में एसीएस एवं  कृषि उत्पाद आयुक्त सुनील कुजूर, जल संसाधन सचिव अविनाश चम्पावत, कृषि सचिव  हेमंत पहारे, कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति जीके निर्वाणी सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।



Leave a Reply