pandariya-quarntine-center
Chhattisgarh

रायपुर : पंडरिया क्षेत्र के 30 आश्रम-छात्रावास बनेंगे क्वारेंटाईन सेंन्टर

रायपुर. छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए जारी दिशा-निर्देश के तहत अन्य राज्यों से आने वाले प्रवासी श्रमिकों के क्वारेंटीन के लिए जिलों में सेंटर बनाए जाने के निर्देश के परिपालन में कवर्धा जिले के पंडरिया अनुविभाग में 30 आश्रमों एवं छात्रावासों को क्वारेंटीन सेंटर के रूप में स्थापित किया जाएगा। इन सभी क्वारेनटाईन सेन्टरों में देश के अलग-अलग राज्यों से लॉकडाउन में फंसे श्रमिकों और अन्य नागरिकों की उनके सकुशल घर वापसी से पहले 14 अथवा 28 दिनों के क्वारेटाईन में रखा जाएगा। क्वारेंटीन सेंटर में आने वाले दूसरे प्रांतों से आने वाले हर श्रमिकों और व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा।

क्वारेंटाइन सेंटर में बाहरी और अनाधिकृत व्यक्तियों का प्रवेश रहेगा वर्जित

जिला कलेक्टर ने पण्डरिया विकासखण्ड के भ्रमण के दौरान आश्रम-छात्रावासों के अधीक्षकों की संयुक्त बैठक लेकर निर्देश दिया कि क्वांरटाईन सेन्टर में श्रमिको के लिए भोजन व्यवस्था से जुड़े लोग, व्यवस्था प्रभारी और स्वास्थ्य विभाग के अधिकृत अधिकारी-कर्मचारियों को ही प्रवेश की अनुमति होगी। इसके अलावा श्रमिकों के रिश्तेदार व उनके पहचान सहित अन्य अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने नोवेल कोरोना वायरस के नियंत्रण, रोकथाम और उनके संक्रमण के बचाव के उपायों के बारे में अधीक्षकों दिशा-निर्देश दिया कि सभी आश्रम-छात्रावासों को विशेष साफ-सफाई और फिजिकल डिस्टेंन्सिग के साथ श्रमिकों केा ठहराने की विशेष व्यवस्था कर लेेें। श्रमिकों और व्यक्तियों के लिए भोजन परोसते समय डिस्पोजल-थाली का उपयोग करें और भोजन करने के बाद पत्तल एवं गिलास को किसी सुरक्षित स्थान में गड्डा कर सुरक्षित ढंग से नष्ट करने की व्यवस्था के भी निर्देश दिए गए है।

Leave a Reply