पीडीएस योजना: 7 लाख एपीएल परिवार होंगे शामिल, रमन सिंह को राशन कार्ड देने जाएंगे टीएस सिंहदेव

रायपुर (एजेंसी) | लोकसभा चुनाव के बाद अब राज्य सरकार ने अपनी एक और घोषणा को मंजूरी दे दी है। सरकार यूनिवर्सल पीडीएस (पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन स्कीम) के तहत हर परिवार को कम से कम 35 किलो चावल देगी। वहीं एपीएल (एबव पावर्टी लाइन) के भी राशन कार्ड बनेंगे। जिससे वे भी राशन की दुकानों से 10 रुपए प्रति किलो की दर से 35 किलो तक चावल खरीद सकेंगे। इसके लिए जल्द ही एपीएल परिवारों के राशन कार्ड बनना शुरू हो जाएंगे।

रमन की देन है घोटाले – भूपेश बघेल 

सीएम बघेल ने ट्वीट कर कहा, “आपके पीडीएस का हाल प्रदेश ने देखा है और उसके घोटालों का पता पूरे देश को है रमन सिंह जी। लाखों फ़र्ज़ी राशन कार्ड से लेकर 36000 करोड़ का नान घोटाला सब आपके पीडीएस की ही देन हैं। आपकी सरकार के पतन की एक वजह ये घोटाले भी थे। इनकी बात करें तो आप बदलापुर बदलापुर चिल्लाने लगते हैं।”

दरअसल, प्रदेश में 58 लाख बीपीएल परिवार हैं। जिन्हें अभी तक प्रति सदस्य सात किलो चावल दिया जा रहा था। विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने इसे प्रत्येक परिवार 35 किलो चावल देने को सुनिश्चित करने की घोषणा की थी। जिसके तहत अब इसका क्रियान्वयन शुरू कर दिया गया है। वहीं योजना में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए 7 लाख एपीएल परिवारों के भी राशन कार्ड बनाने का निर्णय लिया गया है।

खास बात यह है कि राशन कार्ड मुद्दे पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा है कि वे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कार्ड देने के लिए खुद जाएंगे। प्रदेश में करीब 7 लाख ऐसे एपीएल परिवार हैं, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है। माना जा रहा है कि ऋणमाफी के मसले पर अलग-अलग राज्यों में भाजपा ने जिस तरीके से कांग्रेस पर आरोप लगाए थे, उसे देखते हुए कांग्रेस ये कदम उठाने जा रही है।

Leave a Reply