Politics

बजट सत्र: स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा- नसबंदी कांड में हुई थी लापरवाही, दो ड्रग इंस्पेक्टर सस्पेंड

रायपुर | छह साल पहले बिलासपुर जिले के पेंडारी नसबंदी शिविर में 83 महिलाओं के बीमार होने और 13 महिलाओं की मौत मामले में सरकार को सत्ता पक्ष के ही विधायकों ने ऐसा घेरा कि मंत्रियों को जवाब देना मुश्किल हो गया था। इस मामले पर बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय और तखतपुर विधायक रश्मि आशीष सिंह ने ध्यानाकर्षण प्रस्तुत किया था।

शैलेष पांडेय ने कहा कि एक ऐसा मुद्दा, जिसमें तेरह महिलाओं की मौत हुई, उसमें दोषियों पर कार्रवाई नहीं होना और असली आरापियों को बचाने की कवायद करना दुर्भाग्यजनक है। विधायक रश्मि आशीष सिंह ने कहा कि इस मामले को लेकर कांग्रेस ने न्याय यात्रा निकाली थी, लेकिन कितने अफसोस की बात है कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में ही इस मामले पर कार्रवाई नहीं हो रही है।

इस मसले पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने तैयार जवाब दिया कि नसबंदी के दौरान हुई महिलाओं की मौत के मामले में चालान जमा करने में लापरवाही हुई थी। रिपोर्ट आने के बाद भी जमा नहीं किया गया। मैं इस मामले में राजेश क्षत्री सहायक औषधी निरीक्षक और धर्मवीर ध्रुव औषधी निरीक्षक को निलंबित किए जाने की घोषणा करता हूँ।

Leave a Reply