Uncategorized

श्री राम जन्मभूमि मंदिर की खुशी में राममय हुआ छत्तीसगढ़, दूधाधारी मठ, राम मंदिर में शाम से आस्था की जगमग, बारिश के बाद भी उत्साह

उत्तर प्रदेश की अयोध्या नगरी में भगवान राम के मंदिर का भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। इसका उत्साह छत्तीसगढ़ के कई शहरों में देखने को मिला। रायपुर के वीआईपी रोड स्थित राम मंदिर में दिन भर कई तरह के कार्यक्रम हो रहे हैं। जिस वक्त पीएम ने अयोध्या में पूजा की, उसी दौरान पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने परिवार के साथ वीआईपी रोड के राम मंदिर में पूजा की। शहर के फूल चौक स्थित हनुमान मंदिर को गुब्बारों से सजाया गया। प्राचीन राम मंदिर दूधाधारी मठ में भी विशेष पूजा हुई।

रायपुर में मंदिरों में हुआ सुन्दरकाण्ड

राजधानी में बुधवार को शाम 6 बजे से ही मंदिर आस्था और उत्साह की रोशनी से जगमगाने लगे। शाम 7 बजे शुरू हुई बारिश ने लोगों के उत्साह को कुछ देर के लिए रोका जरूर, लेकिन जैसे ही बारिश हल्की हुई, आस्था के दीप जगमगा उठे। मौसम विभाग ने एक दिन पहले ही राजधानी समेत प्रदेश के कई जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी के साथ यलो अलर्ट जारी किया था। शाम को राजधानी में ही डेढ़ घंटे में एक सेमी से ज्यादा पानी बरस गया। मौसम विभाग ने रायपुर संभाग के बड़े हिस्से में गुरुवार को भी कहीं-कहीं भारी बारिश के आसार जताए हैं। राजधानी में बुधवार को दोपहर को तापमान 32 डिग्री से ऊपर रहा, इसलिए उमस महसूस की गई। हालांकि शाम 6 बजे से गहरे बादल नजर आने लगे। करीब पौने 7 बजे से पूरे शहर और आउटर में बारिश शुरू हुई।

5 सौ साल के संघर्ष के बाद अयोध्या में बुधवार को भव्य मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास हुआ। इसकी खुशी में दूधाधारी मठ ने अपनी 500 साल पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए उत्सव मनाया। अब तक साल में सिर्फ 2 बार रामनवमी और जन्माष्टमी पर ही राघवेंद्र सरकार यानी रामजी का स्वर्ण शृंगार होता रहा है, लेकिन भूमिपूजन की खुशी में श्रीरामचंद्र और माता जानकी समेत लक्ष्मण का स्वर्ण शृंगार कर मठ में दिनभर रामनाम का जाप किया गया। इधर, घर-घर में लोगों ने भगवा ध्वज फहराकर मंदिर निर्माण की खुशी मनाई। उधर अयोध्या में भूमिपूजन कार्यक्रम शुरू हुआ, इधर शहर में जगह-जगह पटाखे फोड़े गए। मंदिरों में आरती हुई। घरों व मंदिरों में रामायण, सुंदरकांड, हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। शाम को घरों, दुकानों के सामने दीये जलाकर दिवाली मनाई। दीयों की रोशनी से शहर जगमगा उठा।

मंगलवार को राजधानी में एक लाख दीया बांटने के बाद उपाध्याय ने बुधवार को दिन भर कई कार्यक्रम आयोजित करवाए। उन्होंने बताया कि सुबह दूधाधारी मठ में महंत रामसुंदर दास की मौजूदगी में भजन का आयोजन किया गया। इसके बाद भजन सम्राट दिलीप षड़ंगी द्वारा रचित भगवान राम की महिमा का बखान करते हुए पेश किए गए भक्तिगीत पर उपाध्याय झूमने लगे। षडंगी ने एक दिन पहले ही संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत औैर पर्यटन मंत्री ताम्रध्वज साहू से अपने इस भक्तिगीत का विमोचन करवाया था।

पीएम नरेंद्र मोदी जब अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए भूमिपूजन कर रहे थे, तब पूर्व सीएम डॉ. रमन पत्नी वीणा सिंह, बहू व पोती के साथ राम मंदिर में आरती में शामिल हुए। उनके साथ पूर्व मंत्री राजेश मूणत भी थे। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक वे सिरगिट्टी में राम मंदिर में दर्शन किया। राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने धार्मिक अनुष्ठान किया। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने अपने घर पर धार्मिक आयोजन किया। सांसद सुनील सोनी ने चंदखुरी में माता कौशल्या के दर्शन किए। प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने डीडीनगर गोल चौक पर आतिशबाजी कर प्रसाद वितरण किया। संजय श्रीवास्तव ने घर पर सुंदरकांड का पाठ कराया। अजजा मोर्चा के अध्यक्ष रामविचार नेताम सहित अधिकांश नेताओं ने सुबह टीवी पर राम मंदिर भूमिपूजन का लाइव टेलीकास्ट देखा।

दुर्ग में महाआरती

दुर्ग में के गांधी चौक स्थित राम सीता मंदिर में सुबह से ही चहल-पहल का माहौल रहा। अयोध्या के भूमि पूजन के साथ ही यहां भी भगवान राम की महा आरती की गई। मंदिर में शहर के लोग भी पहुंचे और जय श्री राम के नारों के साथ जयकारे लगाए गए। दुर्ग शहर के अलावा भिलाई के रिहायशी इलाकों में भी लोगों में राम मंदिर भूमि पूजन का उत्साह दिखा। कुछ एक जगहों पर लोगों ने पटाखे भी जलाए।

जगदलपुर में हर घर लगे भगवा झंडे

बस्तर संभाग में भी भगवान राम के भक्तों का उत्साह देखने को मिला। जगदलपुर शहर में कार, बाइक और घरों में भगवा झंडे लगे नजर आए। पनारा पारा स्थित राम मंदिर में जुटे लोगों ने सैकड़ों दिए जलाए। यह इस इलाके का पुराना मंदिर है। रिहायशी इलाकों में महिलाओं और बच्चों ने रंगोली भी बनाई। भगवान राम की 6 फिट के आकर की रंगोली सजाकर अयोध्या में बन रहे राम मंदिर की खुशियां मनाईं।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply