Chhattisgarh

नमक पर अपवाह: सरकार ने कहा- पर्याप्त स्टॉक है फिर भी लोग बढ़े दामों पर नमक खरीद रहे है

रायपुर | अब दो महीने तक नमक नहीं मिलेगा… बाजार में नमक नहीं आएगा…यह अफवाह लोग दिन भर सुनते रहे और खुद दूसरे लोगों को बताते रहे। देखते ही देखते प्रदेश के लगभग हर प्रमुख जिले में लोग सारे काम छोड़ नमक खरीदने में लग गए। बाजार में इस सुगबुगाहट की वजह से प्रशासन के अधिकारी और सरकार भी हरकत में आई।

दावा किया गया कि राज्य की राशन की दुकान और बाजार में पर्याप्त नमक है। रायपुर, राजनांदगांव, धमतरी और बालोद में दुकानों की जांच भी की गई। देर शाम तक लोग दुकानों से बढ़ी कीमतों पर नमक खरीदते रहे।

रायपुर के अधिकारियों को कहीं भी नमक ज्यादा कीमत पर बिकता नहीं मिला।

रायपुर के अधिकारियों को कहीं भी नमक ज्यादा कीमत पर बिकता नहीं मिला।

कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन के निर्देश पर नमक डीलर्स के संस्थानों की जांच की गई। जिले के खाद्य और नापतौल विभाग के अफसरों की टीम बाजार में निकली। डूमरतराई , गुढ़ियारी ,गोलबाजार, लाखे नगर ,पुरानी बस्ती इलाके में दुकानों की जांच की गई। खाद्य नियंत्रक अनुराग भदौरिया ने बताया कि 19 व्यापारियों के दुकानों की जांच की गई।

व्यापारियों के पास ज्यादा कीमत पर नमक बेचने या ज्यादा स्टॉक किए जाने जैसी कोई बात सामने नहीं आई। हालांकि बोरियाखुर्द और टाटीबंध इलाके में कई दुकानदारों के पास देर शाम तक लोगों की भीड़ नमक खरीदने आई। 50 रुपए प्रति पैकेट की दर पर चौरसिया कॉलोनी, गुढ़ियारी की छोटी दुकानों पर नमक बेचे जाने की चर्चा रही।

सरकार ने कहा

नमक के हंगामे पर सरकार की तरफ से जवाब आया कि राज्य के लगभग 56 लाख राशनकार्ड धारियों को शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से नमक मुफ्त दिया जा रहा है। प्राइस मॉनिटरिंग सेल बाजार में मिलने वाले नमक के स्टॉक और कीमत की जांच कर रही है।  खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में खुले बाजार में लगभग 8 हजार टन से 10 हजार टन के की तादाद में हर महीने नमक आता है। अधिकारी निगरानी कर रहे हैं। लोगों को अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

Leave a Reply