Chhattisgarh

मेडिकल एजुकेशन के डायरेक्टर डॉ. आदिले पर दुष्कर्म का आरोप, पद से हटाया गया; साथ ही दवा खरीद में गडबड़ी का भी आरोप

दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के मेडिकल एजुकेशन डायरेक्टर डॉ. एसएल आदिले को राज्य सरकार ने उनके पद से हटा दिया है। अनुसूचित वर्ग की युवती से दुष्कर्म के साथ ही उनके ऊपर दवा खरीद में 95 लाख रुपए की गड़बड़ी करने का भी आरोप है। उनको पद से हटाने के निर्देश स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिए हैं।

महिला थाने को सौंपी गई है दुष्कर्म मामले की जांच

इससे पहले युवती ने इसकी दुष्कर्म की लिखित शिकायत पुलिस उच्चाधिकारियों को दी थी। मामला जांच के लिए महिला थाने को भेजा गया है। कांकेर निवासी युवती रायपुर स्थित डीकेएस अस्पताल में कार्यरत है। युवती का आरोप है कि साल 2017 में वह परीक्षा देने के लिए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज गई थी। तब कॉलेज के तत्कालीन डीन डॉ. आदिले से उसका परिचय हुआ।

रायपुर आकर रिजल्ट के बारे में पूछा तो अपने घर ले गए

युवती का कहना है कि उसने नौकरी के लिए डॉ. आदिले से मदद मांगी और फिर बातचीत शुरू हो गई। जनवरी 2018 को किसी काम से रायपुर आई थी। यहां रिजल्ट को लेकर डॉ. आदिले से संपर्क किया। आरोप है कि इसके बाद डॉ. आदिले स्कूटी उससे मिलने पहुंच गया और नौकरी के संबंध में बातचीत करनी है कहकर घर ले गया। वहां धमकी देकर उससे दुष्कर्म किया।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा- अभियोजन की अनुमति दी गई

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा डॉ. आदिले का चार्ज दूसरे को देने को कहा है। उनके खिलाफ कई शिकायतें सामने आई है। इसमें अभियोजन के लिए विधि विभाग से पत्र आया था, उसमें अनुमति दे दी गई है। डॉ. आदिले के खिलाफ खरीदी बिक्री में 95 लाख को गड़बड़ी जांच में सामने आई है, उसके बाद आज एक और मामला आ गया है। इस तरह शिकायत आने के कारण उन्हें मुक्त करने को कहा था।

Leave a Reply