Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य: एम्स की ओपीडी कल से फिर शुरू, हर दिन 10 नए मरीजों को मिलेगा परामर्श

रायपुर | काेराेना काल में पटरी पर लौटती जिंदगी के बीच अब छत्तीसगढ़ में लोगों को कुछ और सुविधाएं दी गई हैं। रायपुर स्थित एम्स 27 जून से अपनी ओपीडी सेवाएं शुरू कर रहा है। हालांकि यह सीमित तौर पर ही अभी उपलब्ध होंगी। सुपरस्पेशयलिटी और अन्य विभागों में मरीजों की संख्या भी तय कर दी गई है। वहीं ओपीडी सेवाएं सुबह 9 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक चलेंगी। इसके लिए मरीजों को पहले से ही ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा।

रोगी अपने साथ ला सकेंगे सिर्फ एक परिजन, मास्क अनिवार्य

  • पहले चरण में ब्रॉड स्पेशियल्टी विभाग के लिए प्रतिदिन 30 रोगियों को परामर्श दिया जाएगा। इसमें 20 नियमित रोगी और 10 नए रोगी होंगे।
  • सुपर स्पेशियल्टी विभागों के लिए रोगियों की संख्या 15 होगी। इसमें 10 नियमित और पांच नए रोगी शामिल होंगे।
  • पहली बार जांच के लिए आने वाले रोगियों को https://ors.gov.in/index.html पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके साथ ही ओआरएस एप के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकेगा।
  • रोगी को एक ही परिजन साथ लाने की अनुमति होगी। ओपीडी में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखना होगा। मास्क का प्रयोग अनिवार्य होगा।
  • आने वाले सभी रोगियों की स्क्रिनिंग भी की जाएगी। टेलीमेडिसिन के माध्यम से रोगियों को परामर्श की सुविधा पूर्व की भांति जारी रहेगी।

एक सप्ताह बाद ओपीडी सेवाओं की होगी समीक्षा

एम्स के निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि शनिवार से सिर्फ प्रथम पाली में ही अभी ओपीडी का संचालन किया जाएगा। पहले एक सप्ताह तक ओपीडी सेवाओं की समीक्षा की जाएगी। अगर प्रयास सफल होता है तो इसे नियमित कर दिया जाएगा।

अब एयरपोर्ट पर कोरोना सेफ्टी किट

फ्लाइट से यात्रा करने वाले अब रायपुर एयरपोर्ट पर कोरोना सेफ्टी किट खरीद सकेंगे। इसके लिए टर्मिनल पर काउंटर शुरू किया गया है।कांउटर से पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट यानी पीपीई किट, सैनिटाइजर, फेस शील्ड, मास्क जैसे सेफ्टी किट मिलेंगे। एयरपोर्ट डायरेक्टर राकेश सहाय ने बताया, पीपीई जैसे सेफ्टी किट के लिए लोगों को भटकना न पड़े। इसी बात को ध्यान में रखकर टर्मिनल पर काउंटर शुरू किया गया है।

सेफ्टी किट में ये है शामिल

  • पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) किट है। ये टारपॉलिन प्लास्टिक से बनती है। इसे धोने के साथ ही दोबारा इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • सेफ्टी किट में बॉडी कवर, एप्रन, हेड कवर, मास्क, सिलिकॉन गॉगल्स, ग्लव्स और शू कवर भी हाेते हैं।

Leave a Reply