छत्तीसगढ़: ओसामा और शाहरुख ने दाउद सिंह के इशारे पर लूटे दोनों पेट्रोल पंप, खुलासा - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

छत्तीसगढ़: ओसामा और शाहरुख ने दाउद सिंह के इशारे पर लूटे दोनों पेट्रोल पंप, खुलासा

रायपुर (एजेंसी) | रायपुर और बेमेतरा के पेट्रोल पंप में प्रतापगढ़ के मोहम्मद ओसामा व शाहरुख ने दाऊद सिंह के कहने पर लूटपाट की। दोनों लखनऊ जेल में बंद दाउद के लिए ही काम करते हैं। जेल में रहते हुए दाउद ने लूट की प्लानिंग की। उसके बाद ओसामा और शाहरुख को कट्‌टा व बाइक दिलवायी। उसी की गाड़ी से वे छत्तीसगढ़ आए थे। आरोपी सिलतरा में ठहरे। वहीं से वारदात के लिए निकले।

पुलिस ने आरोपियाें से पूछताछ के बाद बताया कि वे अक्टूबर में दोबारा लूटपाट की तैयारी में थे। उनकी प्लानिंग लंबा हाथ मारने की थी। उन्हें धरसींवा के पंप में मोटी रकम नहीं मिल पाई थी। इसी वजह से वे दोबारा आने की तैयारी में थे। उसके पहले ही पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।आरोपी अभी पुलिस रिमांड पर हैं।

उनसे पूछताछ की जा रही है। उनका तीसरा साथी फरार है। अब तक पूछताछ में पता चला है कि दाऊद ने उन्हें लूट करने का आइडिया दिया था। उसने कहा था कि उसका कट्‌टा अभिजीत यानी तीसरे आरोपी के पास है। उन्हें जब जरूरत पड़े, वे उससे ले सकते हैं। आरोपियों ने ऐसा ही किया। दाउद की लूटी हुई बाइक से आेसामा और शाहरुख रायपुर आए। कट्टा अभिजीत के पास रखवा था।

उन्होंने उससे कहा कि वे रायपुर पहुंचकर पहले लूट की जगह देखेंगे, उसके बाद उसे यानी अभिजीत को बुलाएंगे। रायपुर आकर वे अपने भाइयों की जगह ड्राइवरी करने लगे। वे अलग-अलग पंप में रात को डीजल डालने जाते थे। आरोपियों ने धरसींवा के पंप को लूटपाट के लिए सुरक्षित माना और अभिजीत को बुलवाया। अभिजीत जेल में बंद दाऊद का कट्टा लेकर आया। आरोपियों ने प्लानिंग के तहत पहली घटना धरसींवा में की। वहां से भागकर मंदिर हसौद में छिप गए, लेकिन वहां उन्हें ज्यादा रकम नहीं मिल पाई। मोटी रकम नहीं मिली तो तुरंत ही बेमेतरा के पंप को लूटने की तैयारी की और दूसरे दिन फिर बाइक से निकल गए।

बेमेतरा में भी आरोपी लूट के प्रयास में फेल हो गए। वहां से दुर्ग भागे। दुर्ग रेलवे स्टेशन में उन्होंने बाइक खड़ी की और ट्रेन बैठकर भाग निकले। आरोपी पुलिस की तकनीकी जांच में फंस गए। आरोपियों ने पंप कर्मी के मोबाइल का उपयोग किया, जो पुलिस के लिए अहम क्लू बना। उसी आधार पर उनका पता चला और छापा मारकर उन्हें पकड़ लिया गया। आरोपियों को धरसींवा पंप में मात्र 20 हजार मिला। दोनों ने 15 हजार रख लिया और अभिजीत को 5 हजार दिए। अभिजीत पैसे लेकर चला गया। तब से वह गायब है। वह पहले भी जेल जा चुका है।

RO No - 11069/ 17
CM Bhupesh Bhagel Mandi ko Maar

Leave a Reply