Chhattisgarh

‘मुनगा’ पौधरोपण महाअभियान: राज्य में एक ही दिन में लगाए गए मुनगा के 3 लाख से अधिक पौधे

रायपुर | छत्तीसगढ़ में पौष्टिक तथा औषधीय गुणों से भरपूर ‘मुनगा’ के पौधरोपण महाअभियान के तहत 6 जुलाई को एक ही दिन में 33 हजार 746 स्कूल, आंगनबाड़ी तथा आश्रम-छात्रावासों के परिसरों में 3 लाख 15 हजार 120 पौधों का रोपण किया गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कुपोषण मुक्त छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करने वन मंत्री मोहम्मद अकबर के मार्गदर्शन में वन विभाग द्वारा राज्य भर में चलाए गए इस महाअभियान में शासन-प्रशासन के साथ-साथ लोगों का अभूतपूर्व उत्साह दिखा और कार्यक्रम को सफल बनाने में सबकी महत्वपूर्ण भागीदारी रही।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी ने बताया कि इन संस्थानों में से सबसे अधिक 14 हजार 523 स्कूलों में 91 हजार 167 मुनगा के पौधे रोपे गए। इसी तरह 12 हजार 696 आंगनबाड़ी केन्द्रों में 73 हजार 148 मुनगा के पौधे, 2 हजार 797 आश्रम-छात्रावासों में 25 हजार 175 मुनगा के पौधे तथा 3 हजार 730 अन्य शासकीय संस्थानों में एक लाख 5 हजार 430 मुनगा के पौधे का रोपण किया गया। इनमें दुर्ग वन वृत्त के अंतर्गत दुर्ग, बालोद, राजनांदगांव, खैरागढ़, तथा कवर्धा वन मंडलों के 8 हजार 119 संस्थानों में सबसे अधिक 94 हजार 426 मुनगा के पौधे रोपे गए। गत छह जुलाई को दुर्ग वन वृत्त अंतर्गत मुनगा के पौधे रोपित किए गए संस्थानों में 2 हजार 813 स्कूल, 2 हजार 148 आंगनबाड़ी केन्द्र, 3 हजार 822 अन्य संस्थान तथा 136 आश्रम-छात्रावास शामिल हैं।

इसी तरह बिलासपुर वन वृत्त के अंतर्गत बिलासपुर, मरवाही, कोरबा, कटघोरा, रायगढ़, धरमजयगढ़, जांजगीर-चांपा तथा मुंगेली वन मंडलों के छह हजार 383 संस्थानों में 77 हजार 509 मुनगा के पौधे का रोपण किया गया। इनमें मुनगा के पौधे रोपित किए गए संस्थानों में 3 हजार 751 स्कूल, 2 हजार 8 आंगनबाड़ी केन्द्र, 225 आश्रम-छात्रावास तथा 399 अन्य संस्थान शामिल हैं। सरगुजा वन वृत्त के अंतर्गत सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया, मनेन्द्रगढ़ तथा जशपुर वन मंडलों के 3 हजार 913 संस्थानों में 40 हजार 813 मुनगा के पौधे रोपे गए। इनमें मुनगा के पौधे रोपित किए गए संस्थानों में 2 हजार 77 आंगनबाड़ी केन्द्र 166 स्कूल, एक हजार 582 आश्रम-छात्रावास तथा 88 अन्य संस्थान शामिल हैं।

इसी तरह जगदलपुर वन वृत्त के अंतर्गत बस्तर, दंतेवाड़ा, सुकमा तथा बीजापुर वन मंडलों के 8 हजार 63 संस्थानों में 34 हजार 546 मुनगा के पौधों का रोपण किया गया। इनमें 3 हजार 691 आंगनबाड़ी केन्द्र, 3 हजार 629 स्कूल, 539 आश्रम-छात्रावास तथा 204 अन्य संस्थान शामिल हैं। कांकेर वन वृत्त के अंतर्गत कांकेर, पूर्व भानुप्रतापपुर, पश्चिम भानुप्रतापपुर, नारायणपुर, केशकाल तथा दक्षिण कोण्डागांव वन मंडलों के 3 हजार 159 संस्थानों में 24 हजार 926 मुनगा के पौधे रोपे गए।

इनमें एक हजार 952 स्कूल, एक हजार 19 आंगनबाड़ी केन्द्र 171 आश्रम-छात्रावास तथा 17 अन्य संस्थान शामिल हैं। रायपुर वन वृत्त के अंतर्गत रायपुर, धमतरी, गरियाबंद, महासमुंद तथा बलौदाबाजार वन मंडलों के 4 हजार 109 संस्थानों में 22 हजार 700 मुनगा के पौधों का रोपण किया गया। इनमें 2 हजार 212 स्कूल, एक हजार 753 आंगनबाड़ी केन्द्र, 144 आश्रम-छात्रावास शामिल हैं।

Leave a Reply