Chhattisgarh

देशभर में 16 करोड़ लोग शराब पीते हैं; छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा 35 प्रतिशत से ऊपर 

नई दिल्ली (एजेंसी) | एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि देश में शराब पीने वालों में से 6 करोड़ लोगों को अगर मदद मिले तो वह नशा छोड़ सकते हैं। हालांकि, सुविधाएं नहीं मिलने के कारण वह नशा नहीं छोड़ पा रहे हैं। औसतन शराब पीने वाले 181 लाेगों में से सिर्फ एक व्यक्ति को ही भर्ती होने की सुविधा मिलती है। यह खुलासा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की ओर से एम्स के सहयोग से करवाए गए सर्वे में हुआ है।

अपनी तरह के पहले सर्वे में सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश शामिल थे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने सोमवार को सर्वे रिपोर्ट जारी की। इसमें 186 जिलों के 10 साल से 75 साल तक के 4,73,569 लोग शामिल किए गए थे।

16 करोड़ लोग पीते है शराब 

इस सैंपल के आधार पर देश की पूरी आबादी के हिसाब से नतीजों का आकलन किया गया है। सर्वे टीम के प्रमुख डाॅ. अतुल ने बताया कि करीब 15% यानी 16 करोड़ लोगाें ने शराब पीने की बात मानी है। इनमें से 3 करोड़ की तो शराब आदत बन चुकी है। सर्वे में यह बात सामने आई कि नशा छुड़ाने के लिए सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने के कारण लोग चाहकर भी शराब नहीं छोड़ पा रहे।

छत्तीसगढ़ के लोग सबसे अधिक पीते है शराब

रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ के लोग सबसे अधिक शराब पीते हैं। यहां करीब 35% से अधिक लोग शराब पीते हैं। शराब पीने में दूसरे नंबर पर त्रिपुरा और तीसरे नंबर पर पंजाब के लोग हैं। शराब के अलावा कई ऐसे केमिकल भी हैं, जिन्हें सूंघकर नशा किया जाता है। रिपोर्ट में यह इकलौता नशा है, जिसके आदी बड़ाें की तुलना में बच्चे अधिक मिले। कुल 0.70% ऐसा नशा करने वाले हैं।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply