विधानसभा मानसून सत्र: स्कूलों में बच्चों को अंडा वितरण को लेकर विधानसभा में हुआ जमकर हंगामा - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo
Gondwana Express banner

विधानसभा मानसून सत्र: स्कूलों में बच्चों को अंडा वितरण को लेकर विधानसभा में हुआ जमकर हंगामा

रायपुर (एजेंसी) | विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे दिन सोमवार को एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ। स्कूली बच्चों को अंडा वितरण से लेकर शराबबंदी को लेकर विपक्ष ने सरकार पर जोरदार हमला बोला। आरोप लगाया कि सरकार खुद शराब को बढ़ावा दे रही है। पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने के लिए अब प्लास्टिक की बोतलों में शराब परोसने की नीति पर काम किया जा रहा है।

वही मध्यान्ह भोजन में अंडा परोसने को लेकर कहा कि आज स्कूलों में अंडा खाने को दिया जा रहा है, कल कहेंगे बीफ खाओ। वहीं सड़क गुणवत्ता, राजस्व नुकसान, मनरेगा के बकाये को लेकर सरकार अपने ही विधायकों के निशाने पर भी रही।

वर्ग संघर्ष की स्थिति मत बनने दीजिए, जिद से राजनीति नहीं होती

जैसा अंदेशा था, वहीं हुआ। सत्र की शुरुआत से ही सरकार पर हमलावर हुआ विपक्ष ने दूसरे दिन भी इसे बरकरार रखा। जेसीसीजे विधायक धर्मजीत सिंह ने सदन में शून्यकाल के दौरान अंडा वितरण का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों को अंडा दिया जाना जरूरी नहीं है। वर्ग संघर्ष की स्थिति मत बनने दीजिए,  जिद से राजनीति नहीं होती। ये कबीर और गुरु घासीदास की धरती है, इसेको बचाना चाहिए। सरकार आज अंडा खाने कह रही है कल को बीफ खाने का निर्देश जारी कर देगी।

कांग्रेस का जवाब जिन्हे अंडा नहीं खाना उनके लिए दूध का विकल्प है 

इस पर कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि सरकार ने अंडे का विकल्प रखा है। जिन्हें अंडा नहीं खाना है, उनके लिए दूध की व्यवस्था की गई है। विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा कि चुनाव में जाते हो तो कबीरपंथी समाज के सामने घुटने टेकते हो और अब जब अंडा देने का समाज विरोध कर रहा है, तो आंखें दिखाई जा रही हैं। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि राज्य में 35 लाख कबीरपंथी निवासरत हैं। समाज की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए उनकी मांगों को सुना जाना चाहिए।

शराबबंदी नहीं करनी है तो खुलेआम बिकवाओ

मंत्री के जवाब ने असंतुष्ट धर्मजीत सिंह ने कहा कि शराब बंदी नहीं करनी है तो खुलेआम बिकवाओ। शंकरनगर चौक पर मुख्यमंत्री का होर्डिंग लगा है जिसमें प्लास्टिक हटाने का जिक्र है, लेकिन सरकार खुद प्लास्टिक की बोतल में शराब बेचकर कचरा बढ़ा रही है। चखना दुकान खोलने के नाम पर हंगामा मचा हुआ है। इससे पहले बसपा विधायक इंदु बंजारे ने कहा कि शराब बंद करने की दिशा में सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। मंत्री अकबर ने कहा कि शराबबंदी को लेकर समिति गठित की गई है। रिपोर्ट आएगी तब शराबबंदी की जाएगी।

विधायक भीमा मंडावी की हत्या घटना नहीं, यह बड़ा षड्यंत्र

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि ये सरकार इतनी असंवेदनशील हो गई है कि हमारे बीच विधायक रहे भीमा मंडावी की पत्नी को रायपुर में आबंटित मकान में रहने से मना किया जाता है। सरकार बताए कि उनके परिजनों को कितनी सुरक्षा दी गई है। उन्होंने कहा कि भीमा मंडावी ने सुरक्षा लौटाई हो सरकार इसके प्रमाण दे दे। उन्होंने कहा कि सदन में संकल्प लेना चाहिए कि भविष्य में कोई भी सदस्य नक्सल घटना में नहीं मारा जाएगा। मुझे दुख के साथ कहना पड़ता है कि विधायक मारा जाता है और समाचार में ये पढ़ने को मिलता है कि विधायक अपनी गलती से मारा गया।

विधायकों का कराया जाए एक करोड़ रुपए का बीमा

विधायक शिवरतन शर्मा ने मीडिया रिपोर्ट के हवाले से कहा कि भीमा मंडावी की सुरक्षा में चूक की बात एक आला अधिकारी ने मानी है। उन्होंने कहा कि लैंड माइंस वहां लगाया जाता है जहां राजनेता पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में जाते हैं। मेले में भीमा मंडावी अचानक गए, तो फिर लैंड माइंस कैसे लगाया गया।  भीमा मंडावी की हत्या सिर्फ एक घटना नहीं है,  ये बड़ा षड्यंत्र है। काल डिटेल्स निकालकर इसकी उच्च स्तरीय जांच कराई जानी चाहिए।

विधायकों को एक करोड़ की बिमा होनी चाहिए 

विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि विधायकों के एक करोड़ रुपए का बीमा कराए जाने की व्यवस्था की होनी चाहिए। भीमा मंडावी के परिवार की हालत अच्छी नहीं है। परिवार को आर्थिक मदद की व्यवस्था सरकार को करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बार-बार झीरम की घटना का जिक्र किया जा रहा है। आज मैं फिर इस सदन में चुनौती दे रहा हूं कि अगर भूपेश सरकार के पास कोई सबूत है तो सरकार उनकी है, जांच करा ली जाए।

Leave a Reply