raipur rainfall news
Chhattisgarh

आज रात से राजधानी समेत 10 जिलों में लाॅकडाउन, 7 दिन तक किराना दुकानें भी बंद, 31 जुलाई तक नहीं चलेंगी बसें

रायपुर | राजधानी रायपुर में कोरोना विस्फोट के बाद प्रशासन ने 22 जुलाई यानी बुधवार से 28 जुलाई तक लाॅकडाउन घोषित किया है, जोकि मंगलवार को रात 12 बजे से शुरू हो जाएगा। पुलिस धारा 144 का पालन करवाने के लिए इससे पहले ही मंगलवार शाम से सड़कों पर उतरने की तैयारी कर रही है। इस बार का लॉकडाउन ज्यादा सख्त होगा, क्योंकि पहली बार किराना दुकानें भी नहीं खुलेंगी।

अफसरों ने साफ कर दिया कि मंगलवार को लोग जरूरत का किराना ले सकते हैं, क्योंकि इसके बाद एक हफ्ते तक किसी किराना व्यापारी को दुकान खोलने की इजाजत नहीं होगी। थोड़ी राहत यही है कि सुबह 6 से 10 बजे तक सब्जी, दूध, ब्रेड, चिकन, मटन, मछली और फल खरीद सकते हैं। लाॅकडाउन के दौरान पेट्रोल पंप और गैस सिलेंडरों की सप्लाई दोपहर 3 बजे तक रहेगी।

कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन और एसएसपी अजय यादव ने सोमवार को रेडक्रास सभाकक्ष में मीडिया को बताया कि इस बार का लॉकडाउन पहले से दोगुना सख्त होगा। केवल चुनिंदा दुकानों को ही खोलने की अनुमति दी गई है। किसी ने भी दुकान खोलने की कोशिश की तो चेतावनी दिए बिना उसे सील कर दिया जाएगा।

सवारी गाड़ियां नहीं चलेंगी

लॉकडाउन के बीच शहर में बस, टैक्सी, रिक्शा, ई-रिक्शा, ऑटो किसी भी तरह की सवारी गाड़ियां नहीं चलेंगी। इमरजेंसी के समय गाड़ी का उपयोग किया जाता है तो उस गाड़ी में सवार लोगों को अपना वैध पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही शहर से आने-जाने के लिए ई-पास जरूरी होगा।

रायपुर समेत 10 जिलों में लॉक डाउन

रायपुर : कलेक्टर एस. भारती दासन ने मंगलवार शाम संशोधित आदेश जारी किया है। इसके तहत विक्रेता सुबह 6 बजे से 9.30 बजे तक और शाम को 5 से 6:30 तक दूध बांट सकेंगे। हॉकर्स के लिए सुबह 6 से 9:30 तक छूट रहेगी। पेट्रोल-डीजल पंप, एलपीजी, सीएनजी गैस के विक्रय परिवहन और भंडारण की अनुमति सुबह 6 से दोपहर 3 बजे तक रहेगी। फल व सब्जी की दुकानें 10 बजे तक खुली रहेंगी।

बेमेतरा : बेमेतरा में सबसे लंबा 14 दिन का लॉकडाउन लगाया गया है। यह मंगलवार सुबह से शुरू हो गया है और 4 अगस्त तक रहेगा। हालांकि किराना दुकानों के खोलने की छूट शाम 4 बजे तक दी गई है। परिवहन सेवाएं बंद रहेंगी। रात 9 से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। सरकारी ऑफिस भी आम लोगों के लिए बंद रहेंगे। बिलासपुर-रायपुर को जोड़ने वाली नेशनल हाइवे के अलावा स्टेट हाइवे के करीब है होने के कारण जिले को पूरी तरह सील नहीं किया जा रहा है।

कोरबा : जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर ने नगर निगम सीमा में लॉकडाउन का निर्देश जारी किया है। लॉकडाउन की अवधि 22 जुलाई से 28 जुलाई रात 12 बजे तक होगी। अति आवश्यक सेवाओं के लिए सुबह 6 से 10 बजे तक का समय तय किया गया है।

मुंगेली : यहां भी 22 जुलाई से 28 जुलाई रात 12 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। मुंगेली, लोरमी, पथरिया तीनों विकासखंड में लॉकडाउन प्रभावी होगा। इसको लेकर कलेक्टर पीएस एल्मा ने आदेश जारी किया है।

अंबिकापुर : यहां पर पहले भी लॉकडाउन किया गया था। मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इसे बीच-बीच में बंद किया जाता है। अब लॉकडाउन 22 जुलाई की रात 12 बजे से 29 जुलाई 2020 की रात 12 बजे तक रहेगा।

बिलासपुर : 23 जुलाई से 31 जुलाई तक बिलासपुर नगर निगम, बिल्हा और बोदरी नगर पंचायत में लॉकडाउन रहेगा।

दुर्ग : जिले में 22 जुलाई की रात 12 बजे से 29 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। इस दौरान दुर्ग निगम क्षेत्र के हनोदा, धनोरा, चिखली, कोलिहापूरी, अंजोरा, खपरी व महमरा, भिलाई की खेदामरा, रिसाली की डूमरडीह व उमरपोटी, चरोदा की आंधी सहित पालिका क्षेत्र जामुल की ढ़ौर, पाटन की अमलेश्वर व सांकरा, कुम्हारी की पंचदेवरी व अकोला के साथ अहिवारा, उतई और धमधा नगर पालिका में लॉकडाउन प्रभावी रहेगा।

राजनांदगांव : जिले में 23 जुलाई की रात 12 बजे से 29 जुलाई की रात 12 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। आवश्यक वस्तुओं की दुकानें सुबह 6 से 10 बजे तक ही खुली रहेंगी।

जांजगीर-चांपा : जिले के 15 नगरीय क्षेत्रों में 24 जुलाई से लॉकडाउन लगाने की घोषणा की गई है। ये लॉकडाउन 7 दिनों तक 30 जुलाई तक लागू रहेगा। जिला कलेक्टर ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं।

दंतेवाड़ा : जिले की नगर पालिका क्षेत्र बचेली, किरंदुल, दंतेवाड़ा, गीदम, बारसूर में 22 जुलाई की रात 12 बजे से 29 जुलाई रात 12 बजे तक लॉकडाउन रहेगा। इस दौरान सीमाएं सील रहेंगी। दुकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, गोदाम, साप्ताहिक हाट-बाजार बंद रहेंगे। हालांकि सब्जी ठेले सुबह 10 बजे तक बेच सकेंगे। फल, सब्जी, दूध, ब्रेड, मटन, मछली की दुकानें सुबह 9 बजे से 2 बजे खुलेंगी। एक से अधिक व्यक्ति का घर से निकलने पर रोक रहेगी।

10 दिन पहले ही शुरू हुई थीं बसें, पहले ही सवारी का संकट था

प्रदेश में 22 जुलाई बुधवार से होने वाले लॉकडाउन के कारण रायपुर से मंगलवार सुबह से ही कोई बस नहीं छूटेगी। लॉकडाउन का पालन मंगलवार आधी रात से शुरू हो जाएगा। बस अापरेटरों का कहना है कि रायपुर में 28 जुलाई तक लॉकडाउन है, लेकिन कुछ जिलों में यह 31 जुलाई तक भी रहेगा। इसलिए बसों का परिचालन संभवत: 31 जुलाई तक रोक दिया जाएगा। करीब तीन महीने बंद रहने के बाद बसें 10 दिन पहले ही शुरू की गईं थी।

Leave a Reply