स्मृतियों के झरोखो से: जब 40 मिनट बोलना था, बगैर घड़ी देखे उतना ही बोलीं सुषमा जी - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

स्मृतियों के झरोखो से: जब 40 मिनट बोलना था, बगैर घड़ी देखे उतना ही बोलीं सुषमा जी

रायपुर (एजेंसी) | भाजपा के मीडिया से जुड़े पंकज झा याद करते हैं- क़रीब 15 वर्ष पुरानी बात होगी। मीडिया प्रशिक्षण के एक कार्यक्रम में हमलोगों को संबोधित करने सुषमा जी आईं थीं। उनके लिए 40 मिनट का समय आरक्षित था। जहां तक स्मरण है उन्हें 12.20 बजे से बोलना था। समय से आईं। अपनी स्वाभाविक भाषा में पूरे 40 मिनट बोली और उद्बोधन समाप्त करते हुए उन्होंने कहा – ‘आप सबलोग घड़ी देख लीजिए। एक बज रहा होगा। इसे भी आप सब अपने प्रशिक्षण का हिस्सा समझिए कि जितना समय आपको दिया जाए, ठीक उतने में ही आपकी पूरी बात समाप्त हो जानी चाहिये। मेरी बात समाप्त हुई। धन्यवाद।’

रमेश बैस ने स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी को याद करते हुए कहा कि मैं स्तब्ध हूं। एक सप्ताह पहले ही मैं दिल्ली जाकर उनसे घर में मिला था।उन्होंने मुझे राज्यपाल बनने की बधाई दी। मेरा उनका भाई-बहन का संबंध था। मैंने उन्हें सुषमा दीदी के अलावा कुछ नहीं कहा। जब वे रायपुर आतीं बिना मेरे घर-परिवार से मिले दिल्ली नहीं लौटतीं। विदेश मंत्री के रूप में वे ट्विटर और ई मेल के जरिए भी विदेशों में मुश्किल में फंसे भारतीयों की मदद के लिए 24 घंटे तत्पर रहतीं। सबका दिल जीतने वाली सुषमा दीदी खुद आज हारकर चली गईं।

कहा- 3 माह में दूरदर्शन केंद्र अपडेट हो जाएगा, हुआ भी ऐसा

वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने बताया- मध्यप्रदेश के जमाने में हम छत्तीसगढ़ के दूरदर्शन को अपडेट करने की मांग के साथ उनके पास गए थे। रमेश बैस उस समय उनके साथ राज्यमंत्री थे। सुषमाजी ने कहा कि तीन महीने में दूरदर्शन केंद्र अपडेट हो जाएगा और रमेश बैस उसका उद्घाटन करेंगे। हुआ भी ऐसा ही। 1990 से 93 के बीच में जब मैं मध्यप्रदेश में मंत्री था तो बहुत से कार्यक्रमों में उनके साथ शामिल होने का सौभाग्य मिला।

Leave a Reply