अंतागढ़ टेपकांड और नान घोटाले की जांच एसआईटी कर सकती है या नहीं, 14 मार्च को होगी सुनवाई - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo
Republic Day 2020

अंतागढ़ टेपकांड और नान घोटाले की जांच एसआईटी कर सकती है या नहीं, 14 मार्च को होगी सुनवाई

बिलासपुर (एजेंसी) | अंतागढ़ टेप कांड को लेकर बनाई गई एसआईटी और रायपुर के पंडरी थाने में दर्ज एफआईआर के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। इसमें एसआईटी के गठन और एफआईआर को चुनौती दी गई है। सिंगल बेंच ने नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक की जनहित याचिका पर डिवीजन बेंच और अमन सिंह की याचिका पर सिंगल बेंच द्वारा दिए गए आदेश को बरकरार रखते हुए कहा है कि एसआईटी के गठन की अधिकारिता पर निर्णय होने तक किसी के खिलाफ भी पूर्वाग्रह के तहत कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी।

वहीं, हाईकोर्ट ने जोगी की याचिका पर राज्य शासन और शिकायतकर्ता किरणमयी नायक को नोटिस जारी किया है। अब सभी याचिकाओं पर 14 मार्च को सुनवाई होगी। अंतागढ़ टेप कांड को लेकर रायपुर की पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने रायपुर के पंडरी थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। पुलिस ने उनकी शिकायत पर पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, मरवाही के पूर्व विधायक अमित जोगी, डॉ. पुनीत गुप्ता, पूर्व मंत्री राजेश मूणत और मंतूराम पवार के खिलाफ धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है।

इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने हाईकोर्ट में याचिका प्रस्तुत की है, उनकी तरफ से पैरवी करते हुए सीनियर एडवोकेट डॉ. निर्मल शुक्ला, एडवोकेट शैलेंद्र शुक्ला और अमित जोगी ने कहा है कि इस मामले में 22 जनवरी 2019 को गठित की गई एसआईटी और एफआईआर गलत है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा नान मामले में बनाई गई एसआईटी को लेकर प्रस्तुत जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को बताने के लिए कहा है कि किस नियम के तहत एसआईटी का गठन किया गया है।

साथ ही इस मुद्दे का निराकरण होने तक किसी के भी खिलाफ पूर्वाग्रह के तहत किसी तरह की कार्रवाई पर रोक लगा दी गई है। साथ ही अमन सिंह की याचिका पर सिंगल बेंच ने अंतरिम आदेश जारी किया है। जोगी की याचिका पर जस्टिस गौतम भादुरी की बेंच ने डिवीजन बेंच और सिंगल बेंच के आदेश को यथावत रखते हुए राज्य सरकार, शिकायतकर्ता किरणमयी नायक को नोटिस जारी किया है। अब 14 मार्च को सभी याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई होगी।

Leave a Reply