dial-112-raipur
Chhattisgarh

कोरोना वायरस लॉक डाउन: नियम तोड़ने वालों पर सरकार सख्त, बेवजह घूमने वाले युवक को जेल भेजा, सोशल मीडिया में अपवाह उड़ाने वालों पर हो रही है FIR

रायपुर | जनता कर्फ्यू की शहर में सफलता को देख सरकार ने देर शाम 31 मार्च तक प्रदेश में कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी। सोमवार को लोगों ने इसे गंभीरता ने नहीं लिया, अपने-अपने काम पर जाते नजर आए। हालांकि आम दिनों के मुकाबले भीड़ कम थी। शहर में टिकरापारा, संतोषी नगर, सेजबहार, पुरानी बस्ती इलाकों से होता हुआ लोगों का समूह शहर की तरफ बढ़ रहा था।

कोतवाली पुलिस की टीम कालीबाड़ी चौक पर भीड़ को शहर में जाने से रोकने के लिए पहुंची। पुलिस ने अपनी पीसीआर वैन को सड़क के बीच में खड़ा करके रास्ता रोक दिया, सभी से यू टर्न लेकर वापस जाने को कहा गया। आगे मेरा घर है, दुकान है, ऑफिस है, अस्पताल जाना है….जैसी बातें कहकर लोग आगे जाने की मिन्नतें करते रहे। अति आवश्यक होने पर ही पुलिस ने कुछ को जाने दिया बाकी लोगों को घर भेज दिया गया।

बाहर निकले तो जुर्म दर्ज

कर्फ्यू के दौरान बेवजह शहर में घूमने निकले बाइक सवार तीन युवकों के खिलाफ पुलिस ने रविवार दोपहर आदेश के उल्लंघन का केस दर्ज कर लिया है।  उन्हें बैरनबाजार के पास पुलिस ने रोका तो बहस करने लगे। भागने की कोशिश भी की, इसमें एक युवक को चोट आई है। दो युवक भाग निकले। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। कुंदरापारा का दिनेश तांड़ी घर से घूमने निकला था। पुलिस ने रोका तो उसने बच्ची के अस्पताल में होने का बहाना किया। मगर यह बात झूठ निकली। अब आरोपी को जेल भेज दिया गया है। प्रशासन की सख्ती और बढ़ने के आसार हैं।

एसपी- कलेक्टर निकले गश्त पर

रायपुर में अचानक सुबह लोग ऐसे घरों से बाहर आए मानों कुछ हुआ ही ना हो। जबकि मुख्यमंत्री ने रविवार को कर्फ्यू की घोषणा की और कलेक्टर ने भी धारा 144 का आदेश जारी किया। ऐसे में पूरा प्रशासनिक अमला सोमवार को राजधानी की सड़कों पर नजर आया। अन्य अधिकारियों के साथ एसएसपी और कलेक्टर पुलिस की गाड़ियों के लंबे काफिले के साथ निकले। लोगों को समझाकर घर भेजा गया। 31 मार्च तक राज्य में किराना, दूध, दवा, अस्पताल, नगर निगम की सफाई, बिजली और पानी की व्यवस्था को छोड़ सब कुछ बंद रहेगा।

सोशल मीडिया में अफवाह, कवर्धा में 2 को जेल, रायपुर में एफआईआर

कोरोनावायरस काे लेकर अफवाह फैलाने वालों पर अब एफआईआर दर्ज हो रही है। रायपुर में उत्कर्ष गुप्ता, वंदना राठौर सिन्हा और विजय गुप्ता ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट में लोगों को डराने की कोशिश की। कई सारे गलत और फेक पोस्ट किए। पुलिस तीनों की तलाश कर रही है। वहीं, कवर्धा में डीकेष सत्यवंशी और दुर्गेष साहू ने कोरोना संक्रमित मिलने की अफवाह फैलाई। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

कोरोना पॉजीटिव युवती के साथ विमान में बैठे दो यात्री गायब

कोरोना पॉजीटिव युवती के साथ 15 मार्च को एयर इंडिया की फ्लाइट से रायपुर आए 2 यात्री छात्ता रे देबदू और प्रभाकर राव गायब हैं। एडीएम विनीत नंदनवार ने बताया है कि दोनों युवती के साथ बैठे थे। प्रशासन ने इन दोनों से अपील की है कि वे खुद को आइसोलेशन में रखें। पुलिस और प्रशासन दोनों यात्रियों के घर पर भी गए थे, लेकिन वे नहीं मिले। इसके बाद अपील की है कि दोनों के बारे में किसी भी तरह की जानकारी मिलती है तो उसे पुलिस और प्रशासन को दें।

विदेश से लौटने वालों को लेकर निकली बस का 2 दिन से पता नहीं

विदेश से लौटने वाले छत्तीसगढ़ के 150 लोगों को लेकर आ रही बस की तलाश में पहरा बिठा दिया गया है। मैन रोड के साथ-साथ बाइपास सड़कों के नाके पर पुलिस के जवान तैनात हैं। शुक्रवार को निकली 5 बसें रविवार रात तक नहीं आई थी। महाराष्ट्र से ही झारखंड के लिए निकली बस को एंट्री करने से रोक दिया गया। बस में विदेश यात्रा से लौटे यात्री सवार थे। इन यात्रियों को आइसोलेशन में रखने की जगह जबरदस्ती रवाना कर दिया गया।

Leave a Reply